Hindi News ›   Delhi ›   delhi: Sharpshooter arrested for giving weapons to Rohini court shooters, reward of 50 thousand was

दिल्ली: रोहिणी कोर्ट के शूटरों को हथियार देने वाला शार्पशूटर गिरफ्तार , 50 हजार का था इनामी

अमर उजाला ब्यूरो, नई दिल्ली Published by: अनुराग सक्सेना Updated Wed, 12 Jan 2022 11:01 PM IST

सार

स्पेशल सेल डीसीपी (दक्षिणी रेंज) जसमीत सिंह के अनुसार टिल्लू ताजपुरिया गिरोह के शूटर राकेश ताजपुरिया के नरेला व दिल्ली के अन्य इलाकों में सक्रिय होने की सूचना इंस्पेक्टर शिव कुमार को मिली थी। पता लगा कि वह जितेंद्र गोगी गिरोह के एक शूटर की हत्या की साजिश रच रहा है।
पुलिस गिरफ्त में शार्प शूटर
पुलिस गिरफ्त में शार्प शूटर - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने रोहिणी कोर्ट शूटआउट में मारे गए शूटरों के लिए हथियार उपलब्ध कराने वाले सुनील मान उर्फ टिल्लू ताजपुरिया गिरोह के शार्पशूटर राकेश उर्फ राका उर्फ संजू उर्फ राकेश ताजपुरिया को मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार किया है। रोहिणी शूटआउट समेत हत्या के चार मामलों समेत पांच मामलों में पुलिस इसकी तलाश कर रही थी। ये रोहिणी शूटआउट को अंजाम देने वाले मुख्य षड़यंत्रकर्ताओं में से एक था। दिल्ली पुलिस ने इसकी गिरफ्तारी पर 50 हजार रुपये का इनाम रखा हुआ था। इसके खिलाफ हत्या, हत्या का प्रयास, लूटपाट, रंगदारी, चोट पहुंचाने व आर्म्स एक्ट आदि के 12 से ज्यादा मामले दर्ज हैं। ये जितेंद्र गोगी गिरोह के गैंगस्टर की हत्या की साजिश रच रहा है।

विज्ञापन


स्पेशल सेल डीसीपी (दक्षिणी रेंज) जसमीत सिंह के अनुसार टिल्लू ताजपुरिया गिरोह के शूटर राकेश ताजपुरिया के नरेला व दिल्ली के अन्य इलाकों में सक्रिय होने की सूचना इंस्पेक्टर शिव कुमार को मिली थी। पता लगा कि वह जितेंद्र गोगी गिरोह के एक शूटर की हत्या की साजिश रच रहा है। चार महीने की जांच के बाद इंस्पेक्टर शिवकुमार को 11 जनवरी को फिर सूचना मिली थी कि राकेश कैमिकल फैक्ट्री रोड के पास नरेला ओद्यौगिक क्षेत्र में अपने साथी से मिलने आएगा।

एसीपी अत्तर सिंह की देखरेख में इंस्पेक्टर शिव कुमार व एसआई राजेश कुमार आदि की टीम ने यहां घेराबंदी की और आरोपी को आत्मसर्मपण करने को कहा। आरोपी ने आत्मसर्मपण करने की बजाय पुलिस टीम पर दो राउंड फायरिंग कर दी। पुलिस टीम ने भी बचाव में एक राउंड फायरिंग की और राकेश ताजपुरिया को गिरफ्तार कर लिया।

गनीमत यह रही कि गोलीबारी में दोनों ओर से कोई भी घायल नहीं हुआ। गांव ताजपुर, अलीपुर दिल्ली निवासी राकेश ताजपुरिया (31) के पास से तीन कारतूस, तीन खोल, .32 की एक सेमी-ऑटोमैटिक पिस्टल और एक होंडा लियो बाइक भी मौके से बरामद की गई। पूछताछ में पता लगा कि उसके खिलाफ दिल्ली व हरियाणा में दस वर्षों में 12 से ज्यादा आपरिधक मामले दर्ज हुए हैं। पुलिस फिलहाल उसे रोहिणी शूटआउट के साथ-साथ हत्या के चार व हत्या का प्रयास के एक मामले में उसकी तलाश कर रही थी।

राकेश ने शूटरों को रोहिणी कोर्ट तक पहुंचाया था

राकेश ताजपुरिया ने रोहिणी कोर्ट में गैंगस्टर जितेंद्र गोगी हत्या करने वाले शूटरों को न केवल रोहिणी कोर्ट तक पहुंचवाने में सहायता की थी, बल्कि उनको हथियार भी दिए थे। ये रोहिणी कोर्ट में शूटआउट के समय मौजूद थे। जब इसे पता लगा कि जितेंद्र गोगी समेत दो शूटर मार गिराए हैं तो आरोपी कोर्ट से चला गया था। 24 सितंबर, 21 को हुए रोहिणी कोर्ट शूटआउट में राकेश वांछित था।

दोनों शूटर वकीलों के वेश में कोर्ट परिसर में घुसे थे और टिल्लू गिरोह के दो शूटरों ने जितेंद्र उर्फ गोगी को अंधाधुंध फायरिंग कर हत्या कर दी थी। जितेंद्र गोगी को एक मामले में सुनवाई के लिए एएसजे गगनदीप की  अदालत में पेश किया गया था। कोर्ट में तैनात पुलिसकर्मियों ने दोनों शूटरों को मौके पर ही मार गिराया था।

गैंगवार में कई हत्या कर चुका है

राकेश ताजपुरिया टिल्लू व गोगी गिरोह के बीच चल रही गैंगवार में कई हत्याएं कर चुका हैं। इस समय भी वह गोगी गिरोह के एक गैंगस्टर की हत्या की साजिश रच रहा था। इसने चार-पांच साथियों के साथ हिरंकी रोड स्थित ग्राम मुखमेलपुर निवासी सोनू कांडा की 12 सितंबर, 20 को गोगी मारकर हत्या कर दी थी। सोनू गोगी गिरोह का सदस्य था। गोगी गिरोह के सदस्य कुलबीर माथुर की अपनी जीप में बैठाकर चार फरवरी, 21 को गोली मारकर हत्या कर दी थी। इसने गोगी गिरोह के कई सदस्यों की हत्या की है। 

25 लोगों की जान जा चुकी है

सुनील मान उर्फ टिल्लू और जितेंद्र उर्फ गोगी के बीच 10 साल से चल रही गैंगवार में अब तक दिल्ली और हरियाणा में दोनों पक्षों के करीब 25 लोगों की जान जा चुकी है।  दोनो के बीच गैंगवार वर्ष 2010 में दिल्ली के अलीपुर के श्रृद्धानंद कॉलेज में छात्र संघ चुनाव के दौरान शुरू हुई थी, जब बचपन के दोनों दोस्त दुश्मन बन गए और बाद में भयंकर प्रतिद्वंदी बन गए। हालाँकि उन्होंने स्वयं सीधे चुनाव नहीं लड़ा था, लेकिन दोनों ने प्रतिद्वंद्वी उम्मीदवारों को समर्थन और बाहुबल प्रदान किया, जिससे दिल्ली में सबसे हिंसक गैंगवार में दोनों के बीच कड़वाहट पैदा हुई।

बुराड़ी में  18 जून, 18 को दोनों गिरोहों के बीच हुई भीषण गोलीबारी में सुनील टिल्लू गिरोह के दो सदस्यों और दो राहगीरों सहित चार लोगों की मौत हो गई और पांच अन्य घायल हो गए। टिल्लू गैंग को फिलहाल नीरज बवाना, सुनील राठी, नवीन उर्फ बाली, नासिर गैंग के सदस्य जबकि जितेंद्र उर्फ गोगी गैंग के सदस्यों को काला जत्थेड़ी, लॉरेंस बिश्नोई, संपत नेहरा, हाशिम बाबा और अशोक प्रधान का सहयोग मिल रहा है।
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00