शिक्षिका हत्याकांड: पांच दिन में 50 लोगों से हुई पूछताछ, फिर भी पुलिस की पकड़ से दूर है 'कातिल'

अमर उजाला ब्यूरो, गोरखपुर। Published by: vivek shukla Updated Fri, 25 Sep 2020 03:29 PM IST

सार

  • पुलिस का दावा, घटना से जुड़े कई सुराग हाथ लगे, जल्द कर लेंगे पर्दाफाश
  • पूर्व भाजपा पार्षद के भाई को पुलिस ने छोड़ा, पति की भी कॉल डिटेल खंगाल रही पुलिस
लोगों से पूछताछ करते एसएसपी व अन्य पुलिस अधिकारी।
लोगों से पूछताछ करते एसएसपी व अन्य पुलिस अधिकारी। - फोटो : अमर उजाला।
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

गोरखपुर जिले के शाहपुर इलाके में शिक्षिका निवेदिता उर्फ डेविना की हत्या और बेटी को गोली मारकर हत्या के प्रयास मामले में पांच दिन बाद भी कातिल पुलिस की पकड़ से बाहर हैं। इस प्रकरण में पुलिस अब तक 50 लोगों से पूछताछ कर चुकी है।  
विज्ञापन


पुलिस का दावा है कि घटना में शामिल एक युवक की पहचान हो गई और जल्द ही उसे पकड़ने के बाद पूरा मामला खुलकर सामने आ जाएगा। उधर, पूछताछ के बाद पूर्व भाजपा पार्षद के भाई को पुलिस ने छोड़ दिया, उन्होंने बैंक के जरिये खाते में किए गए दो लाख रुपये भुगतान के साक्ष्य भी दिए हैं।


जानकारी के मुताबिक, पुलिस डेविना और उनकी बेटी के फोन की कॉल डिटेल खंगालने के बाद कई लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर चुकी है। बृहस्पतिवार को 17 साल के एक किशोर को बुलाकर भी पुलिस ने पूछताछ की, लेकिन कोई खास सुराग नहीं मिल सका है। शिक्षिका के पति मनीष मेजर के मोबाइल कॉल डिटेल पर भी पुलिस की नजर है।

पुलिस एक-एक पहलू पर जांच कर रही है और अब कॉल डिटेल पर उसे ज्यादा भरोसा है। घटना के दिन और दो दिन पहले तक शिक्षिका के मोबाइल पर आए एक-एक फोन नंबर की पड़ताल पुलिस ने शुरू कर दी है। इसी आधार पर पुलिस एक युवक के पहचान का भी दावा की है।

यह हुआ था

20 सितंबर को बदमाशों ने शाहपुर इलाके के सेंट जॉन चर्च की गली में शिक्षिका निवेदिता उर्फ डेविना की गोली मारकर हत्या कर दी थी। उनकी बेटी भी गोली लगने से घायल हो गई थी। बेटी का लखनऊ में उपचार चल रहा है। पुलिस ने इस मामले में पति मनीष मेजर की तहरीर पर लूट की कोशिश के लिए हत्या किए जाने का केस दर्ज किया था। तभी से पुलिस ने तीन नामजद आरोपितों को भी हिरासत में रखा है।
 
एसएसपी जोगेंद्र कुमार ने बताया कि पुलिस की टीमें मामले की छानबीन कर रही हैं। पुलिस बदमाशों के करीब है, मगर अभी पकड़ में नहीं आ सके हैं, जल्द ही कातिलों को पकड़कर घटना का पर्दाफाश कर लिया जाएगा। 
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00