लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Delhi ›   Delhi : Registration of only CNG and e-auto in NCR from January 1

Delhi : एनसीआर में एक जनवरी से सिर्फ सीएनजी व ई-ऑटो का पंजीकरण, केंद्रीय वायु गुणवत्ता आयोग का आदेश

अमर उजाला नेटवर्क, नई दिल्ली Published by: दुष्यंत शर्मा Updated Fri, 02 Dec 2022 03:20 AM IST
सार

Delhi : आयोग ने बुधवार को तीनों राज्यों के मुख्य सचिवों को भेजे पत्र में कहा है कि इस निर्देश का लक्ष्य एनसीआर में एक जनवरी, 2027 से सिर्फ सीएनजी या ई-ऑटो का ही संचालन सुनिश्चित करना है। एनसीआर में पूरी दिल्ली के अलावा हरियाणा के 14, यूपी के 8 और राजस्थान के 2 जिले शामिल हैं।

e auto
e auto
विज्ञापन

विस्तार

केंद्र सरकार के वायु गुणवत्ता प्रबंधन आयोग (सीएक्यूएम) ने उत्तर प्रदेश, हरियाणा और राजस्थान सरकारों को एक जनवरी, 2023 से राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) के शहरों में सिर्फ सीएनजी और इलेक्ट्रिक ऑटो के ही रजिस्ट्रेशन का निर्देश दिया है। इन शहरों से 2026 के अंत तक डीजल चलित ऑटो का संचालन चरणबद्ध तरीके से पूरी तरह बंद करने के लिए भी कहा गया है।





आयोग ने बुधवार को तीनों राज्यों के मुख्य सचिवों को भेजे पत्र में कहा है कि इस निर्देश का लक्ष्य एनसीआर में एक जनवरी, 2027 से सिर्फ सीएनजी या ई-ऑटो का ही संचालन सुनिश्चित करना है। एनसीआर में पूरी दिल्ली के अलावा हरियाणा के 14, यूपी के 8 और राजस्थान के 2 जिले शामिल हैं। दिल्ली ने 1998 में वाणिज्यिक वाहनों को पूरी तरह सीएनजी में बदलने का अभियान शुरू किया था और वर्तमान में यहां डीजल चलित ऑटो का रजिस्ट्रेशन पूरी तरह प्रतिबंधित है। अक्तूबर, 2022 में दिल्ली परिवहन विभाग ने 4261 नए इलेक्ट्रिक ऑटो के रजिस्ट्रेशन की योजना आरंभ की है। 

निर्देशों का सख्ती से हो पालन 
वायु गुणवत्ता आयोग के सदस्य सचिव अरविंद नौटियाल ने कहा है कि तीनों राज्य निर्देशों का सख्ती से पालन सुनिश्चित करें। राज्यों की एजेंसियों को भी व्यापक प्रचार करने के लिए भी कहा गया है।

चरणबद्ध तरीके से हटेंगे 

  • पहला चरण : 31 दिसंबर, 2024 तक गुरुग्राम, फरीदाबाद, गौतमबुद्ध नगर और गाजियाबाद से हटाया जाएगा
  • दूसरा चरण : 31 दिसंबर, 2025 तक सोनीपत, रोहतक, झज्जर और बागपत का नंबर आएगा
  • 31 दिसंबर 2026 : अन्य सभी शहरों से हटा दिया जाएगा

इसलिए जरूरी है सख्ती

  • वर्ल्ड एयर क्वालिटी रिपोर्ट के अनुसार 117 देशों के बीच प्रदूषण में भारत का स्थान पांचवां है
  • दुनिया के 100 प्रदूषित शहरों में 63 भारत के हैं। इसमें दिल्ली के साथ एनसीआर के गाजियाबाद, नोएडा, गुरुग्राम और पलवल भी शामिल हैं

...इसलिए दीर्घकालीन योजना
प्रदूषण के कारण चरणबद्ध तरीके से एनसीआर में कई पाबंदियां लगानी होती हैं, जिनसे अर्थव्यवस्था को झटका लगता है। एनसीआर के शहरों में कई उद्योग हैं। पाबंदियों के आखिरी चरण में उन्हें भी बंद करना होता है। इसलिए वायु गुणवत्ता आयोग दीर्घकालीन योजना के तहत स्वच्छ ऊर्जा को बढ़ावा देने वाले वाहनों पर जोर दे रहा है।

विज्ञापन
  • एक्यूआई अब भी 300 के पास : दिल्ली-एनसीआर में हवा की गुणवत्ता में अब भी सुधार नहीं है। बृहस्पतिवार को राजधानी का एक्यूआई 368 के पार रहा।
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00