विज्ञापन
विज्ञापन
शरद पूर्णिमा पर कराएं श्री कृष्ण की विशेष पूजा, बांके बिहारी मंदिर, वृन्दावन 19 अक्टूबर 2021
Myjyotish

शरद पूर्णिमा पर कराएं श्री कृष्ण की विशेष पूजा, बांके बिहारी मंदिर, वृन्दावन 19 अक्टूबर 2021

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

चिंता: पराली के धुएं से बिगड़ी दिल्ली-एनसीआर की हवा, शादीपुर रहा सबसे प्रदूषित इलाका, गाजियाबाद का एक्यूआई बेहद खराब

पराली के धुएं का हिस्सा अचानक से बढ़ते ही दिल्ली-एनसीआर में प्रदूषण की चादर शनिवार को घनी हो गई। दिल्ली व फरीदाबाद में हवा की गुणवत्ता खराब और दूसरे शहरों की बेहद खराब स्तर में चली गई। वहीं, दिल्ली-एनसीआर का सबसे प्रदूषित इलाका शादीपुर रहा। यहां का वायु गुणवत्ता सूचकांक 360 तक चला गया। जबकि गाजियाबाद, ग्रेटर नोएडा, नोएडा व गुरुग्राम का सूचकांक 300 से ऊपर रिकॉर्ड किया।

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) की तरफ से शनिवार शाम 4:00 बजे जारी आंकड़ों के मुताबिक, शनिवार को दिल्ली का शादीपुर सबसे ज्यादा प्रदूषित रहा। इसके बाद गाजियाबाद का वायु गुणवत्ता सूचकांक बेहद खराब स्तर में 349 रिकार्ड किया गया। एनसीआर के दूसरे शहरों की हालात भी बेहतर नहीं थी। ग्रेटर नोएडा का सूचकांक 330, नोएडा का 312 व गुरुग्राम का 308 रिकॉर्ड किया। थोड़ी सहूलियत दिल्ली व फरीदाबाद को मिली। दोनों शहरों की हवा की गुणवत्ता खराब स्तर में रही।

एनसीआर के सभी शहरों की हवा बहुत खराब
दूसरी तरफ राजधानी में शनिवार को सबसे प्रदूषित इलाका शादीपुर रहा है। यहां का वायु गुणवत्ता सूचकांक 360 दर्ज किया गया है। इसके अलावा 10 से अधिक इलाकों की वायु गुणवत्ता बहुत खराब श्रेणी में रही। दिल्ली का औसतन वायु गुणवत्ता सूचकांक 284 दर्ज किया गया है। वहीं, एनसीआर के सभी शहरों की हवा बहुत खराब श्रेणी में दर्ज हुई। इस वजह से दिनभर सड़कों पर दृश्यता का स्तर कम रहने के साथ आंखों में जलन के अलावा अन्य स्वांस्थ्य संबंधी परेशानी से गुजरना पड़ा।

पराली का धुंआ बढ़ा, बिगड़ी हवा
सफर इंडिया के मुताबिक, पराली के धुएं का स्तर शनिवार को अचानक से बढ़ गया। इसका सीधा असर वायु गुणवत्ता पर पड़ा। बीते 24 घंटे में पड़ोसी राज्यों में 1572 जगहों पर पराली जलने की घटनाएं दर्ज की गई हैं। प्रदूषण में इनकी हिस्सेदारी 14 फीसदी दर्ज की गई है। पिछले दिनों पीएम-10 का स्तर दिल्ली में प्रदूषण का मुख्य कारण बना हुआ था, लेकिन इन दिनों पीएम-2.5 का स्तर प्रदूषण में अधिक हिस्सेदारी दर्ज करा रहा है। मानक 100 व 60 की तुलना में शनिवार को पीएम 10 का स्तर 253 (खराब) व पीएम  2.5 का स्तर 125 (बहुत खराब) माइक्रोग्राम प्रतिघन मीटर दर्ज किया गया है। 
... और पढ़ें
सांकेतिक तस्वीर सांकेतिक तस्वीर

दिल्ली: गृह मंत्रालय के परामर्श से पुलिस आयुक्त ने किया ऑडिट, 500 कर्मियों को सुरक्षा कर्तव्यों से किया मुक्त

गृह मंत्रालय के निर्देश पर दिल्ली पुलिस आयुक्त राकेश अस्थाना ने पुलिस खेमे में कई तरह की सुधारात्मक कार्रवाई की है। इसके तहत मंत्रालय के परामर्श से किए गए दिल्ली पुलिस का ऑडिट किया गया। 

सिक्योरिटी ऑडिट में यह पाया गया कि दिल्ली पुलिस के कुछ सेवारत और सेवानिवृत्त अधिकारियों के पास हर समय के लिए निजी सुरक्षा अधिकारी हैं। इनका काम न केवल अधिकारियों बल्कि उनकी पत्नियों और बड़े हो चुके बच्चों की भी सुरक्षा करना है। 

कुछ पुलिस अधिकारियों को तो बिना किसी खतरे का आकलन किए सुरक्षा प्रदान की गई थी। इसके बाद दिल्ली पुलिस के 500 से अधिक कर्मियों को सुरक्षा कर्तव्यों से मुक्त कर दिया गया है।
... और पढ़ें

Gurugram News: खुले में नमाज को लेकर फिर शुरू हुआ विरोध, लोगों ने भजन-कीर्तन करते हुए दर्ज कराई आपत्ति

गुरुग्राम के सेक्टर-47 में खुले स्थान पर नमाज पढ़ने के विरोध का मामला थमने का नाम नहीं ले रहा है। सामुदायिक केंद्र में शुक्रवार को आरडब्ल्यूए के बुलाने पर लोग फिर से एकत्रित हुए। उसके बाद वे भजन कीर्तन करते हुए नमाज पढ़ने वालों के पास तक जाना चाहते थे, लेकिन मौके पर तैनात पुलिस ने उन्हें बीच में रोक लिया। नमाज खत्म होने के बाद दोनों पक्ष के लोग वापस अपने घर चले गए।

आरडब्ल्यूए अध्यक्ष सुनील यादव ने बताया कि रेजीडेंट की ओर से इस सेक्टर में नमाज पढ़ने का विरोध किया जा रहा है। बीते चार शुक्रवार से लोग सामुदायिक केंद्र में एकत्रित होते हैं और मौके पर पहुंच कर अपना विरोध दर्ज कराते हैं। दोपहर 12 बजे के आसपास लोग यहां एकत्रित हुए। वहां से ऑडियो बजाते हुए भजन कीर्तन करते मैदान में पहुंचे। लोगों के हाथों में तख्ती थी। जिस पर खुले में नमाज पढ़ने वालों के लिए विरोध दर्ज था।

दोनों पक्षों की हुई थी बैठक
प्रशासन इस मामले को तेजी से सुलझाने में जुटा हुआ है। बुधवार को दोनों पक्ष के लोगों को बुलाया गया था। आरडब्ल्यूए के प्रधान सुनील यादव ने बताया कि नमाज पढ़ने वालों को सेक्टर से कुछ दूरी पर खाली स्थान पर नमाज पढ़ने के लिए स्थान की जानकारी प्रशासन को दी गई है। जबकि दूसरे पक्ष के लोग इस बात पर अड़े हैं कि वह नमाज कहां पढ़ें।

मामला मुख्यमंत्री दरबार तक
सेक्टर-47 में नमाज पढ़ने का विरोध होने पर एक पक्ष के लोग कुछ दिन पहले मुख्यमंत्री मनोहर लाल से मुलाकात की है। इसमें उन्होंने नमाज पढ़ने के लिए जगह की बात की और आरडब्ल्यूए की ओर से हो रहे विरोध की बात कही है। मुख्यमंत्री से मिलने वाले प्रतिनिधिमंडल को भरोसा दिया कि जल्द ही कोई विकल्प निकाला जाएगा।

गुरुग्राम सदर एसीपी अमन यादव ने बताया कि सेक्टर-47 में नमाज पढ़ने वालों का कुछ लोगों ने विरोध किया। उनको बीच में रोका गया था। शांतिपूर्वक नमाज पढ़ने के बाद लोग अपने-अपने घर चले गए। मामला प्रशासन के संज्ञान में है। जल्द ही प्रशासन की ओर से कोई निर्णय लिया जायेगा।
... और पढ़ें

फरीदाबाद: सीकरी स्थित निजी कंपनी में फटा बॉयलर, झुलसने से दो श्रमिकों की हालत गंभीर

खुले में नमाज का विरोध करते लोग
फरीदाबाद के सीकरी स्थित एक निजी कंपनी में शनिवार सुबह बॉयलर फटने से दो-तीन श्रमिक झुलस गए। झुलसे हुए लोगों को बीके अस्पताल में भर्ती कराया गया है। फिलहाल पुलिस मामले की जांच में जुट गई है।

जानकारी के अनुसार ऑटो मैक्स कंपनी में सुबह दस बजे अचानक बॉयलर फट गया। इसमें नीरज और तरूण नामक श्रमिक झुलस गए। दोनों को पास के अस्पताल में भर्ती कराया गया। यहां से नीरज को बीके अस्तपाल में रेफर कर दिया गया। 

बताया जा रहा है कि कंपनी में तेल बनाने का काम होता है। शनिवार सुबह काम शुरू होते की बॉयलर फट गया। इस दौरान दो श्रमिक इसकी चपेट में आने से झुलस गए। हादसे की सूचना मिलते ही पुलिस समेत अन्य अधिकारी मौके पर पहुंच गए।
... और पढ़ें

गुरुग्राम: अमेरिका में बसने के लिए बेची जायदाद, ठगों के चक्कर में डूबे 5.24 करोड़ रुपये

श्रम मंत्रालय से सेवानिवृत्त बुजुर्ग एस बालाकृष्णन को निवेश पर 24 फीसदी रिटर्न का झांसा देकर 2.24 करोड़ ठगने वाले तमिल एन्क्लेव पालम निवासी अंकित ठाकुर (29) और हरियाणा में गुरुग्राम के भोंडसी विनोद आर्य (28) को आर्थिक अपराध शाखा ने गिरफ्तार किया है। एस बालाकृष्णन भारत की अपनी संपत्ति बेचकर अमेरिका में बसे अपने बच्चों के पास जाना चाहते थे। ठगों ने वेबसाइट प्रोडक्शन में निवेश पर अच्छे रिटर्न का झांसा देकर उनसे रकम ठग ली।

शाखा के अतिरिक्त पुलिस आयुक्त आरके सिंह ने बताया कि एस बालाकृष्णन और उनकी पत्नी कल्याणी बालाकृष्णन ने वर्ष 2021 में शिकायत दर्ज कराई कि अपनी गाढ़ी कमाई लेकर और देश की संपत्ति बेच बच्चों के पास अमेरिका जाने के उनके इरादे की जानकारी मेसर्स इकोनसेलर वेबटेक प्राइवेट लिमिटेड के निदेशकों अंकित ठाकुर और विनोद आर्य को मिल गई। 

दोनों ने उनसे मुलाकात की और उन्हें 24 फीसदी रिटर्न का झांसा देकर 5.24 करोड़ निवेश के लिए राजी कर लिया। उन्होंने दंपती से कहा कि उनके पैसे को वेबसाइट प्रोडक्शन में निवेश करेंगे। इसपर दंपती ने कंपनी में निवेश कर दिया। कंपनी ने विश्वास दिलाने के लिए उन्हें सात पोस्ट डेटेड चेक दिए। बैंक में डालने पर ये सभी बाउंस हो गए। इसके बाद उन्होंने शाखा में शिकायत की। 

जांच में पता चला कि चेक फर्जी कंपनी के नाम से जारी किए गए थे। बाउंस होने के बाद आरोपियों ने बुजुर्ग के दृष्टिहीन होने का फायदा उठाकर इन्हें बदल दिया। पुलिस ने बुधवार को अंकित ठाकुर को द्वारका से गिरफ्तार किया। उसकी निशानदेही पर गुरुग्राम से विनोद को पकड़ा गया। 

पुलिस ने बताया कि दोनों 12वीं तक पढ़े हैं और पुराने दोस्त हैं। मेसर्स इकोनसेलर वेबटेक प्राइवेट लिमिटेड नाम से कंपनी शुरू कर उन्होंने वेबसाइट डेवलपमेंट का काम शुरू किया। दोनों इस कंपनी के निदेशक और अधिकृत हस्ताक्षरकर्ता हैं, जहां पीड़ितों से रकम ली गई थी।
... और पढ़ें

दिल्ली: इस साल तीन लाख से अधिक लोगों ने किया कोरोना नियमों का उल्लंघन, मास्क नहीं पहनने वाले शीर्ष पर

दिल्ली विश्वविद्यालय : स्नातक पाठ्यक्रमों के लिए तीसरी कटऑफ जारी, सोमवार से गुरुवार तक होंगे दाखिले

दिल्ली विश्वविद्यालय (डीयू) के स्नातक पाठ्यक्रमों के लिए तीसरी कटऑफ शनिवार को जारी हो गई। बताया जा रहा है कि यह आखिरी कटऑफ हो सकती है। सोमवार से गुरुवार तक विद्यार्थी दाखिले के लिए आवेदन कर सकते हैं। शनिवार देर रात 11:59 बजे तक फीस जमा कराने का अवसर रहेगा। डीयू प्रशासन की सलाह है कि इस कटऑफ में दाखिले के ज्यादा अवसर हैं। विद्यार्थी इस बार चूके तो अन्य कटऑफ में दाखिले के अवसर बहुत कम हो जाएंगे। इससे उन्हें मुश्किल होगी।

डीयू प्रशासन के मुताबिक, दूसरी कटऑफ के तहत शुक्रवार तक 51974 विद्यार्थियों ने दाखिले के लिए फीस जमा कर दी है। इसके बाद फीस भुगतान के लिए गेटवे बंद कर दिया गया था। गेटवे अब तीसरी कटऑफ की फीस भुगतान के लिए ही खोला जाएगा। तीसरी कटऑफ में दाखिले के लिए आवेदन 18 अक्तूबर सुबह 10 बजे से 21 अक्तूबर रात 11:59 बजे तक कर सकते हैं। कॉलेजों को 22 अक्तूबर शाम 5 बजे तक योग्य छात्रों का दाखिला मंजूर करना होगा। विद्यार्थी 23 अक्तूबर की शाम 5 बजे तक दाखिले की फीस जमा कर सकेंगे।

स्पेशल कटऑफ की घोषणा करेगा डीयू
तीसरी कटऑफ के बाद डीयू स्पेशल कटऑफ की घोषणा करेगा। इसमें केवल उन्हीं छात्रों को दाखिला दिया जाएगा, जिन्हें शुरुआती तीन कटऑफ में नहीं मिला है। ऐसे में वे स्पेशल कटऑफ में दाखिले के लिए आवेदन कर सकते हैं। हालांकि, स्पेशल कटऑफ को भी सभी पाठ्यक्रमों के लिए अमूमन तीसरी कटऑफ के बराबर ही रखा जाएगा। केवल कुछ कॉलेज कुछ विषयों में 0.5 से लेकर एक फीसदी का अंतर कर सकते हैं। 

अपनी सीट पक्की कर लें छात्र
डीयू में आगे दाखिले की राह इसलिए भी मुश्किल होती जा रही है, क्योंकि अब केवल किसी के दाखिला निरस्त कराने या फिर किसी और विश्वविद्यालय में प्रवेश मिलने पर ही डीयू में सीट खाली होगी। डीयू प्रशासन के मुताबिक, हर वर्ष कई ऐसे छात्र होते हैं, जिन्हें प्रवेश परीक्षा के आधार पर दूसरे विश्वविद्यालय में दाखिला मिल जाता है। हालांकि उनकी संख्या सीमित होती है। इसलिए छात्र तीसरी कटऑफ में दाखिले से न चूकें और अपनी सीट पक्की कर लें।

सभी कॉलेजों की कटऑफ में हल्की गिरावट
डीयू की तीसरी कटऑफ से चूकने के बाद विद्यार्थियों के पास अंतिम रूप से एनसीवेब या एसओएल में दाखिले का अवसर होगा। इसके बाद सभी कॉलेजों की कटऑफ में हल्की गिरावट होगी। ऐसे में अधिक अंक वाले जिन छात्रों ने सीट पक्की नहीं की होगी, उनके पास आखिरी मौका एनसीवेब या एसओएल रह जाएगा।
... और पढ़ें
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00