महाशिवरात्रि पर 21 साल बाद शिव योग, शुभ मुहूर्त

ब्यूरो/अमर उजाला, चंडीगढ़ Updated Sun, 06 Mar 2016 04:01 PM IST
महाशिवरात्रि
महाशिवरात्रि - फोटो : फाइल फोटो
विज्ञापन
ख़बर सुनें
महाशिवरात्रि पर इस वर्ष शिव योग बन रहा है। सोमवार को दोपहर एक बजकर 21 मिनट पर चतुर्दशी शुरू होगी। सेक्टर-30 स्थित भृगु ज्योतिष केंद्र के प्रमुख बीरेंद्र नारायण मिश्र ने बताया कि सोमवार को त्रयोदशी तिथि में चतुर्दशी तिथि शुरू हो तो शिव नामक योग बनता है। यह बहुत ही शुभ माना गया है।
विज्ञापन


शिवयोग की समाप्ति और मध्यरात्रि में साध्य नामक योग आ जाए तो इसको महारात्रि के नाम से जाना जाता है। इस महारात्रि को महाजयंती शिवरात्रि कहते हैं। मिश्र ने बताया कि इस रात्रि के द्वितीय प्रहर में भगवान शिव का अभिषेक करने से हर प्रकार की मनोकामना पूरी होती है। ऐसा योग 21 वर्ष के बाद आया है।


जय श्री राम ज्योतिष केंद्र के प्रमुख स्वामी राम बहादुर मिश्र, देवालय पूजक परिषद के कोषाध्यक्ष और सेक्टर-18 के श्री राधा कृष्ण मंदिर के पुजारी डॉ. लाल बहादुर दुबे, सेक्टर-30 के शिव शक्ति मंदिर के प्रमुख पुजारी श्याम सुंदर शास्त्री के अनुसार महाशिवरात्रि को चार प्रहर की पूजा होती है।

चार प्रहर की पूजा का समय
प्रथम प्रहर की पूजा -शाम 6:21 बजे से रात 9:40 बजे तक
द्वितीय प्रहर की पूजा -रात 9:40 बजे से रात 12:20 बजे तक
तृतीय प्रहर की पूजा- रात 12:20 बजे से सुबह 3:40 बजे तक
चतुर्थ प्रहर की पूजा- सुबह 3:40 बजे से सुबह 6:47 बजे तक

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00