Hindi News ›   Education ›   Success Story Kanishka Singh cleared upsc civil services exam in her second attempt and learnt from her mistakes 

Success Story: दूसरे ही प्रयास में आईएफएस बनीं कनिष्का सिंह, जानिए कैसे पाई सफलता

एजुकेशन डेस्क, अमर उजाला Published by: राहुल मानव Updated Wed, 26 Jan 2022 08:35 AM IST

सार

वर्ष 2017 में प्रारंभिक परीक्षा में विफल होने के बाद भी कनिष्का सिंह ने अपनी तैयारी जारी रखी। वर्ष 2018 में यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा उत्तीर्ण करते हुए बनी आईएफएस अधिकारी। 
कनिष्का सिंह, आईएफएस अधिकारी
कनिष्का सिंह, आईएफएस अधिकारी - फोटो : Social Media
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

विफलता पाने के बाद भी कामयाबी की तरफ कदम नहीं डगमगाए। अपनी कोशिश जारी रखते हुए सफलता हासिल की, कुछ इसी तरह की कहानी है भारतीय विदेश सेवा (आईएफएस) अधिकारी कनिष्का सिंह की जिंदगी की। उन्होंने दूसरे प्रयास में वर्ष 2018 में यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा को उत्तीर्ण की थी। मूल रूप से दिल्ली की रहने वाली कनिष्का सिंह अब रूस की राजधानी मॉस्को में भारतीय दूतावास में काम कर रही हैं।

विज्ञापन

उन्होंने दिल्ली विश्वविद्यालय (डीयू) के लेडी श्रीराम कॉलेज से मनोविज्ञान में स्नातक की पढ़ाई की है। उन्होंने पहली बार वर्ष 2017 में यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा दी थी। हालांकि, उसमें वह विफल रहीं थीं। वर्ष 2018 में अपने दूसरे प्रयास में वह सफल रहीं। उन्होंने अपने पहले प्रयास में की गई गलतियों से सीखते हुए सफलता पाई। कनिष्का सिंह ने आईएएस अधिकारी अनमोल सागर से शादी की है। 

नहीं पास कर पाई थी प्रारंभिक परीक्षा 

हार न मानने का जज्बे के साथ कनिष्का सिंह अपनी तैयारी करती रहीं। वर्ष 2017 में वह यूपीएससी की प्रारंभिक परीक्षा भी पास नहीं कर पाई थीं। उनका कहना है कि उस समय वह अच्छे तरीके से परीक्षा की तैयारी नहीं कर पाई थीं। कई मॉक टेस्ट ना देना काफी नुकसानदायक रहा। उन्होंने अपनी गलतियों को देखा, उससे काफी कुछ सीखकर दोबारा परीक्षा की तैयारी की। 

मॉक टेस्ट पर ध्यान दें अभ्यर्थी 

कनिष्का सिंह ने यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी करने वाले अभ्यर्थियों को सलाह दी है कि वह मॉक टेस्ट को दें और उसमें की गई गलतियों पर ध्यान देते हुए तैयारी करें। मॉक टेस्ट से अभ्यर्थियों को अपनी गलतियों से सीखने में मदद मिलेगी। इससे उनके यूपीएससी परीक्षा में सफल होने के अवसर अधिक बढ़ जाएंगे। 

एक समय पर एक ही विषय पर ध्यान लगाएं

कनिष्का सिंह ने अपने कई साक्षात्कारों में कहा है कि यूपीएससी मुख्य परीक्षा के लिए उत्तर लेखन बहुत महत्वपूर्ण है। उम्मीदवार इस पर अभ्यास करते रहें और एक समय में एक ही विषय पर ध्यान केंद्रित करें। उम्मीदवारों को अपनी क्षमता के अनुसार यूपीएससी परीक्षा की तैयारी करनी चाहिए। उत्तर को लगातार संशोधित करना और लिखना महत्वपूर्ण है और साथ ही समय के प्रबंधन पर भी अच्छी तरह से ध्यान देते रहें।
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

सबसे विश्वसनीय Hindi News वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें शिक्षा समाचार आदि से संबंधित ब्रेकिंग अपडेट।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00