बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP
विज्ञापन
विज्ञापन
बुध का तुला राशि गोचर, जानें क्या होगा आपके जीवन पर प्रभाव
Myjyotish

बुध का तुला राशि गोचर, जानें क्या होगा आपके जीवन पर प्रभाव

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

दिल्ली: आनंद विहार मेट्रो स्टेशन पर बड़ा हादसा, ट्रेन के दो डिब्बे के बीच कूदकर युवक ने दी जान

delhi metro delhi metro

रोहिणी कोर्ट गैंगवार: धमकी भरे मैसेज वायरल होने पर दिल्ली पुलिस अलर्ट, गैंग के गुर्गों के सोशल मीडिया अकाउंट्स पर पैनी नजर

हाल ही में रोहिणी कोर्ट के अंदर गैंगस्टर जितेंद्र मान उर्फ गोगी की हत्या का बदला लेने की घोषणा वाले मैसेज वायरल होने के बाद गैंगस्टर काला जठेड़ी और लॉरेंस बिश्नोई के गैंग के सदस्यों के सोशल मीडिया अकाउंट पर दिल्ली पुलिस नजर रख रही है। दिल्ली पुलिस के सूत्रों के मुताबिक, उनके गैंग के सदस्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर मैसेज पोस्ट कर रहे हैं, जिनपर हमारी नजर है।

सोशल मीडिया पर वायरल ऐसे ही एक संदेश के अनुसार, 'हम चुप बैठे हैं, इसका मतलब यह नहीं है कि हम मर चुके हैं, और जल्द ही एक धमाका होगा।' दूसरे मैसेज में लिखा है कि जो हमारे साथ नहीं हैं उनके लिए हम नई जंग की शुरुआत कर रहे हैं। अब से अपना ख्याल रखना। इस जंग में कोई भी सुरक्षित नहीं है। आज से दिल्ली की सड़कों पर खून-खराबा होगा। युद्ध के नियम बदल गए हैं। नए नियम के अनुसार देखते ही गोली मार देना।

24 सितंबर को कोर्ट रूप में कर दी थी हत्या
गौरतलब है कि गैंगस्टर जितेंद्र मान उर्फ गोगी की 24 सितंबर को रोहिणी कोर्ट रूम के अंदर दो हमलावरों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी। दोनों हमलावर वकील के वेश में आए थे। पुलिस कार्रवाई में दोनों हमलावर भी ढेर हो गए थे। दोनों हमलावर टिल्लू ताजपुरिया गैंग से जुड़े हुए बताए जा रहे हैं। अचानक हुई गोलीबारी के बाद कोर्ट में अफरा-तफरी मच गई थी। हमलावरों ने गोगी को करीब 10 गोलियां मारी थीं।

गोगी पर था 6.5 लाख रुपये का इनाम
पुलिस के मुताबिक, जितेंद्र मान उर्फ गोगी के सिर पर 6.5 लाख रुपये का इनाम था। उसे तीन साथियों कुलदीप मान उर्फ फज्जा, कपिल उर्फ गौरव और रोहित उर्फ कोई के साथ पिछले साल मार्च में स्पेशल सेल की एक टीम ने गुड़गांव से गिरफ्तार किया था।
... और पढ़ें

सम्राट मिहिर भोज: प्रतिमा के शिलापट पर लिखा गुर्जर, गंगाजल से किया शुद्धिकरण, कहा- सीएम मांगें माफी

ग्रेटर नोएडा स्थित दादरी के सम्राट मिहिर भोज प्रतिमा के आगे गुर्जर शब्द लिखने न लिखने को लेकर शुरू हुए विवाद में मंगलवार को कई घटनाक्रम सामने आए। गुर्जर स्वाभिमान महापंचायत और आगे की रणनीति तय करने के लिए बनाई गई विभिन्न राज्यों की 151 सदस्यों की समिति के दबाव में शिलापट पर सम्राट मिहिर भोज के आगे गुर्जर शब्द लिख दिया गया है।

मंगलवार सुबह राज्यसभा सांसद सुरेंद्र नागर ने प्रतिमा पर पुष्प अर्पित करते हुए ट्विटर और फेसबुक पर फोटो पोस्ट की। इस दौरान शिलापट पर गुर्जर लिखा दिखाई दिया। इसके बाद गुर्जर समाज व समिति के सदस्य दादरी के सम्राट मिहिर भोज कॉलेज में पहुंच गए। यहां उन्होंने सम्राट मिहिर भोज प्रतिमा को गंगाजल से नहलाकर शुद्धिकरण किया।

इसके बाद शिलापट पर लिखे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, राज्यसभा सांसद सुरेंद्र नागर और विधायक तेजपाल नागर के नाम पर काला पेंट कर दिया गया। हालांकि इस पेंट को कुछ देर बाद ही हटाकर मौके पर पुलिस तैनात कर दी गई। खास बात यह रही कि पूरे घटनाक्रम का गुर्जर समाज के लोगों ने फेसबुक लाइव भी किया।

22 सितंबर को हुआ था प्रतिमा का अनावरण
22 सितंबर को दादरी के सम्राट मिहिर भोज कॉलेज में प्रतिमा अनावरण से पूर्व ही शुरू हुआ विवाद अब तक थमने का नाम नहीं ले रहा है। गुर्जर शब्द हटाकर प्रतिमा अनावरण करने पर गुर्जर समाज के लोगों में आक्रोश व्याप्त हो गया था। इसको लेकर रविवार को गुर्जर स्वाभिमान महापंचायत बुलाई गई।
... और पढ़ें

रोहिणी शूटआउट: जिला अदालतों की सुरक्षा की मांग वाली याचिका पर स्टेटस रिपोर्ट दाखिल करे पुलिस, हाईकोर्ट ने भेजा नोटिस

रोहिणी कोर्ट शूटआउट के बाद से दिल्ली की जिला अदालतों की सुरक्षा व्यवस्था पर सवाल खड़े हो गए हैं। इसके मद्देनजर दिल्ली उच्च न्यायालय ने मंगलवार को पुलिस को उस याचिका पर स्टेटस रिपोर्ट दाखिल करने को कहा जिसमें राजधानी की जिला अदालतों में पर्याप्त सुरक्षा सुनिश्चित करने की मांग की गई है।

इस संबंध में जस्टिस रेखा पल्ली ने दिल्ली पुलिस और दिल्ली बार काउंसिल को नोटिस जारी करते हुए पांच दिनों के अंदर रिपोर्ट दाखिल करने को कहा। इस मामले में अगली सुनवाई के लिए कोर्ट ने 11 अक्तूबर की तारीख निर्धारित की है।

हालांकि पुलिस ने अदालत में कहा है कि जिला अदालतों की सुरक्षा के लिए जल्द से जल्द आवश्यक कदम उठाए जा रहे हैं।

 
... और पढ़ें

दिल्ली: हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज की तबीयत बिगड़ी, एम्स में भर्ती

दिल्ली हाईकोर्ट

साजिश: बाप-बेटे का गला रेता, फिर दफनाईं लाशें, बचने के लिए आरोपी की हर तकरीब सुन उड़े पुलिस के होश

गाजियाबाद के लोनी के ट्रॉनिका सिटी की कासिम विहार कॉलोनी में 16 सितंबर को हुई फर्नीचर कारोबारी और उसके पुत्र हत्या के आरोप पुलिस ने नौकर महरोज को गिरफ्तार किया है। उसके कब्जे से 12 हजार रुपये, कारोबारी का मोबाइल व खून से सने कपड़े बरामद हुए हैं। अमर उजाला ने एक दिन पहले ही नौकर पर शक होने की खबर प्रकाशित की थी। पुलिस के मुताबिक नौकर को पता चला था कि घर में पौने पांच लाख रुपये रखे हैं। उन्हें लूटने के लिए ही उसने दोहरे हत्याकांड को अंजाम दिया। हालांकि, वारदात के बाद घर खंगालने पर उसे 15 हजार रुपये ही मिले। एसपी ग्रामीण डॉ. ईरज राजा ने बताया कि बदायूं के गांव मिर्जापुर निवासी आरोपी नौकर महरोज रिश्ते में नईमुल हसन का भतीजा है। कुछ वर्षों से वह नईमुल के रामपार्क स्थित फर्नीचर गोदाम पर नौकरी करता था। 15 दिन पहले नईमुल के पास करीब पौने पांच लाख रुपये आए थे। इनमें से 50-50 हजार रुपये नईमुल के दोनों भाइयों के थे, जबकि बाकी रकम उसी की थी।  ... और पढ़ें

दिल्ली कोर्ट का आदेश: हनी सिंह के खिलाफ दर्ज घरेलू हिंसा मामले की सुनवाई बंद कमरे में होगी

दनकौर: अमरपुर गांव के मुख्य मार्ग पर लगाया गया सम्राट मिहिर भोज का बोर्ड, भाजपा नेताओं के प्रवेश पर ग्रामीणों ने लगाई रोक

सम्राट मिहिर भोज के आगे गुर्जर शब्द नहीं लिखने का विवाद क्षेत्र के गांवों तक पहुंच गया है। सोमवार को अमरपुर गांव में गुर्जर समाज के लोगों ने गांव के मुख्य मार्ग पर सम्राट मिहिर भोज का बोर्ड लगाकर चौराहे का नामकरण कर दिया। वहीं, ग्रामीणों ने गांव में भाजपा नेताओं के प्रवेश पर पाबंदी लगाने का भी एलान किया।

ग्रामीण शीशराम नागर और गौरव नागर ने कहा कि अब गुर्जरों के प्रत्येक गांव के मार्ग और चौराहे बोर्ड लगाए जाएंगे। इससे पहले कनारसी गांव के ग्रामीणों ने भी इसी तरह बोर्ड लगाकर भाजपा नेताओं के प्रवेश पर रोक लगाई थी। ग्रामीणों ने कहा कि भाजपा नेताओं के कारण समाज का अपमान हुआ है। 

इसलिए वह अब गांव में नेताओं को घुसने नहीं देंगे। इस मौके पर रविंद्र प्रधान, ओमवीर बीडीसी, सतवीर नागर, प्रेमचंद, ओमकार नागर, संदीप नागर, सुमित नागर, ज्ञानचंद नागर, लीले सिंह, भगवत सिंह, महावीर हवलदार, पिंटू और ओमेंद्र नागर समेत अन्य ग्रामीण मौजूद रहे। 

दो अक्तूबर को होगी बैठक, 151 सदस्यों की बनी समिति 
राष्ट्रीय गुर्जर स्वाभिमान समिति के राजकुमार भाटी ने बताया कि दो अक्तूबर को सुबह 10 बजे परी चौक के पास स्थित गुर्जर शोध संस्थान में समिति के 151 सदस्यीय समिति की बैठक होगी। समिति के अध्यक्ष चौ. अंतराम तंवर बनाए गए हैं। पहले 51 सदस्यों की समिति बनाई गई थी लेकिन राजस्थान, हरियाणा आदि अन्य राज्यों के लोग भी शामिल होने के कारण अब समिति के सदस्यों की संख्या 151 हो गई है। बैठक में आगामी रणनीति तैयार की जाएगी।

सम्राट की प्रतिमा के आगे रातों-रात लिखा गुर्जर
इधर इस प्रकरण में एक नया मोड़ भी आ गया है। खबर है कि कुछ भाजपाइयों ने सोमवार रात को चुपचाप प्रतिमा पर लगे शिलापट पर सम्राट मिहिर भोज के आगे गुर्जर शब्द लिखवा दिया, लेकिन गुर्जर समाज के लोग इससे संतुष्ट नही हैं। 

उनका कहना है कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ इस कृत्य के लिए सार्वजनिक रूप से माफी मांगें और बयान दें कि सम्राट मिहिर भोज गुर्जर ही थे। आंदोलन का संचालन करने के लिए बनाई गई 151 सदस्यीय राष्ट्रीय गुर्जर स्वाभिमान समिति के सदस्य राजकुमार भाटी ने कहा कि दो अक्तूबर को ग्रेटर नोएडा में होने वाली बैठक में तय किया जायेगा कि समाज आगे क्या रणनीति बनाएगा।

समाज के लोगों से एकता बनाए रखने की अपील
राजकुमार भाटी ने मीडिया को बयान जारी कर समाज के लोगों से अपील की है कि वे अलग अलग बयान जारी न करें। इससे समाज की एकता को क्षति होती है। सभी साथी समिति के निर्णय का इंतजार करें और समिति द्वारा लिये गये निर्णय का पालन करें। इस समिति में राजस्थान, हरियाणा, दिल्ली, उत्तराखंड व यूपी समेत पांच प्रदेशों के 151 लोग शामिल हैं।
 
... और पढ़ें
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X