बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP
विज्ञापन
विज्ञापन
मंगलवार को इन 4 राशिवालों की पलटेगी किस्मत, जेब में आएगा पैसा
Myjyotish

मंगलवार को इन 4 राशिवालों की पलटेगी किस्मत, जेब में आएगा पैसा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

दिल्लीः ऑनलाइन क्लास न कर पाने वाले बच्चों के लिए कांस्टेबल बने सहारा, मंदिर में ले रहे क्लास

दिल्ली पुलिस का एक कांस्टेबल कोरोना काल में जरूरतमंद बच्चों के लिए मदद का बड़ा हाथ बनकर सामने आया है। कांस्टेबल ने कोरोनाकाल के दौरान गरीब और जरूरतमंद...

20 अक्टूबर 2020

विज्ञापन
Digital Edition

मास्टर प्लान 2041: सुरक्षा होगी पुख्ता, तभी दिल्ली की रातें हो सकेंगी गुलजार

दिल्लीवासियों को अब अपने रोजमर्रा की जरूरतों के लिए अलग वक्त निकालने की चिंता नहीं होगी। दफ्तर आने-जाने के दौरान भी आप अपने जरूरी काम कर सकेंगे। घूमना फिरना, मौज मस्ती या शॉपिंग, दिन हो या रात 24 घंटे दिल्ली गुलजार रहेगी। मास्टर प्लान-2041 के मसौदे में नाइट इकोनॉमी को बढ़ावा देने के लिहाज से वाणिज्यिक परिसरों को 24 घंटे खुला रखने का प्रस्ताव है। इसे अमलीजामा पहनाने से ने दिल्लीवासियों की जीवनशैली में बदलाव के साथ कारोबार में बढ़ोतरी से दिल्ली की आर्थिक सेहत में भी सुधार होगा। इसके लिए जरूरी है कि रात के वक्त सुरक्षा इंतजामों को और पुख्ता किया जाए। 

अर्थव्यवस्था को नई रफ्तार देने के लिए नाइट लाइफ को बढ़ावा देने के साथ साथ कला, संस्कृति और परंपरागत शैली से जुड़ी गतिविधियों को भी बढ़ावा दिया जाएगा। इससे पर्यटन को प्रोत्साहन मिलेगा साथ ही राजस्व में आय में बढ़ोतरी होगी। रेस्तरां, होटल और सांस्कृतिक केंद्रों के साथ साथ आउटलेट्स के पूरे हफ्ते खुले होने से न तो खरीदारी और न ही सेवाओं के लिए इंतजार करना होगा। दिल्ली की नाइट लाइफ की चुनौतियों का पड़ताल करती सर्वेश कुमार की रिपोर्ट: 

. नाइट इकोनॉमी को बढ़ावा देने की कोशिश अच्छी है। इसके लिए सबसे पहले सुरक्षा सहित मार्केट की मौजूदा सुविधाओं को और बेहतर करना होगा। फिलहाल, अगर रात के वक्त कोई महिला शॉपिंग से लौट रही हैं तो उनकी सुरक्षा की गारंटी क्या है। इसे लागू करने से पहले जरूरी है कि लोगों में डर न हो। इसे रात के 10 बजे, फिर 12 बजे तक ट्रायल के तौर पर लागू किया जाना चाहिए। रेस्तरां, होटल छोड़कर कई ऐसे आउटलेट हैं, जहां रात के वक्त ग्राहक नहीं होते हैं। 24 घंटे अगर कारोबार चलता रहा तो शिफ्ट में कर्मियों को वेतन देने सहित बिजली, पानी सहित तमाम बुनियादी सुविधाओं पर खर्च बढ़ेगा। ग्राहकों की संख्या बढ़ने पर ही इस प्रस्ताव को सही मायने में दिल्लीवासियों को फायदा मिल सकेगा। -अतुल भार्गव, अध्यक्ष, नई दिल्ली ट्रेडर्स एसोसिएशन

. मास्टर प्लान में कई प्रस्ताव ऐसे हैं जिन्हें लागू करने पर कारोबार में बढ़ोतरी की उम्मीद है। मगर, दिल्ली में इसे लागू करने के लिए जरूरी है कि सुरक्षा इंतजामों को पहले पुख्ता किया जाए। 2021 के मास्टर प्लान में थोक बाजारों को शिफ्ट करने की योजना थी, लेकिन नहीं हो सका। हां, प्रस्ताव में सड़कों पर अतिक्रमण रोकने के लिए दिया गया प्रस्ताव अच्छा है, इससे दुकानदारों के साथ साथ खरीदारों को भी राहत मिल सकेगी। रात के वक्त रेस्तरां, होटल में लोगों की मौजूदगी होती है, लेकिन सभी बुनियादी सुविधाओं को ठीक तरह से लागू किए जाने पर ही सभी दुकानें खुल सकेंगी। इसके लिए दुकान मालिकों को भी कुछ रियायत देना होगा, क्योंकि कर्मी भी तीन शिफ्ट में काम करेंगे। -संजीव मेहरा, अध्यक्ष, खान मार्केट वेलफेयर एसोसिएशन

. दिल्ली एनसीआर में रोजाना हजारों की संख्या में बहुराष्ट्रीय कंपनियों में काम करने के लिए पूरी रात आवागमन चलता है। ऐसे में रात की शिफ्ट में काम करने वालों को काफी राहत मिलेगी। अगर, दफ्तर से लौटते हुए खान पान या कोई जरूरी उत्पाद की खरीदारी जरूरी है तो आउटलेट्स के खुलने से दोबारा जाने की जरूरत नहीं होगी। 24 घंटे अगर दिल्ली खुलती है तो इससे वर्किंग क्लास को काफी राहत मिलेगी। विदेशी कंपनियों में कई बार रात की शिफ्ट में काम करने वालों को अपने खरीदारी या किसी और जरूरी काम के लिए वीकेंड का इंतजार करना पड़ता है। इसके लिए जरूरी है कि डीटीसी की बसों की तर्ज पर बाजारों में भी सुरक्षा कर्मियों की तैनाती के साथ साथ जरूरी है कि जगह जगह पुलिस के नाके हों तो महिलाएं खुद को सुरिक्षत महसूस कर सकें। -पासना रावत, विदेशी कंपनी में कार्यरत कर्मी 

. दिल्लीवासियों को बेहतर सुविधाएं मुहैया करने के लिए मास्टर प्लान में दिए गए सुझावों को अमली जामा पहनाने के लिए सुरक्षा, उत्पादों की उपलब्धता के साथ साथ मनोरंजन के लिए सांस्कृतिक गतिविधियों को भी बढ़ावा देना होगा। अगर, दफ्तर से काम करने के बाद कोई लौट रहा हो और सभी जरूरतें एक ही जगह पर किसी भी वक्त पूरी होंगी तो जिंदगी आसान होगी। अभी कई काम के लिए अगले दिन का इंतजार करना पड़ता है तो कई बार खाने पीने के लिए भी उचित सुविधा न होने से परेशानियों का सामना करना पड़ता है। रात के वक्त अगर एक से दूसरी जगह जाना हो तो भी परिवहन की सुविधा काफी कम है। -रोहित मिश्रा  

. 24 घंटे मार्केट खुली होने से लोगों की सहूलियतें बढ़ेंगी। अभी लोगों को खरीदारी के लिए भी अलग से वक्त निकालना पड़ता है। 20 साल बाद अगर बेहतर सुविधाएं मिले तो इससे जिंदगी की रफ्तार काफी बढ़ सकती है। -नविन्दर चौधरी
 
... और पढ़ें
दिल्ली के कनॉट प्लेस में घूमते युवा दिल्ली के कनॉट प्लेस में घूमते युवा

इंतजार खत्म: निजी स्कूलों में नर्सरी, केजी व पहली कक्षा में दाखिले के लिए ईडब्ल्यूएस का पहला ड्रॉ आज

निजी स्कूलों में नर्सरी, केजी, व पहली कक्षा में आर्थिक पिछड़े वर्ग व वंचित वर्ग की 25 फीसदी सीटों पर दाखिले का इंतजार खत्म होने जा रहा है। दाखिले के लिए पहला कंप्यूटराइज्ड ड्रॉ मंगलवार दोपहर तीन बजे निकाला जाएगा। इस ड्रॉ में चयनित होने वाले बच्चों को स्कूलों का आवंटन किया जाएगा। जिसके बाद दाखिला प्रक्रिया शुरु होगी। हालांकि अभी दाखिला प्रक्रिया की तिथियों को जारी नहीं किया गया है। 

शिक्षा निदेशालय ने लगभग 1700 निजी स्कूलों में इस वर्ग के दाखिले के लिए ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया की शुरूआत 7 अप्रैल से शुरू की थी। ऑनलाइन आवेदन करने के लिए पहले 20 दिन का समय दिया गया था। आवेदन प्रक्रिया 26 अप्रैल को समाप्त होनी थी। पहला कंप्यूटराइज्ड ड्रॉ 30 अप्रैल को निकाला जाना था। लेकिन कोरोना महामारी की दूसरी लहर में लगातार संक्रमण के मामलों को देखते हुए आवेदन करने की तिथि को 15 मई तक बढ़ाया गया था। इसके बाद से निजी स्कूलों में दाखिले की चाह रखने वाले अभिभावक ड्रॉ होने का इंतजार कर रहे थे। 

उल्लेखनीय है कि एक लाख वार्षिक आय से कम आय वाले ईडब्ल्यूएस के अभिभावकों के बच्चों, डीजी श्रेणी के तहत अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और पिछड़ा वर्ग (नॉन क्रीमी लेयर), अनाथ, ट्रांसजेंडर व एचआईवी प्रभावित बच्चों को 22 फीसदी सीटों पर दाखिले अवसर मिलता है। वहीं तीन फीसदी सीटों पर दिव्यांग श्रेणी के बच्चों का दाखिला होगा। 
... और पढ़ें

तीन साल पुराना मामला: जेएनयू प्रशासन ने छात्रसंघ अध्यक्ष आयशी को जारी किया कारण बताओ नोटिस, एक सप्ताह में मांगा जवाब

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय प्रशासन ने सोमवार को छात्रसंघ अध्यक्ष आयशी घोष समेत कई छात्रों को साल 2018 में किए प्रदर्शन के मामले में कारण बताओ नोटिस जारी किया है। इस नोटिस का जवाब देने के लिए आयशी को 21 जून तक समय दिया गया है। दरअसल जेएनयू प्रशासन ने पांच दिसंबर 2018 को स्कूल ऑफ सोशल साइंस के बोर्ड ऑफ स्टडीज की बैठक के दौरान छात्रों द्वारा किए गए प्रदर्शन को विवि के संविधान के खिलाफ और माना है। साथ ही उसे अनुशासनहीन करार दिया है।  

आयशी घोष को इस नोटिस का जवाब 21 जून को शाम पांच बजे तक देना है। नोटिस में लिखा है है कि वह जवाब नहीं देती हैं तो यह मान लिया जाएगा कि उनके पास अपनी सफाई में कहने के लिए कुछ नहीं है और विवि प्रशासन को उनके विरुद्ध आवश्यक कार्रवाई करेगा।

दूसरी तरफ आयशी घोष ने फेसबुक पर इस नोटिस के खिलाफ अपनी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने अपने पोस्ट में लिखा है कोरोना काल में जेएनयू में प्रशासनिक कार्य बाधित है। छात्रवृत्ति नहीं दी जा रही हैं। प्रथम वर्ष के छात्रों को छात्रावास आवंटित नहीं किया जा रहा। छात्रों को टीका नहीं लगाया गया। लेकिन चीफ प्राक्टर कार्यालय छात्रों को दंडित करने के लिए निरंतर कार्य कर रहा है।
... और पढ़ें

बुराड़ी बुजुर्ग हत्याकांड: पुलिस सुलझाई मौत की गुत्थी, लूटपाट के लिए पूर्व नौकर ने ले ली जान, हुआ गिरफ्तार

बुराड़ी इलाके में शनिवार रात बुजुर्ग महिला राजवती (65) की गला रेतकर हत्या करने की गुत्थी को पुलिस ने सुलझा लिया है। हत्या के मामले में पुलिस ने महिला के बेटे प्रमोद के पूर्व कर्मचारी शिवम उर्फ शुभम (22) को गिरफ्तार किया है। शुरुआती पूछताछ में आरोपी ने खुलासा किया है कि उसने लूटपाट का विरोध करने पर बुजुर्ग की गला रेतकर बेरहमी से हत्या कर दी। वारदात के बाद वह घर से कुछ जेवरात और कैश लेकर फरार हुआ। सबूत मिटाने की नियत से आरोपी ने घर में आग भी लगाने का प्रयास किया। पुलिस शिवम से पूछताछ कर इस बात का पता लगाने का प्रयास कर रही है कि वारदात में उसके साथ और कौन-कौन शामिल था।

उत्तरी-जिला पुलिस उपायुक्त अंटो अल्फोंस ने बताया कि शनिवार रात को बुराड़ी के कमलपुर इलाके में एक बुजुर्ग महिला की गला रेतकर हत्या की गई थी। वारदात की जानकारी महिला के बेटे प्रमोद के घर पहुंचने पर हुई थी। जांच के दौरान पुलिस को पता चला कि घर से करीब 70 हजार रुपये नगद ओर कुछ जेवरात गायब थे। आरोपी ने सबूत मिटाने के लिए घर में आग भी लगाने का प्रयास किया था। जांच के दौरान पुलिस को पता चला कि घर में आरोपी की फ्रेंड्ली एंट्री हुई है। इस आधार पर पुलिस ने मामले की जांच शुरू की। छानबीन के दौरान पता चला कि प्रमोद के पूर्व कर्मचारी शिवम का घर पर आना-जाना है। उसी दिन पुलिस आरोपी के पास पहुंची तो वह बुरी तरह नशे में था। पुलिस ने शक के आधार पर आरोपी को हिरासत में लिया। उससे पूछताछ करने पर शिवम ने राजवती की हत्या की बात कबूल कर ली।

शिवम ने बताया कि वह प्रमोद के ढाबे पर काम करता था। लॉकडाउन की वजह से वह नौकरी नहीं कर रहा था, लेकिन उसका प्रमोद के घर आना जाना था। प्रमोद ने कुछ ही समय पूर्व बुराड़ी उत्तराखंड कालोनी में अपना मकान बेचा था। इसके बाद कमलपुर में दूसरा मकान खरीदने के बाद भी उसके पास मोटी रकम बच गई थी। इसी लालच में शनिवार रात को वह महिला के घर पहुंचा। वहां विरोध करने पर उसने महिला की हत्या कर दी। बाद में घर से 70 हजार और जेवरात लूट लिए। शिवम को घर में कोई मोटी रकम नहीं मिली। दरअसल प्रमोद ने बची हुई रकम को कुछ लोगों को दे दिया था। शिवम की गिरफ्तारी के बाद पुलिस ने लूटा गया कैश और जेवरात भी बरामद कर लिया।
... और पढ़ें

धरोहर: सरकार का आदेश होगा तो एएसआई करेगा जामा मस्जिद की मरम्मत, फिलहाल जिम्मा केंद्रीय वक्फ बोर्ड के पास

सांकेतिक तस्वीर
पुरानी दिल्ली की ऐतिहासिक जामा मस्जिद के शाही इमाम सैयद अहमद बुखारी ने क्षतिग्रस्त हुई दक्षिणी मीनार की तत्काल मरम्मत कराने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को पत्र लिखा था और पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआई) से इसकी तत्काल मरम्मत करवाने की अपील की थी। 

उनकी इस अपील के बाद एएसआई ने कहा है कि यदि सरकार या प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से एएसआई को जामा मस्जिद की मरम्मत का आदेश दिया जाता है तो वह जरूर उसकी मरम्मत करेंगे। लेकिन एएसआई ने यह साफ किया कि जामा मस्जिद का संरक्षण एएसआई के पास नहीं बल्कि केंद्रीय वक्फ बोर्ड के पास है। 

पिछले सप्ताह एक के बाद दूसरी बार आई तेज आंधी तूफान में जामा मस्जिद की दक्षिणी मीनार का दो फुट लंबा ऊपरी हिस्सा गिर गया था। इसके कारण मस्जिद की फर्स भी क्षतिग्रस्त हुई है। तीन दिन पहले फिर से आई आंधी में मीनार का एक और हिस्सा क्षतिग्रस्त होकर लटक गया है, जो कि कभी भी गिर सकता है। इससे यहां पर हादसे की भी संभावना है। 

इस बात पर शाही इमाम सैयद अहमद बुखारी ने चिंता जाहिर की थी और प्रधानमंत्री को इसकी तत्काल मरम्मत करवाने के लिए पिछले सप्ताह रविवार को ही पत्र लिखा था। जामा मस्जिद केंद्रीय वक्फ बोर्ड के संरक्षण में है। इसकी मरम्मत कराने की जिम्मेदारी भी उन्हीं की है। लेकिन एएसआई ने साफ किया है कि अगर सरकार ने उनको पुरानी दिल्ली स्थित जामा मस्जिद की मरम्मत का निर्देश दिया तो वह इसकी मरम्मत जरूर करेंगे।
... और पढ़ें

कोरोना वायरस: नए प्रकार ‘डेल्टा प्लस’ का पता चला, वैज्ञानिक बोले-चिंता की कोई बात नहीं

कोरोना वायरस का अति संक्रामक ‘डेल्टा’ प्रकार उत्परिवर्तित होकर ‘डेल्टा प्लस’ या ‘एवाई.1’ बन गया है लेकिन भारत में अभी इसे लेकर चिंतित होने की कोई बात नहीं है क्योंकि देश में अब भी इसके बेहद कम मामले हैं। वैज्ञानिकों ने यह जानकारी दी।

‘डेल्टा प्लस’ प्रकार, वायरस के डेल्टा या ‘बी1.617.2’ प्रकार में उत्परिवर्तन होने से बना है जिसकी पहचान पहली बार भारत में हुई थी और यह महामारी की दूसरी लहर के लिए जिम्मेदार था। हालांकि, वायरस के नए प्रकार के कारण बीमारी कितनी घातक हो सकती है इसका अभी तक कोई संकेत नहीं मिला है, डेल्टा प्लस उस ‘मोनोक्लोनल एंटीबाडी कॉकटेल’ उपचार का रोधी है जिसे हाल ही में भारत में स्वीकृति मिली है।

दिल्ली स्थित सीएसआईआर- जिनोमिकी और समवेत जीव विज्ञान संस्थान (आईजीआईबी) में वैज्ञानिक विनोद स्कारिया ने रविवार को ट्वीट किया कि के-417 एन उत्परिवर्तन के कारण बी 1.617.2 प्रकार बना है जिसे एवाई.1 के नाम से भी जाना जाता है।



उन्होंने कहा कि यह उत्परिवर्तन सार्स सीओवी-2 के स्पाइक प्रोटीन में हुआ है जो वायरस को मानव कोशिकाओं के भीतर जाकर संक्रमित करने में सहायता करता है। स्कारिया ने ट्विटर पर लिखा, भारत में के417एन से उपजा प्रकार अभी बहुत ज्यादा नहीं है। यह सीक्वेंस ज्यादातर यूरोप, एशिया और अमेरिका से सामने आए हैं।
... और पढ़ें

पूल पार्टी: फार्म हाउस के अंदर 61 युवक-युवतियां तोड़ रहे थे सारी हदें, पुलिस पहुंची तो नजारा देख रह गई हैरान

नोएडा एक्सप्रेस वे कोतवाली क्षेत्र सेक्टर 135 स्थित फार्म हाउस पर 2 दिन के साप्ताहिक कर्फ्यू के दौरान शराब- पूल पार्टी करते हुए 61 लोग गिरफ्तार हुए हैं। जबकि फार्म हाउस मालिक समेत 16 लड़कियों के खिलाफ महामारी अधिनियम, धारा 188 और आबकारी अधिनियम के तहत रिपोर्ट दर्ज की गई है। यह लोग दिल्ली और बुलंदशहर के रहने वाले हैं और इनमें 16 लड़कियां भी शामिल है। सभी के खिलाफ एक-एक हजार रुपए का चालान भी काटा गया है। एडीसीपी रणविजय सिंह ने बताया कि ग्रेटर नोएडा निवासी एके चड्ढा का यमुना नदी के किनारे फार्म हाउस है और इसे शराब पार्टी के लिए बुक किया गया था। इस बात की सूचना पुलिस को मिली तो आबकारी विभाग को साथ लेकर फार्म हाउस पर रेड डाली गई। पुलिस के मौके पर पहुंचने पर ही पूल पार्टी कर रहे युवाओं में हड़कंप मच गया और भगदड़ मच गई लेकिन पुलिस ने सभी को चारों ओर से घेर लिया। पुलिस ने 61 लोगों को हिरासत में लिया। इनमें 16 लड़कियां और 45 लड़के मौजूद थे।
... और पढ़ें

शर्मनाक: 'सहेली' की बेटी से दो साल तक जबरन बनाए समलैंगिक संबंंध, बालिग होने पर करना चाहती थी शादी

दिल्ली के डाबड़ी इलाके में शर्मसार करने वाली एक घटना सामने आई है। एक किशोरी ने अपनी मां की सहेली पर समलैंगिक संबंध बनाकर यौन शोषण का आरोप लगाया है। महिला पर आरोप है कि किशोरी की मां का विश्वास जीतने के बाद पीड़िता को अपने घर पर रहने के बहाने बंधक बना लिया।

महिला की घिनौनी हरकत का विरोध करने पर किशोरी को धमकी दी जाती थी। अंत में किशोरी ने साहस दिखाते हुए अपने एक परिचित के जरिए पुलिस को घटना की जानकारी दी। पुलिस अप्राकृतिक यौनाचार, धमकाने और पोक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज कर आरोपी महिला को गिरफ्तार कर लिया है। महिला पर पहले से दो मामले दर्ज हैं। वह एक राजनीतिक पार्टी से जुड़ी थी, लेकिन उसे पहले ही पार्टी से निकाल दिया गया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

लंबे अरसे से आरोपी महिला को जानती है पीड़िता की मां
किशोरी ने पुलिस को दिए बयान में बताया कि उसकी मां आरोपी महिला को काफी अरसे से जानती है। महिला स्वयं सेवी संस्था चलाती थी। संस्था में किशोरी की मां नौकरी करती थी। जिसकी वजह से आरोपी का उसके घर आना जाना था।

आरोपी अक्सर राशन लेकर आती थी पीड़िता के घर
आरोपी महिला अक्सर उसके घर राशन लेकर जाती थी। इसी तरह से आरोपी महिला उसकी मां का विश्वास जीत लिया। आरोपी महिला ने उसकी मां से कहकर पीड़िता को अपने घर रहने के लिए बुला लिया, ताकि वह उसकी बेटी के साथ पढ़ाई कर सके।
... और पढ़ें

Delhi Unlock: दिल्ली में सम-विषम खत्म, आज से क्या खुलेगा और क्या अभी भी रहेगा बंद, यहां जानिए सब-कुछ

दिल्ली में घटते कोरोना संक्रमण के बीच अनलॉक की प्रक्रिया लगातार आगे बढ़ रही है। इस सप्ताह कुछ और रियायतें दी गई हैं लेकिन इस बीच ऐसा भी बहुत कुछ है जो बंद रहेगा। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रविवार को जानकारी दी कि सोमवार सुबह 5 बजे के बाद से कुछ गतिविधियों को छोड़कर सभी गतिविधियों की अनुमति है। 

दिल्ली में सोमवार यानी आज से सारी दुकानें, मॉल्स और रेस्टोरेंट खुल गए हैं। रेस्तरां, ब्यूटी पार्लर और सैलून भी खुलेंगे लेकिन स्कूल-कॉलेज, स्विमिंग पूल समेत स्पा, पार्क और गार्डन अभी बंद रहेंगे। दिल्ली में सुबह 10 से रात के आठ बजे तक दुकानों को खोलने का समय है। एक हफ्ते तक इन नियमों के साथ चलकर देखा जाएगा। अगर कोरोना के मामले बढ़ने लगे तो फिर से पाबंदियां बढ़ा दी जाएंगी। केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में कोरोना के मामले काफी कम हो चुके हैं और स्थिति अब नियंत्रण में आ गई है।

आंशिक रूप से खोलने की अनुमति
पिछले हफ्ते की तरह ही इस हफ्ते भी सरकारी दफ्तर खोले जाएंगे। ग्रुप-ए अधिकारियों की 100 फीसद उपस्थिति रहेगी और बाकी सबकी 50 फीसदी। अस्पताल और पुलिस समेत अन्य आवश्यक गतिविधिया पूरी क्षमता के साथ काम करेंगी। निजी कार्यालय 50 फीसदी क्षमता के साथ सुबह 9 बजे से शाम 5 बजे तक काम करेंगे। वर्क फ्रॉम होम करने की कोशिश करेंगे। रेस्ट्रोरेंट 50 फीसदी बैठने की क्षमता के साथ खुले रहे हैं। 

मुख्यमंत्री की चेतावनी
मुख्यमंत्री ने चेतावनी दी है कि अगर अनलॉक में संक्रमण बढ़ा या प्रोटोकॉल का उल्लंघन हुआ तो फिर से लॉकडाउन लगाने पर गंभीरता से विचार करना पड़ेगा। अगर केस नहीं बढ़ते हैं तो मार्केट और रेस्टोरेंट आगे भी चालू रखेंगे। मार्केट और रेस्टोरेंट को एक हफ्ते तक देखेंगे। इसलिए सभी मार्केट एसोसिएशन, सभी दुकानदार और सभी लोगों से गुजारिश है कि भीड़ न होने दें और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें। सभी दुकान वाले अपनी-अपनी दुकान के अंदर मास्क भी रखें। अगर किसी ने मास्क नहीं पहना हैए तो उसका मास्क दें। 




ये खुलेगा
  • निजी दफ़्तर 50 फीसदी क्षमता के साथ सुबह 9 बजे से शाम 5 बजे तक काम करेंगे
  • बाज़ार, मॉल और मार्केट कॉम्प्लेक्स में सारी दुकानें सुबह 10 बजे से शाम 8 बजे तक खुल सकती हैं
  • रेस्टोरेंट 50 फीसदी बैठने की क्षमता पर काम करेंगे
  • सम विषम सोमवार से खत्म हो जाएगा।
  • सरकार दफ्तर पिछले हफ्ते की तरह ही खुलेंगे। यानी ग्रुप ए के कर्मचारी 100 प्रतिशत उपस्थिति के साथ दफ्तर आ सकते हैं। अन्य कर्मचारियों को 50 प्रतिशत उपस्थिति के साथ आना होगा।
  • पुलिस विभाग और अस्पताल जैसी जरूरी सेवाओं में लगे कर्मचारियों को 100 प्रतिशत उपस्थिति की अनुमति होगी। निजी दफ्तर में 50 प्रतिशत क्षमता के साथ कर्मचारी काम कर सकते हैं।
  • साप्ताहिक बाज़ार को अनुमति है लेकिन एक दिन में एक ज़ोन में एक ही साप्ताहिक बाज़ार को अनुमति
  • शादियां 20 लोगों के साथ घर या कोर्ट में ही हो सकती हैं।
  • धार्मिक स्थल खोले जाएंगे लेकिन भक्तों को बाहर से ही दर्शन करना होगा, परिसर में जाने की अनुमति नहीं होगी
  • 50 फीसदी क्षमता के साथ मेट्रो और बसों में यात्री सफर कर सकेंगे 
  • ई रिक्शा, ऑटो और टैक्सी में 2 यात्रियों को ही सफर की होगी इजाजत

ये रहेंगे बंद
  • सोमवार सुबह पांच बजे के बाद से नए नियम लागू होंगे
  • सारे स्कूल, कोचिंग, कॉलेज और शैक्षणिक संस्थाएं बंद रहेंगी। 
  • सामाजिक, राजनीतिक या अन्य किसी भी तरह के काम के लिए लोगों को एक जगह इकट्ठा होने की अनुमति नहीं होगी। 
  • स्विमिंग पूल, खेल, स्टेडियम, स्पोर्ट कॉम्प्लेक्स, सिनेमा, थियेटर बंद रहेंगे।
  • एंटरटेनमेंट पार्क, वॉटर पार्क, पब्लिक पार्क, गार्डन, बैंक्वेट हॉल, ऑडिटोरियम बंद रहेंगे।
  • स्पा, जिम और योगा संस्थान बंद रहेंगे।
  • सार्वजनिक पार्क और गार्डन बंद रहेंगे।
  • मनोरंजन, सांस्कृतिक, धार्मिक सभाएं बंद रहेंगी।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us