बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

सीबीएसई 12वीं परिणाम: कक्षा 10वीं व 11वीं के अंक जोड़ना क्यों जरूरी, जानिए बोर्ड ने क्या कहा

एजुकेशन डेस्क, अमर उजाला Published by: वर्तिका तोलानी Updated Fri, 18 Jun 2021 11:48 AM IST

सार

छात्रों और अभिभावकों के एक वर्ग ने कक्षा 11वीं के आंतरिक अंकों को शामिल करने पर चिंता व्यक्त की है।
विज्ञापन
CBSE 12th board exam 2021
CBSE 12th board exam 2021 - फोटो : social media
ख़बर सुनें

विस्तार

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने गुरुवार को कक्षा 12वीं के परिणाम मूल्यांकन मानदंड की घोषणा कर दी है। सीबीएसई द्वारा आधिकारिक वेबसाइट पर जारी अधिसूचना के अनुसार कक्षा बारहवीं के विद्यार्थियों का परिणाम तैयार करने के लिए कक्षा दसवीं का 30, ग्यारहवीं का 30 और बारहवीं के प्री-बोर्ड व इंटरनल असेस्मेंट का 40 फीसदी लिया जाएगा। इससे कई विद्यार्थी खुश नहीं हैं। छात्रों और अभिभावकों के एक वर्ग ने कक्षा 11वीं के आंतरिक अंकों को शामिल करने पर चिंता व्यक्त की है। उनका कहना है कि बोर्ड ने पिछले साल के अंकों को क्यों शामिल किया है, केवल कक्षा 12 के इंटरनल अंकों को क्यों आधार नहीं बनाया गया है?" 

विज्ञापन
विज्ञापन
आगे पढ़ें

कक्षा 10 और 11 के अंकों की क्या आवश्यकता थी?

विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें शिक्षा समाचार आदि से संबंधित ब्रेकिंग अपडेट।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us