विज्ञापन
विज्ञापन
गंभीर से गंभीर परेशानी होगी दूर,ललिता देवी शक्तिपीठ-नैमिषारण्य पर कराएं ललिता सहस्रनाम पाठ, मात्र रु:51/- में,अभी बुक करें
Myjyotish

गंभीर से गंभीर परेशानी होगी दूर,ललिता देवी शक्तिपीठ-नैमिषारण्य पर कराएं ललिता सहस्रनाम पाठ, मात्र रु:51/- में,अभी बुक करें

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

दिल्लीः ऑनलाइन क्लास न कर पाने वाले बच्चों के लिए कांस्टेबल बने सहारा, मंदिर में ले रहे क्लास

दिल्ली पुलिस का एक कांस्टेबल कोरोना काल में जरूरतमंद बच्चों के लिए मदद का बड़ा हाथ बनकर सामने आया है। कांस्टेबल ने कोरोनाकाल के दौरान गरीब और जरूरतमंद...

20 अक्टूबर 2020

Digital Edition

ग्रेटर नोएडा: ट्रांसपोर्टर की बेटी की हत्या और लूट का आरोपी पुलिस मुठभेड़ में घायल

ग्रेटर नोएडा के सूरजपुर कोतवाली क्षेत्र की पैरामाउंट गोल्फ विला सोसायटी में बुधवार को ट्रांसपोर्टर की बेटी की हत्या और आभूषण लूटकर फरार हुए आरोपी को शुक्रवार सुबह पुलिस मुठभेड़ में गोली लगी है। पुलिस ने आरोपी को गुरुवार देर रात गिरफ्तार कर लिया था।

पुलिस आरोपी की निशानदेही पर हत्या में प्रयोग किया गया धारदार हथियार बरामद करने 130 मीटर रोड पर गई तो आरोपी दरोगा हरिराम की पिस्टल छीन फायरिंग करते हुए भागने लगा। पुलिस का कहना है कि जवाबी फायरिंग में आरोपी पैर में गोली लगने से घायल हो गया और उसे गिरफ्तार कर लिया गया।

नोएडा के छलेरा गांव निवासी कालू सिंह चौहान ट्रांसपोर्टर हैं। छलेरा गांव के पास ही उनका ट्रांसपोर्ट का काम है। वह परिवार के साथ लगभग एक साल से सूरजपुर कोतवाली क्षेत्र स्थित पैरामाउंट गोल्फ विला सोसायटी में रह रहे थे।

वारदात के वक्त घर में अकेली थी पिंकी
बुधवार को कालू सिंह और उनकी पत्नी शॉपिंग के लिए गई थी। कालू चौहान का 26 वर्षीय बेटा भी ट्रांसपोर्ट के काम से घर से बाहर गया था। इस दौरान उनकी बेटी पिंकी चौहान (28) घर पर अकेली थी। दिल्ली के अलीपुर गांव पल्ला निवासी अर्जुन उर्फ चमन उनके घर पहुंचा।

आरोपी यहां दो घंटे तक रुका और पिंकी की धारदार हथियार से गला रेतकर व शरीर पर कई वार कर हत्या कर दी। आरोपी घर में रखे आभूषण आदि लूटकर फरार हो गया। पुलिस ने शुक्रवार सुबह ही दिल्ली स्थित आरोपी के घर से लूटे गए आभूषण और घटना में प्रयोग की गई स्कूटी बरामद कर ली थी।

पुलिस ने आरोपी को गुरुवार रात गिरफ्तार कर पूछताछ की। आरोपी ने बताया कि वह पिंकी से विवाह करना चाहता था लेकिन उसके परिजन विवाह के लिए दूसरा लड़का देख रहे थे। इसी से नाराज होकर उसने पिंकी की हत्या कर दी।
... और पढ़ें

खुलासा: हवाला के जरिए पाकिस्तान से आया था पैसा, हैंडलर नासिर के आदेश पर आतंकी अशरफ करने वाला था ये घिनौना काम

दिल्ली समेत देशभर में इस समय पाकिस्तान के आतंकी व स्लीपर सेल मौजूद हैं। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल की गिरफ्त में आया दहशतगर्द मोहम्मद अशरफ इनके बारे में कुछ नहीं बता रहा है। ऐसे में इन आतंकियों का पता करने के लिए स्पेशल सेल ने मोहम्मद अशरफ का पॉलीग्राफी टेस्ट करने का निर्णय किया है। स्पेशल सेल के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि सीबीआई की मदद लेकर सीएफएसएल में पॉलीग्राफी टेस्ट शुक्रवार को कराया जाएगा। स्पेशल सेल के विशेष पुलिस आयुक्त नीरज ठाकुर ने बृहस्पतिवार को लोदी कॉलोनी पहुंचकर मोहम्मद अशरफ से कई घंटे पूछताछ की। स्पेशल सेल के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि पाकिस्तानी हैंडलर नासिर ने मो. अशरफ को कालिंदी कुंज में यमुना घाट से विस्फोटक व हथियार लाकर किसी को देने के आदेश दिए थे। हथियार व विस्फोटक लेने वाले कौन थे, इनके बारे में मोहम्मद अशरफ कुछ नहीं बता रहा है। मोहम्मद अशरफ के सर्किल का पता करने के लिए स्पेशल सेल उसका पॉलीग्राफी टेस्ट करा रही है।  ... और पढ़ें

तिहरा हत्याकांड: 12 साल के बेटे को 'चारा' बनाकर घर में घुसा था नीरज, फिर जमकर खेला खूनी खेल

फरीदाबाद के धौज थाना इलाके के गोठड़ा मोहताबाद में हुए तिहरे हत्याकांड में मुख्य आरोपी नीरज ने घर में दाखिल होने के लिए अपने 12 वर्षीय बेटे का सहारा लिया। आरोपी अपने साथी लेखराज के साथ बृहस्पतिवार अलसुबह करीब ढाई बजे अपने साले के घर पहुंचा। सूत्रों के मुताबिक उसने बेटे को फोन किया और कहा कि उससे मिलने आया है। दरवाजा खोलो। बेटे ने घर का दरवाजा खोल दिया। इससे दोनों आरोपी घर में दाखिल हो गए। घटना को अंजाम देने के लिए दोनों आरोपी अपने साथ कट्टा व चाकू लेकर गए थे। आरोपी सबसे पहले घर की पहली मंजिल पर गए। यहां उन्होंने आरोपी नीरज के साले गगन और उसके दोस्त राजन को गोली मारी। इसके बाद आरोपी नीचे आए और नीरज ने अपनी पत्नी आयशा और सास सुमन को गोली मार दी। आरोपी को सबसे ज्यादा गुस्सा अपनी पति और सास पर था, इसलिए उसने दोनों की मौत सुनिश्चित करने के लिए गोली मारने के बाद दोनों पर चाकू से भी वार किए। ... और पढ़ें

15 किमी और दिल्ली के चार अस्पताल: दुष्कर्म पीड़िता को नहीं मिला बेड, दर्द से चीखती मासूम संग गिड़गिड़ाता रहा पिता

दुष्कर्म के दर्द से कराहती मासूम के साथ उसका पिता दिल्ली के नामचीन अस्पतालों के बीच करीब ढाई घंटे तक चक्कर काटता रहा, लेकिन इलाज देने की जगह उसे हर जगह दूसरे अस्पताल का रास्ता पकड़ने की नसीहत मिली। सरदार पटेल अस्पताल से लेडी हार्डिंग अस्पताल, आगे कलावती, फिर लेडी हार्डिंग..., खून से लथपथ अपनी बच्ची को लेकर उसे नई दिल्ली और मध्य दिल्ली में स्थित इन अस्पतालों के बीच एंबुलेंस से करीब 15 किमी भटकना पड़ा। आखिरकार किसी तरह राम मनोहर लोहिया में वह अपनी बेटी को भर्ती करवा पाया। आईसीयू में भर्ती मासूम की 36 घंटे के बाद भी हालत नाजुक बनी हुई है। उधर मध्य जिले के स्पेशल स्टाफ और एएटीएस की टीम ने आरोपी को रोहतक जिले के कलानौर से गिरफ्तार किया है।
आरोपी की पहचान सूरज पुत्र दिनेश शाह निवासी के-1, रघुबीर नगर के तौर पर हुई है। 

बच्ची के सेहत पर सवाल करते ही शनिवार को उसका पिता रो पड़ा। सिसकते हुए उसने बताया कि शुक्रवार सुबह करीब साढ़े दस बजे पत्नी ने घटना की जानकारी दी। वह भागकर घर पहुंचा। घर के बाहर भीड़ जमा थी। अपनी बेटी की हालत देखकर उसके आंखों से आंसू निकल गए। बच्ची खून से लथपथ थी। इसी बीच किसी ने घटना की जानकारी पुलिस और एंबुलेंस को दे दी। एंबुलेंस के मौके पर पहुंचते ही वह बच्ची को लेकर अस्पताल के लिए भागा। 
... और पढ़ें
दिल्ली रेप की खबर दिल्ली रेप की खबर

ग्रेटर नोएडा: यमुना एक्सप्रेसवे पर भीषण सड़क हादसा, वाहन से टकराई अफ्रीकी नागरिकों की कार, दो की मौत

यमुना एक्सप्रेस वे पर जीरो पॉइंट से पांच किलोमीटर पर खड़े हुए ट्रैवलर वाहन में रविवार सुबह पीछे से एक कार टकरा गई। हादसे में ट्रैवलर वाहन से उतरकर एक्सप्रेस वे पर टहल रहे दो लोगों की मौत हो गई। वहीं, कार सवार अफ्रीकी मूल के रिपब्लिक कांगो निवासी महिला लूसी समेत तीन लोग घायल हो गए। हादसे में ट्रैवलर वाहन सवार एक महिला व अन्य लोग भी चोटिल हुए हैं। सूचना पर पहुंची पुलिस ने घायलों को क्षतिग्रस्त वाहन से बमुश्किल बाहर निकालकर अस्पताल पहुंचाया है और मामले की जांच कर रही है।

एडिशनल डीसीपी विशाल पांडे और ईकोटेक-1 थाना प्रभारी शरद शर्मा ने बताया कि पश्चिम बंगाल निवासी कुछ यात्री दिल्ली घूमने के लिए आए थे। दिल्ली से उन्होंने आगरा घूमने के लिए एक ट्रैवलर वाहन बुक कराया था। रविवार सुबह पश्चिम बंगाल निवासी यात्री आगरा के लिए निकले थे, लेकिन यमुना एक्सप्रेस वे पर जीरो पॉइंट से 5 किलोमीटर पर उनका वाहन खराब होकर खड़ा हो गया। 




इसी दौरान पीछे से आई तेज रफ्तार कार वाहन से टकरा गई। इससे कार बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गई। वहीं ट्रैवलर वाहन से उतर कर यमुना एक्सप्रेस वे पर खड़े पश्चिम बंगाल निवासी दो यात्री स्वप्न भट्टाचार्य और साहिब मंडल की मौके पर ही मौत हो गई। ट्रैवलर वाहन सवार सात अन्य लोग भी चोटिल हुए, लेकिन इनमें एक महिला गंभीर रूप से घायल बताई गई है। 

इसके अलावा कार में अफ्रीकी मूल के रिपब्लिक कांगो निवासी महिला लूसी और उसके दो साथी सवार थे। हादसे में कार सवार गंभीर रूप से घायल हुए और उन्हें छतरी केस वाहन को काटकर बमुश्किल बाहर निकालकर अस्पताल पहुंचाया गया। हादसे के बाद यमुना एक्सप्रेस वे पर यातायात कुछ देर के लिए बाधित हुआ। लेकिन बाद में पुलिस ने क्षतिग्रस्त वाहनों को किनारे खड़ा करा कर यातायात सुचारू कराया।
... और पढ़ें

फर्जीवाड़ा: संसद भवन में प्रवेश के लिए बनाया फर्जी एंट्री पास, बिहार सरकार के मंत्री का निजी सचिव गिरफ्तार

संसद भवन में प्रवेश के लिए फर्जी एंट्री पास बनाने का मामला सामने आया है। आरोप है कि बिहार सरकार के मौजूदा मंत्री व गोपालगंज से पूर्व सांसद जनक राम के आप्त सचिव (निजी सचिव) ने मौजूदा सांसद के निजी सचिव का पास चोरी कर वारदात को अंजाम दिया। 

पुलिस ने आरोपी आप्त सचिव बबलू कुमार आर्य (26) को गिरफ्तार कर लिया गया है जबकि एक अन्य आरोपी को बिहार से हिरासत में लिया गया है। अपराध शाखा की एक टीम बिहार में जांच के लिए मौजूद है। संसद में फर्जी एंट्री पास को सुरक्षा एजेंसियों ने गंभीरता से लिया है। 

पुलिस के अलावा कई अन्य एजेंसियां मामले की जांच कर रही हैं। पुलिस सूत्रों का कहना है कि बबलू के कहने पर पास बनाने वाले इंटरनेट कैफे मालिक मुकेश कुमार को हिरासत में लेकर उससे पूछताछ की जा रही है। फर्जी पास बनाने की बबलू की आखिर क्या मंशा थी, इसकी पड़ताल की जा रही है।

अपराध शाखा की पुलिस उपायुक्त मोनिका भारद्वाज ने बताया कि पिछले दिनों संसद भवन में बबलू कुमार आर्य के नाम से संसद के फर्जी एंट्री पास बनाने का मामला संज्ञान में आया था। बिहार के गोपालगंज से मौजूदा सांसद डॉ. आलोक कुमार सुमन के पीए ज्योति भूषण कुमार भारती को जारी किए गए पास के साथ छेड़छाड़ कर दूसरा पास बनाया गया था। 
... और पढ़ें

दिल्ली: ईएसआई के डॉक्टर व फार्मासिस्ट ने हेराफेरी कर बेच दी करोड़ों की दवाई, अपराध शाखा ने पांच को किया गिरफ्तार

दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा ने ईएसआई डिस्पेंसरी में दी जाने वाली करोड़ों रुपये की दवाएं फर्जीवाड़े से बेचने के आरोप में एमबीबीएस डॉक्टर, दो फार्मासिस्ट समेत कुल पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया है। 

पकड़े गए आरोपियों की पहचान मास्टर माइंड एमबीबीएस डॉक्टर ग्रेटर नोएडा निवासी डॉ. अविनाश सैनी (41), ग्रीन फील्ड कालोनी, फरीदाबाद निवासी फार्मासिस्ट चंद्र प्रकाश (33), फार्मासिस्ट अंकित मिश्रा (23) व दो दवाओं के दो खरीदार प्रवीन मंगला (40) और सुमेश राठी (52) के रूप में हुई है। आरोपी डॉक्टर अविनाश सैनी, चंद्र प्रकाश के कहने पर मरीजों को बिना जरूरत के कीमती दवाएं लिख देते थे। बाद में इन दवाओं को मरीजों को न देकर उनको डिस्पेंसरी के स्टॉक से निकालकर बेच दिया जाता था। 

बाजार में बेच रही थी ईएसआई की दवाई
सभी आरोपी वर्ष 2018 से दवाएं चोरी कर रहे हैं। आशंका व्यक्त की जा रही है कि आरोपी पिछले तीन सालों के दौरान करोड़ों की दवाएं बेच चुके हैं। अपराध शाखा के पुलिस उपायुक्त राजेश देव ने बताया कि उनकी टीम को सूचना मिली कि कुछ लोग सरकारी ईएसआई की डिस्पेंसरी की दवाएं चोरी करके उनको मार्केट में बेच रहे हैं। इसमें डिस्पेंसरी के डॉक्टर व फार्मासिस्ट भी शामिल हैं। सूचना के बाद इंस्पेक्टर नरेश सोलंकी व एसआई कृष्ण कुमार ने आरोपियों की जानकारी जुटाना शुरू कर दी। 

सभी दवाइयों पर ईएसआई की लगी थी मोहर
सूचना के बाद पुलिस की टीम ने बदरपुर इलाके से दवाएं बेचते हुए रंगे हाथों चंद्र प्रकाश व प्रवीन मंगला को गिरफ्तार कर लिया। इनके पास से ईएसआई डिस्पेंसरी में इस्मेमाल की जाने वाली लाखों की दवाईयां मिलीं। सभी दवाईयों पर ईएसआई की मोहर लगी थी। पूछताछ के दौरान आरोपी दवाइयों के बारे में कोई संतोषजनक उत्तर नहीं दे पाए। पुलिस ने दवाइयों को कब्जे में लेकर उनकी स्टाक रिकॉर्ड से जांच की। सभी दवाइयां ईएसआई कार्ड धारकों को जारी की हुई दिखाई गई थीं। कुछ मामलों में कार्ड धारक डिस्पेंसरी आए ही नहीं थे, लेकिन उनके नाम पर दवाई जारी थीं।
... और पढ़ें

दिल्ली: रविवार-डेंगू पर वार, घर में नहीं जमा होगा पानी, तभी थमेगी डेंगू की मनमानी

ESIC
डेंगू के खिलाफ अपने रविवार के अभियान में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्लीवालों से अपील की है कि वह सुबह 10 बजे, 10 मिनट के लिए अपने घर और नजदीकी इलाकों पर नजर दौड़ा लें। अगर कहीं साफ पानी जमा हो तो उसे साफ कर दें। इससे दिल्ली को डेंगू मुक्त बनाने में मदद मिलेगी।

दरअसल, दिल्ली सरकार हर हफ्ते रविवार को '10 बजे, 10 हफ्ते, 10 मिनट' अभियान चला रही है। इसके तहत लोगों से अपने घर के आस-पास साफ पानी जमा न होने देने या जमा पानी में तेल की कुछ बूंदे डालने की अपील की जाती है। मुख्यमंत्री समेत दिल्ली के सभी मंत्रियों, विधायकों, अधिकारियों व बड़ी संख्या में दिल्लीवासी इस अभियान से जुड़े हैं। 

कोशिश डेंगू को जड़ से खत्म करने के है। इसी कड़ी में इस रविवार अभियान की टैग लाइन 'डेंगू अभियान से जुड़े हैं हम सब, डेंगू को हराकर ही दम लेंगे अब' दी गई है। अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि दिल्ली अब डेंगू के खिलाफ लड़ाई को जीतने के नजदीक हैं। 

इस रविवार को भी सुबह 10 बजे, 10 मिनट के लिए हमें अपने घर और आसपास में देखना है कि कहीं साफ पानी जमा तो नहीं है। अगर है तो उसे उड़ेल दें, बदल दें या उसमें तेल डाल दें। आइए, दिल्ली को डेंगू मुक्त बनाएं।

साफ पानी में पैदा होता डेंगू का मच्छर
डेंगू के मच्छर केवल साफ पानी में पनपते हैं। साफ पानी के अंदर डेंगू के अंडे पैदा होते हैं और वो अंडे 8 से 10 दिन के अंदर मच्छर में बदल जाते हैं। अगर हम सभी 8 दिन से पहले उस जमा पानी को बदल दें, तो अंडे नष्ट हो जाएंगे और मच्छर पैदा नहीं हो पाएंगे। इस अभियान की संकल्पना इसी के इर्द-गिर्द बुनी गई है कि घर के नजदीक गड्ढ़ा, कूलर, गमलों, टंकी आदि में पानी जमा न होने दें।
... और पढ़ें

दिल्ली मेट्रो: आज सवेरे यलो लाइन पर बाधित रहेंगी सेवाएं, यात्री फीडर बस का कर सकते हैं इस्तेमाल

दिल्ली मेट्रो से सफर करने वालों के लिए डीएमआरसी ने आवश्यक सूचना जारी की है। दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन ने बताया कि रविवार को कुछ घंटे के लिए येलो लाइन पर सेवाएं बाधित रहेंगी। येलो लाइन पर विश्वविद्यालय और मॉडल टाउन स्टेशनों के बीच रविवार सुबह 7:30 बजे से कुछ घंटों के लिए मेट्रो नहीं चलेगी। 

रखरखाव के कार्यों के कारण येलो लाइन पर सेवाएं बाधित रहेंगी, लेकिन अन्य लाइनों पर मेट्रो सेवाएं सामान्य दिनों की तरह ही जारी रहेंगी। इसके साथ ही डीएमआरसी ने यह भी जानकारी दी कि यात्रियों को परेशानी से बचाने के लिए इस दौरान दिल्ली मेट्रो की फीडर बस सेवाएं मुफ्त में उपलब्ध रहेंगी। यात्री अपने मेट्रो की फीडर बस सेवाओं का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके लिए उन्हें टिकट नहीं लेना पड़ेगा।
... और पढ़ें

Kisan Andolan: 26 अक्तूबर को नहीं होगी किसान महापंचायत, अब 22 नवंबर को हुई प्रस्तावित

आप का दावा: गोवा विधानसभा चुनाव से पहले सीएम प्रमोद सावंत को पद से हटा देगी भाजपा

आम आदमी पार्टी (आप) ने दावा किया है कि गोवा विधानसभा चुनाव से दो महीने पहले भाजपा अपने मुख्यमंत्री बदलने जा रही है। आप ने इसे गोवा के मुख्यमंत्री की नाकामी और जनता के बढ़ते गुस्से के बीच भाजपा की अपनी साख बचाने की कोशिश करार दिया है। 

आप ने सिलसिलेवार ढंग से गोवा सरकार की नाकामियों को भी बताया है। आप ने कहा कि गोवा के लोग इसे समझ रहे हैं। मुख्यमंत्री बदलने से भाजपा की साख नहीं लौटेगी। दिल्ली स्थित पार्टी दफ्तर में मीडिया से बात करते हुए उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि भाजपा गोवा में अपना मुख्यमंत्री बदलने जा रही है। भाजपा ये मान रही है कि गोवा के मौजूदा मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत के नाकामी से जनता में उनके प्रति गुस्सा बढ़ा है।

उत्तराखंड और कर्नाटक के बाद गोवा में भी वही प्रयोग दोहराने जा रही भाजपा
सिसोदिया के मुताबिक, विश्वसनीय सूत्रों से इस बारे में पता चला है कि भाजपा किसी दूसरे नेता मुख्यमंत्री बनाने जा रहा है। इस बदलाव के लिए सिसोदिया ने 10 बिंदु गिनाए, जिस पर गोवा के मुख्यमंत्री नाकाम रहे हैं। उनका दावा है कि भाजपा ये मान चुकी है कि गोवा की जनता मौजूदा प्रमोद सावंत सरकार से दुखी है। मनीष सिसोदिया ने कहा कि उत्तराखंड और कर्नाटक के बाद भाजपा गोवा में भी वही प्रयोग दोहराने जा रही है। लेकिन मुख्यमंत्री बदलने से अब कोई फायदा नहीं होगा। उनका दावा है कि गोवा की जनता अपना मूड बना चुकी है। इस चुनाव में आम आदमी पार्टी की सरकार बनेगी।

मनीष सिसोदिया ने गिनाए दस प्वांट्स
. कोरोना मैनेजमेंट में फेल प्रमोद सावंत सरकार
. प्रमोद सावंत सरकार में भ्रष्टाचार
. कोविड रिलीफ के नाम पर झूठ
. वेतन वृद्धि निकली जुमला
. आपदा प्रबंधन के मामले में भी फेल
. गोवा के युवाओं को नहीं मिली नौकरी
. माइनिंग माफिया से नहीं मिली निजात
. कानून व्यवस्था की स्थिति बदहाल
. बदहाल शिक्षा व्यवस्था
. बिजली-पानी की आसमान छूती कीमतें
... और पढ़ें

हापुड़: रकम दोगुनी करने का लालच देकर दो हजार लोगों से की 500 करोड़ की ठगी, डायरेक्टर सहित पांच गिरफ्तार

18 महीने में ही पैसा दोगुना करने का झांसा देकर करीब दो हजार लोगों से करीब 500 करोड़ रुपये की ठगी का मामला सामने आया है। पुलिस ने ठगी करने वाली निफ्टैक ग्लोबल कंपनी के डायरेक्टर सहित पांच आरोपियों को गिरफ्तार कर शुक्रवार को मामले का खुलासा किया। गिरफ्तार आरोपियों में दो महिलाएं भी शामिल हैं। इनके पास से फॉरच्यूर्नर गाड़ी, दो लैपटॉप, छह मोबाइल फोन, 78520 रुपये की नकदी, पासबुक और चेकबुक बरामद की गई है। गिरफ्तार करने वाली टीम को एसपी ने 25 हजार रुपये  के इनाम की घोषणा की है।

एसपी दीपक भूकर ने बताया आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए बहादुरगढ़ थाना पुलिस, सर्विलांस टीम के साथ साथ तीन टीमों को लगाया गया था। गढ़-स्याना रोड के गांव बहद के पास से अशोक और धर्मपाल, धर्मपाल की पत्नी सुषमा, अशोक की पत्नी सुनीता निवासी गांव चांदनेर थाना बहादुरगढ़ और अशोक निवासी भड़काउ थाना नरसैना जिला बुलंदशहर को गिरफ्तार किया गया। तीनों पुरुष आरोपियों पर 50-50 हजार और दोनों महिलाओं पर 25-25 हजार रुपये का इनाम था।

आरोपियों ने वर्ष 2008 में आरोपियों ने निफ्टैक ग्लोबल कंपनी की शुरुआत की थी। 18 महीनों में पैसा दोगुना करने का लोगों को लालच देते थे। पहला कार्यालय बहादुरगढ़ थाना क्षेत्र के डेहरा कुटी और गढ़मुक्तेश्वर में खोला गया। इसके बाद हापुड़, बुलंदशहर, गाजियाबाद और दिल्ली में कार्यालय खोला गया। हापुड़ के करीब 18 सौ से दो हजार लोगों ने इस कंपनी में अपना पैसा लगाया। जो 500 करोड़ रुपये से अधिक है। शुरुआत में कुछ लोगों को रकम वापस भी की गई, इसके बाद झांसा देने लगे। लोगों का दबाव बढ़ा तो कार्यालय बंद कर फरार हो गए। आरोपियों पर लोगों ने विभिन्न थानों में 96 मुकदमे दर्ज कराए हैं। 
... और पढ़ें

गाजियाबाद: न्यूड वीडियो कॉल कर करोड़ों ठगने वाले गिरोह का पर्दाफाश, चार महिलाओं समेत पांच गिरफ्तार

सोशल मीडिया साइट्स पर अगर आपके पास अनजान लड़कियों की फ्रेंड रिक्वेस्ट आए और पोर्न चैट या न्यूड वीडियो कॉल का ऑफर मिले तो सतर्क हो जाएं। आप हनी ट्रैप के शिकार भी हो सकते हैं। गाजियाबाद पुलिस ने शुक्रवार को ऐसे ही गैंग का भंडाफोड़ करते हुए चार महिलाओं समेत पांच लोगों को गिरफ्तार किया है।

ये महिलाएं फोन पर पहले अश्लील बात कर लोगों को फंसाती थीं, फिर उनके न्यूड वीडियो बनाकर उन्हें ब्लैकमेल करते हुए उनसे रुपये वसूलती थीं। लोग भी शर्म की वजह से किसी से इस बारे में नहीं बता पाते थे। इसी बात का फायदा इस गिरोह के लोग उठाते थे।

नंदग्राम थाना प्रभारी अमित कुमार और साइबर सेल प्रभारी सुमित कुमार की टीम ने यह गैंग पकड़ा है। पकड़े गए आरोपी योगेश गौतम निवासी मरियम नगर नंदग्राम, उसकी पत्नी सपना सहित निकिता निवासी सिहानी गेट, निधि निवासी कोतवाली और प्रिया निवासी प्रेमनगर कोतवाली गाजियाबाद हैं। इनके कब्जे से कई वस्तुएं बरामद हुई हैं। पुलिस आरोपियों से पूछताछ में जुट गई है। आरोपी धीरे-धीरे अपने शिकारों के बारे में जानकारी दे रहे हैं।

गैंग बनाकर दो साल में 500 लोगों से 20 करोड़ ठगे
युवक और युवती में दिल्ली यूनिवर्सिटी (डीयू) में पढ़ाई के दौरान प्यार हुआ और फिर शादी कर हनीट्रैप गैंग बना लिया। तीन साल में 500 लोगों को ब्लैकमेल कर करीब 20 करोड़ रुपये ठगने वाले इस गैंग का खुलासा करते हुए साइबर सेल ने दंपती समेत पांच लोगों को गिरफ्तार किया है। एसपी सिटी निपुण अग्रवाल ने बताया कि नंदग्राम के मरियम नगर घूकना निवासी योगेश गौतम और उसकी पत्नी सपना राजनगर एक्सटेंशन की ऑफिसर सिटी सोसायटी में किराए के फ्लैट में ठगी का धंधा चला रहे थे।

 एसपी सिटी ने बताया कि गैग संचालक दंपती के अलावा सिहानी गेट के जटवाड़ा सिहानी गेट निवासी निकिता, नगर कोतवाली के जस्सीपुरा निवासी निधि और प्रेमनगर निवासी प्रिया को गिरफ्तार किया गया है। यह तीनों युवतियां लोगों को अश्लील वीडियो कॉल करती थीं। स्क्रीन रिकॉर्डर एप से वीडियो कॉल रिकॉर्ड करके उसे वायरल करने की धमकी देकर ब्लैकमेल करती थीं। आरोपी पति-पत्नी तीनों लड़कियों को नौकरी पर रखकर हनीट्रैप गैंग चला रहे थे। इसकी एवज में उन्हें हर महीने 25-25 हजार रुपये सैलरी दी जाती थी।
... और पढ़ें
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00