बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP
विज्ञापन
विज्ञापन
ग्रह दोष होंगे समाप्त, इस सावन करवाएं विशेष नवग्रह पूजन, फ़्री में, अभी बुक करें
Myjyotish

ग्रह दोष होंगे समाप्त, इस सावन करवाएं विशेष नवग्रह पूजन, फ़्री में, अभी बुक करें

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

विज्ञापन
Digital Edition

गोरखपुर: दिनदहाड़े सेक्रेटरी की बाइक सवार बदमाशों ने कर दी हत्या, तीन महीने पहले हुई थी शादी

गोरखपुर जिले के गोला थाना क्षेत्र के गोपालपुर चौराहे पर शनिवार को दिनदहाड़े दो बाइक से आए चार बदमाशों ने उरुवा क्षेत्र में तैनात सेक्रेटरी अनीश चौधरी (32) पर धारदार हथियार से हमला करके हत्या कर दिए। घायल हालत में उन्हें अस्पताल भी पहुंचाया गया था लेकिन डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया।

घटना की सूचना मिलते ही एसपी साउथ अरुण कुमार सिंह फोर्स के साथ मौके पर पहुंच गए। मृतक के बड़े भाई व पूर्व प्रधान अनिल ने अनीश की पत्नी के घरवालों पर हत्या का आरोप लगाया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

आरोप है कि अनीश ने गोला क्षेत्र में सेक्रेटरी पद पर तैनात दीप्ति मिश्रा से प्रेम विवाह किया था। तीन महीने पहले ही शादी हुई थी। शादी से दीप्ति के परिजन खुश नहीं थे। इसलिए दोनों परिवारों में दुश्मनी थी। पहले भी अनीश के ऊपर हमला हुआ था।

जानकारी के मुताबिक, गोला थाना क्षेत्र के उनौली गांव निवासी पूर्व ग्राम प्रधान अनिल के भाई व उरूवा ब्लॉक में तैनात सेक्रेटरी अनीश चौधरी उर्फ पिंटू अपने गांव के एक व्यक्ति के साथ शनिवार की दोपहर में कार से गोपलापुर चौराहे पर स्थित एक बिल्डिंग मैटेरियल की दुकान पर बकाया रुपये का हिसाब करने गए थे।

इसी दौरान उनके मोबाइल पर कोई फोन आया और बात करते हुए दुकान के बाहर सड़क पर आ गए। इस बीच उरूवा की तरफ से दो बाइक पर सवार चार बदमाश आए और अनीश के ऊपर धारदार हथियार से हमला कर दिया। बाइक चला रहे दोनों हमलावर हेलमेट लगाए थे तो वहीं पीछे बैठे बदमाश चेहरा बांधे हुए थे। उन्होंने अपने हाथ में धारदार हथियार (दाव) लिया था।

 
... और पढ़ें
मृतक की पत्नी से बात करते एसपी। मृतक की पत्नी से बात करते एसपी।

कुशीनगर: एक ही घर से निकले 41 कोबरा सांप को देख कांप गए लोग, वन विभाग से नहीं मिली सहायता, ग्रामीणों ने उठाया ये कदम

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर जिले में एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। यहां एक घर से 41 सांप निकले हैं। यह सांप पूरे क्षेत्र में कौतूहल का विषय बने हुए हैं। बताया जा रहा है कि घर के अंदर से एक के बाद एक सांप निकलने से गांव में दहशत फैल गई है। हालांकि इन सांपों को लोगों ने मार दिया है, लेकिन और भी सांप होने की आशंका से लोग भयभीत हैं।

मामला रामकोला क्षेत्र के अमडरिया गांव का है। यहां निवासी विनोद गुप्ता के घर से एक-एक कर 41 से अधिक विषैले सांप निकलने से आसपास के घरों में रह रहे लोगों में भय व्याप्त हो गया। यह सभी कोबरा प्रजाति के सांप थे।  ग्रामीणों ने बताया कि विनोद के घर में शुक्रवार को भी तीन सांप निकले थे, जिन्हें गृहस्वामी ने मार दिया। उसके बाद शनिवार को फिर से एक सांप निकला तो गृहस्वामी को लगा कि वहां और भी सांप हो सकते हैं। उन्होंने अपने घर की जमीन खोदी तो दृश्य देखकर होश उड़ गए, क्योंकि उसमें एक-एक कर 41 से अधिक सपोले और अंडे मिले। आगे की स्लाइड्स में देखें तस्वीरें...




 
... और पढ़ें

आस रह गई अधूरी: आखिरकार सीएम से नहीं मिल सके रामअवध, जिंदा होने के दे रहे थे सबूत

देवरिया जिले के डाला गांव के रामअवध आखिरकार सीएम से मिलकर अपना दुखड़ा नहीं रो पाए। शनिवार की सुबह पुलिस ने उन्हें अपनी कस्टडी में ले लिया। सुबह नौ बजे से कोतवाली पुलिस उन्हें थाने लाई और सीएम का कार्यक्रम समाप्त होने के बाद जाने दिया। इस दौरान पुलिस ने उनकी खूब मेहमान नवाजी की।

रामअवध का करीब 10 घंटे थाने में आवभगत होता रहा। उन्हें कुर्सी पर बैठाया गया। चाय नाश्ता कराने के बाद पुलिस मेस में खाना खिलाया गया। एसडीएम संजीव कुमार ने उन्हें न्याय दिलाने का आश्वासन दिया। राजस्व अभिलेख में मर चुके डाला गांव के रामअवध तीन साल से अपने जिंदा होने का सबूत लेकर घूम रहे हैं।

सीएम के देवरिया आने की सूचना पर वह अपने गले में सीएम साहब मै जिंदा हुं का स्लोगन लिखा, तख्ती लटका कर घूमने लगे। उनके सीएम से मिलने का ऐलान करते ही प्रशासनिक अमले में खलबली मच गई। अमर उजाला अखबार में रामअवध की खबर प्रकाशित होने और अमर उजाला के डिजिटल वेबसाइट पर खबर चलने के बाद देवरिया से लखनऊ तक के अधिकारियों के फोन घनघनाने लगे।

शुक्रवार की रात 10 बजे से रामअवध को पुलिस ढूंढ़ने लगी। शनिवार की सुबह कोतवाली प्रभारी बृजेश कुमार मिश्र को वह रामचक गांव में मिले। कोतवाली प्रभारी ने उन्हें एसडीएम के समक्ष पेश किया। रामअवध ने एसडीएम से अपनी पूरी कहानी बताई। एसडीएम संजीव कुमार उपाध्याय ने कहा कि रामअवध को न्याय दिलाने की कार्यवाही शुरू कर दी गई है। वह राजस्व अभिलेख में दोबारा जिंदा हो जाएंगे।

उल्लेखनीय है कि अमर उजाला रामअवध के साथ हो रही नाइंसाफी की कहानी सात दिनों से लगातार प्रकाशित कर रहा है। आरोप है कि 40 साल पहले कमाने गांव से निकले रामअवध को मृतक दिखाकर पट्टीदार ने जमीन हड़प ली है। वह तीन साल से अपने जिंदा होने का केस तहसीलदार न्यायालय में लड़ रहे हैं।


 
... और पढ़ें

सिद्धार्थनगर में पीएम मोदी का दौरा: कार्यक्रम से पहले भारत-नेपाल सीमा पर अलर्ट, सीमा पर रखी जा रही नजर

सिद्धार्थनगर जिले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आगमन को देखते हुए भारत-नेपाल सीमा पर अलर्ट जारी कर दिया गया है। सीमावर्ती पांच थानों की पुलिस के अलावा सुरक्षा एजेंसियों सतर्क हो गई हैं। सीमापार से हर आने-जाने वालों पर पैनी नजर रखी जा रही है। साथ ही संदिग्ध दिखने वालों का नाम, पता और आने का कारण जनाने के बाद ही सीमा में प्रवेश करने दिया जा रहा है। इसके अलावा बार्डर पर कई अन्य टीम अपने स्तर से जांच में लगी हुई है।

भारत-नेपाल 68 किलोमीटर सीमा पूरी तरह से खुली हुई है। देश विरोधी गतिविधियों को देखते हुए सीमा पर देश के किसी भी हिस्से में अप्रिय घटना होने या फिर किसी बड़े आयोजन पर सीमा पर सतर्कता बढ़ जाती है। 30 जुलाई को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जिले में मेडिकल कॉलेज उद्घाटन का कार्यक्रम का प्रस्तावित है। प्रधानमंत्री के कार्यक्रम को देखते हुए सीमा पर अलर्ट घोषित कर दिया गया है।

पीएम के कार्यक्रम की आहट के बाद से ही सीमा पर निगरानी तेज कर दी गई है। अलर्ट घोषित होने के बाद सीमावर्ती पांच थानों की पुलिस की सीमा पर 24 घंटे नजर है। पगडंड़ी सहित हर कच्चे, पक्के मार्ग पर पुलिस और सुरक्षा एजेंसियां निगाह जमाए हुए है। पल-पल नजर रखा जा रहा है।

 
... और पढ़ें

गुरु पूर्णिमा: गोरक्ष पीठाधीश्वर सीएम योगी ने भक्तों को दिया आशीर्वाद, देखें वीडियो

भारत-नेपाल सीमा।

यूपी: देवरिया में बोले सीएम योगी, हर जिले में होगा मेडिकल कॉलेज, पीएम मोदी करेंगे उद्घाटन

देवरिया में प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेश के सभी जिलों में वर्ष 2022 तक मेडिकल कॉलेज बन जाएगा। जिन जिलों में मेडिकल कॉलेज नहीं है, वहां छह माह के अंदर पीपीपी मॉडल पर मेडिकल कॉलेज खोला जाएगा। मुख्यमंत्री शनिवार को महर्षि देवरहा बाबा स्वशासी राज्य चिकित्सा महाविद्यालय देवरिया का निरीक्षण करने के बाद पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि 1947 से वर्ष 2016 के बीच प्रदेश में 12 मेडिकल कॉलेज थे, लेकिन वर्तमान में 32 मेडिकल कालेज स्वीकृत हैं। इनमें अधिकतर का निर्माण पूर्ण हो चुका है। नेशनल मेडिकल काउंसिल के निरीक्षण के बाद देवरिया सहित नौ मेडिकल कॉलेेेजों में प्रथम सत्र में पढ़ाई का शुभारंभ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 30 जुलाई को सिद्धार्थनगर की धरती से करेंगे।

उन्होंने कहा कि वर्ष 2021-22 में 14 मेडिकल कॉलेज और बनाए जाएंगे। सिर्फ 16 जनपद ऐसे बचेंगे, जहां मेडिकल कॉलेज नहीं है। इनमें मऊ, बलिया, महराजगंज, संतकबीर नगर आदि जिले शामिल हैं। यहां छह माह के अंदर पीपीपी मॉडल पर मेडिकल कॉलेज बनाया जाएगा। प्रदेश में 75 मेडिकल कॉलेज होने का गौरव तब प्राप्त होगा जब केंद्र और प्रदेश में एक ही विचारधारा की सरकार है। गोरखपुर और रायबरेली का एम्स बनकर तैयार है। अक्टूबर में प्रधानमंत्री के हाथों इसका शुभारंभ होना है।
... और पढ़ें

तस्वीरें: सीएम योगी ने गुरु पूर्णिमा पर महंत अवैद्यनाथ की उतारी आरती, जनता दरबार में सुनी फरियाद

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुरु पूर्णिमा पर शनिवार को गोरखनाथ मंदिर में ब्रह्मलीन महंत दिग्विजय नाथ व ब्रह्मलीन महंत अवैद्यनाथ की पूजा अर्चना की। वहीं गोरखनाथ मंदिर के हिंदू सेवाश्रम में मुख्यमंत्री योगी ने जनता दरबार में लोगों की फरियाद सुनी। इस दौरान सीएम ने सैकड़ों लोगों की समस्या सुनी। लोगों को भरोसा दिया कि उनकी समस्या का समाधान होगा। किसी के साथ अन्याय नहीं होने दिया जाएगा। मौके पर मौजूद अधिकारियों से कहा कि हर मामले का निपटारा सही तरीके से होना चाहिए।

बता दें कि शुक्रवार को जिले में तीन दिवसीय दौरे पर आए सीएम योगी ने कई कार्यक्रमों में हिस्सा लिया। मुख्यमंत्री योगी ने उप मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा के साथ गोरखपुर खाद कारखाना परिसर में वैदिक मंत्रोच्चार के बीच भूमि पूजन कर प्रदेश के पांचवें सैनिक स्कूल की आधारशिला रखी। रात्रि विश्राम के बाद शनिवार सुबह गुरु गोरखनाथ का दर्शन-पूजन किया। भ्रमण कर मंदिर की साफ-सफाई की व्यवस्था देखी। मंदिर में हो रहे निर्माण कार्य का भी जायजा लिया। इसके बाद वह गोशाला पहुंचे। आगे की स्लाइड्स में देखें तस्वीरें...
... और पढ़ें

महराजगंज: तेंदुए ने फिर दिया गांव में दस्तक, ऐसे बनाया बकरी को अपना शिकार

महराजगंज जिले के सोहगीबरवां वन्य जीव प्रभाग के निचलौल रेंज के ग्राम सभा बड़हरा चरगहां में दस दिनों के भीतर एक बार फिर शुक्रवार रात तेंदुए ने गांव के छावनी टोले पर दस्तक देकर एक बकरी को अपना शिकार बना लिया है। जिससे पूरे गांव में दहशत है। ग्रामीणों के अनुसार, घटना की जानकारी वन विभाग के उच्चाधिकारियों को सुबह दी गई थी। जिसके बाद उन्होंने वन रक्षक विश्राम प्रसाद को मौका मुआयना करने के लिए भेजा था।

कोठीभार थानाक्षेत्र के ग्राम सभा बड़हरा चरगहां के छावनी टोला निवासी सुदामा प्रसाद शुक्रवार की रात में भोजन करके अपने कमरे में सोने चले गए। देर रात दरवाजे पर बंधी बकरी के चिल्लाने की आवाज सुनकर उन्होंने अपनी खिड़की से देखा तो तेंदुआ बकरी को खींच कर गन्ने के खेत की तरफ ले जा रहा था। फिर वह तुरंत चिल्लाते हुए घर के बाहर निकले।

उनकी आवाज सुन गांव के हरिहंगी, रामरूप, पारस नाथ, दिवाकर, राजू, छोटे, दिग्विजय अपने हाथों में लाठी डंडे लिए हुए तेंदुए के पीछे दौड़ पड़े। लोगों की भीड़ आता देख तेंदुआ बकरी को गन्ने के खेत में छोड़कर जंगल की ओर भाग निकला। लेकिन तब तक बकरी मर चुकी थी।

ग्रामीणों के अनुसार, बीते 12 जून को भी तेंदुए ने बड़हरा चरगहां के बड़हरी फार्म स्थित एक पपीते के खेत मे छुट्टा बछड़े को अपना शिकार बना लिया था। घटना की जानकारी वन क्षेत्राधिकारी निचलौल को सुबह दे दी गई थी।

वन क्षेत्राधिकारी निचलौल जगरनाथ प्रसाद ने बताया कि घटना की जानकारी मिलते ही मौके पर वन रक्षक विश्राम प्रसाद को भेजा गया, ग्रामीणों की मदद से मृत बकरी को एक गड्ढा खोदकर उसी में दफना दिया गया था। गांव के लोगों को सतर्क रहने के लिए कहा गया है।
... और पढ़ें

मोस्ट वाटेंड: गोरखपुर जोन के सबसे बड़े बदमाश की तलाश में लखनऊ एसटीएफ, 2.50 लाख का इनामी है राघवेंद्र

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले के झंगहा का रहने वाला जोन के सबसे बड़े 2.50 लाख रुपये के इनामी बदमाश राघवेंद्र यादव को पकड़ने में पुलिस दिलचस्पी नहीं दिखाती है। इनाम बढ़ने पर एसटीएफ लखनऊ ने भी उसकी गिरफ्तारी पर काम शुरू कर दिया, लेकिन असल में जिस पहल को करके उसे पकड़ा जा सकता है, उस पर पुलिस काम ही नहीं करती है। यह सभी जानते है कि वह गोरखपुर ही नहीं, बल्कि भारत ही छोड़ चुका है और विदेश में रहता है।

जानकारी के मुताबिक, तीन साल पहले पुलिस अफसरों को भी इसकी भनक लग गई थी कि वह किसी और नाम पते से वीजा, पासपोर्ट हासिल कर विदेश जा चुका है, लेकिन यह जांच आगे नहीं बढ़ पाई। जबकि, खुद पुलिस ने ही उसे आखिरी बार कोलकाता हवाई अड्डे पर देखा था। तब पुलिस वहां तक पहुंच गई थी, लेकिन थोड़ी देरी होने की वजह से उसने उड़ान भर लिया। उड़ान किस नाम से भरी, यह पुलिस नहीं पता लगा पाई है। तब से वह फरार चल रहा है और पुलिस उस पर इनाम बढ़ा रही है। पहले एक लाख का इनाम था और फिर एडीजी अखिल कुमार की सिफारिश पर डीजीपी ने ढाई लाख रुपये का इनाम घोषित किया है।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us