लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Education ›   Two pg student at Assam Medical College in Dibrugarh suspended for six months in ragging case

असम: मेडिकल कॉलेज में रैगिंग का मामला, दो छात्र छह महीने के लिए निलंबित

एजुकेशन डेस्क, नई दिल्ली Published by: सौरभ पांडेय Updated Tue, 29 Nov 2022 04:16 PM IST
सार

Assam Medical College Ragging: असम में डिब्रूगढ़ विश्वविद्यालय के मेडिकल कॉलेज में पोस्ट-ग्रेजुएशन की पढ़ाई कर रहे दो डॉक्टरों को छह महीने के लिए निलंबित कर दिया गया है। 
 

Assam Medical College in Dibrugarh
Assam Medical College in Dibrugarh - फोटो : सोशल मीडिया
विज्ञापन

विस्तार

Ragging Case : असम मेडिकल कॉलेज में पोस्ट-ग्रेजुएशन की पढ़ाई कर रहे दो छात्रों को छह महीने के लिए निलंबित कर दिया गया है। इसके साथ ही उन्हें छात्रावास से भी निष्कासित कर दिया गया है। असम मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ. संजीब काकती ने कहा कि एक जूनियर छात्र और उसके परिवार की शिकायत मिलने के बाद संस्थान ने तुरंत कार्रवाई की। काकती ने कहा, "अगर चीजों को बिगड़ने से पहले संभाला जा सकता है, तो बहुत कुछ रोक सकते हैं। हम जूनियर छात्रों की रैगिंग या उत्पीड़न की किसी भी घटना को लेकर बहुत सख्त हैं और हम ऐसी किसी भी गतिविधि को बर्दाश्त नहीं करते हैं।





 

जूनियर पीजी छात्रों की रैगिंग का आरोप

प्राचार्य डॉ. संजीब काकती ने बताया कि पूर्वोत्तर के सबसे पुराने मेडिकल कॉलेज की एंटी-रैगिंग कमेटी (एआरसी) ने आर्थोपेडिक्स विभाग के दो स्नातकोत्तर छात्रों को जूनियर पीजी छात्रों को शारीरिक और मानसिक रूप से परेशान करने का दोषी पाया। "यह निंदनीय है। इसलिए, समिति की सिफारिश पर दोषी पीजी छात्रों पर अनुशासनात्मक कार्रवाई की गई है। उन्होंने कहा कि 21 नवंबर को एक आदेश जारी किया गया था और दोनों को तत्काल छात्रावास से निष्कासित कर दिया गया और छह महीने के लिए कक्षाओं में भाग लेने और शैक्षणिक विशेषाधिकारों से भी निलंबित कर दिया गया है। प्रधानाचार्य ने कहा, "हमने कुछ दिन पहले इस मेडिकल कॉलेज की प्लेटिनम जयंती मनाई थी। यह सिर्फ एक संस्थान नहीं है, बल्कि एक भावना है। हम ऐसी किसी भी चीज की अनुमति नहीं दे सकते हैं जो इस संस्थान के नाम और प्रसिद्धि को धूमिल कर सके।

पहले भी हुई थी ऐसी घटना

इससे पहले डिब्रूगढ़ विश्वविद्यालय में अधिकारियों द्वारा सोमवार को 18 छात्रों को कथित रूप से रैगिंग के आरोप में निष्कासित कर दिया गया था। जिसके बाद शहर में यह दूसरी घटना है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, असम में डिब्रूगढ़ विश्वविद्यालय के एमकॉम प्रथम सेमेस्टर के छात्र आनंद सरमा ने रैगिंग से बचने के लिए छात्रावास की दूसरी मंजिल से छलांग लगा दी थी। जिसे रीढ़ की हड्डी और हाथ में फ्रैक्चर होने के बाद गहन चिकित्सा इकाई में भर्ती कराया गया था। विश्वविद्यालय के छात्रावास के कुछ छात्रों द्वारा छात्र आनंद सरमा को कथित रूप से शारीरिक और मानसिक रूप से प्रताड़ित किया गया था। प्रताड़ित किए जाने के डर से घबराकर आनंद ने रैगिंग से बचने के लिए छात्रावास की इमारत से छलांग लगा दी। जिससे उसे काफी चोटें आईं। उसे गंभीर हालत में शहर के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया है। परिजनों की शिकायत के बाद पुलिस ने मामले में आईपीसी की धारा 120बी/341/395/307/143 के तहत एफआईआर दर्ज की है। शहर पुलिस अधीक्षक ने बताया कि रैगिंग, लूट और हत्या के प्रयास में एक आरोपी निरंजन ठाकुर की गिरफ्तारी हुई है जबकि तीन अन्य को हिरासत में लिया गया है।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

सबसे विश्वसनीय Hindi News वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें शिक्षा समाचार आदि से संबंधित ब्रेकिंग अपडेट।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00