बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP
विज्ञापन
विज्ञापन
बुध का तुला राशि गोचर, जानें क्या होगा आपके जीवन पर प्रभाव
Myjyotish

बुध का तुला राशि गोचर, जानें क्या होगा आपके जीवन पर प्रभाव

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

गोरखपुर विश्वविद्यालय में छात्रा की मौत मामला: प्रियंका ने की थी खुदकुशी, दर्ज केस में लगी फाइनल रिपोर्ट

गोरखपुर विश्वविद्यालय के गृह विज्ञान विभाग के स्टोर रूम में अपने दुपट्टे के फंदे से लटकी मिली छात्रा प्रियंका कुमारी ने खुदकुशी ही की थी। इसकी पुष्टि होने के बाद पुलिस ने दर्ज हत्या केस में फाइनल रिपोर्ट लगा दी है। पुलिस ने फोरेंसिक, पोस्टमार्टम रिपोर्ट और जांच के आधार पर केस को खत्म किया है। सभी में पुलिस को उसके खुदकुशी करने के ही प्रमाण मिले थे।

जानकारी के मुताबिक, शाहपुर की रहने वाली छात्रा प्रियंका का 31 जुलाई को दुपट्टे से बनाए गए फंदे में लटकता शव मिला था। उस समय भी खुदकुशी के सभी साक्ष्य मिले थे लेकिन घरवालों ने हत्या का आरोप लगा दिया था। प्रियंका के पिता की तहरीर पर पुलिस ने गोरखपुर विश्वविद्यालय के गृह विज्ञान विभाग की विभागाध्यक्ष और कर्मचारियों पर हत्या का केस दर्ज कर जांच शुरू की थी।

फोरेंसिक रिपोर्ट में भी खुदकुशी की पुष्टि हुई थी लेकिन परिवार वालों की संतुष्टि के लिए पुलिस ने लखनऊ से फोरेसिंक टीम बुलाई थी। इस टीम ने सीन री-क्रिएट कर सभी बिंदुओं पर बारीकी से जांच की थी। अब सीन री-क्रिएट किए जाने की रिपोर्ट आई है। पुलिस के मुताबिक फिर से आत्महत्या की पुष्टि हो गई है। लिहाजा, मामले में फाइनल रिपोर्ट लगा दी गई है।

गोरखपुर एसएसपी डॉ. विपिन ताडा ने कहा कि साक्ष्यों के आधार पर पुलिस ने फाइनल रिपोर्ट लगाई है। प्रियंका ने खुदकुशी की थी, यह पोस्टमार्टम और फोरेंसिक दोनों रिपोर्ट से साफ है।

 
... और पढ़ें

यूपी: गोरखपुर के दरोगा को सीजेएम ने भेजा जेल, तीन माह पहले दर्ज हुआ था दुष्कर्म का मुकदमा

गोरखपुर में यातायात विभाग में तैनात एक दरोगा को सीजेएम न्यायालय ने दहेज उत्पीड़न और अप्राकृतिक दुष्कर्म के मामले में जेल भेज दिया। दरोगा को रामपुर कारखाना की पुलिस ने गिरफ्तार कर कोर्ट में प्रस्तुत किया था।

गोरखपुर शहर के शाहपुर थाना क्षेत्र के एक मोहल्ला निवासी दरोगा की शादी रामपुर कारखाना थाना क्षेत्र के एक गांव में हुई थी। तीन माह पहले पत्नी ने दहेज के लिए प्रताड़ित करने और अप्राकृतिक दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज कराया था।

इस मामले की विवेचना दरोगा मान सिंह ने शुरू की। रामपुर कारखाना पुलिस ने आरोपी दरोगा को बुधवार की रात में गिरफ्तार कर गुरुवार को सीजेएम न्यायालय में पेश किया। सीजेएम ने आरोपी दरोगा को न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया।

 
... और पढ़ें

गोरखपुर: संदिग्ध परिस्थिति में बुजुर्ग महिला की मौत, हत्या की आशंका

गोरखपुर जिले के गगहा क्षेत्र के बांसपार में संदिग्ध परिस्थितियों में 60 वर्षीय महिला की मंगलवार की रात में मौत हो गई। महिला के शरीर के गहने भी गायब थे। बांसपार की शांति देवी (60) गजपुर-गगहा मार्ग पर चाय-पान की दुकान चलाती थी।

मंगलवार की रात वह खाना खाने के बाद घर के सामने टीनशेड में मच्छरदानी लगाकर सोई थी। सुबह परिजनों ने देखा तो महिला की मौत हो चुकी थी। महिला के नाक-कान व पैर के गहने भी गायब थे। घर पर बहु एवं एक नातिन रहती है। एक लड़का है, जो बाहर रहकर मजदूरी करता है।

महिला जीविकोपार्जन के लिए गुमटी में चाय-पान की दुकान चलाती थी। परिजनों ने गला दबाकर हत्या के बाद गहने लूटने की आशंका जताई है। गगहा पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

 
... और पढ़ें

आरोप: गोरखपुर पुलिस की पिटाई से कानपुर के व्यापारी की मौत, होटल में मिला शव

गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां रामगढ़ताल इलाके के तारामंडल रोड पर स्थित कानपुर के बर्रा के व्यापारी मनीष गुप्ता (36) की सोमवार की देर रात रहस्यमय हाल में मौत हो गई। साथ में आए दोस्तों का आरोप है कि चेकिंग के नाम पर आधी रात आई पुलिस ने उसकी पिटाई कर दी जिससे बचने को वह भागा और गिरने से उसकी मौत हो गई। जबकि पुलिस का कहना है कि मनीष नशे में था और बिस्तर से उठते ही लड़खड़ा कर गिर गया जिससे मौत हो गई। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। वहीं मामले में लापरवाही बरतने वाले प्रभारी निरीक्षक जगत नारायण सिंह व चौकी इंचार्ज सहित छह पुलिस कर्मी निलंबित कर दिए गए हैं।

 जानकारी के मुताबिक, कानपुर के बर्रा निवासी मनीष गुप्ता अपने दोस्त प्रदीप सिंह और हरवीर सिंह के साथ गोरखपुर घूमने आया था। सिकरीगंज के चंदन सैनी से तीनों की पुरानी दोस्ती थी। उसने ही कृष्णा पैलेस में अपने नाम पर रुम बुक कराया था। सोमवार की रात पुलिस चेकिंग करने के लिए पहुंची थी।

इस दौरान एक रुम में तीन लोगों के मौजूद होने पर कमरे में जाकर पुलिस चेकिंग करने लगी। इसी दौरान मनीष रहस्यमय तरीके से गंभीर रूप से जख्मी हो गया। आनन फानन पुलिस उसे लेकर जिला अस्पताल गई फिर मेडिकल कॉलेज लेकर गई। जहां पर उसकी मौत हो गई।
 
... और पढ़ें
मृतक व्यापारी। मृतक व्यापारी।

गोरखपुर: गोगहरा पुल के नीचे नाले में मिला अज्ञात युवती का शव, सीमा विवाद में उलझी रही पुलिस

गोरखपुर जिले के चकवैदपुरवा गांव स्थित गोगहरा पुल के नीचे नाले में शनिवार को एक युवती का शव मिला। कई दिन पुराने इस शव को निकालने से पहले बांसगांव व खजनी की पुलिस सीमा निर्धारण में उलझी रही। अंतत: घटना खजनी थानाक्षेत्र की होने के कारण पुलिस ने शव को बाहर निकाला और पोस्टमार्टम के लिए भेजा।

शनिवार की सुबह चकवैदपुरवा गांव के लोग टहलने निकले थे। गोगहरा पुल के पास दुर्गंध आने पर उन्होंने आसपास देखा, जिस पर उन्हें एक शव दिखाई पड़ा। कपड़े देखकर उन्होंने शव किसी युवती का होने का अनुमान लगाया। लोगों ने इसकी सूचना बांसगांव पुलिस को दी।

बांसगांव पुलिस मौके पर पहुंची तो शव खजनी क्षेत्र में होने की बात कही। इसके बाद खजनी पुलिस भी पहुंच गई और मामला बांसगांव क्षेत्र का बताया। करीब दो-तीन घंटे तक सीमा विवाद के बाद अंतत: मामला खजनी क्षेत्र का तय हुआ, जिसके आधार पर खजनी पुलिस ने शव को नाले से बाहर निकाला। मौके पर मौजूद लोगों का कहना था कि शव का अधिकांश हिस्सा सड़ चुका था। शिनाख्त नहीं हो पाई है।

एसओ खजनी अजय कुमार मौर्य ने बताया कि शव को पोस्टमार्टम हाउस में रखवा दिया गया है। नियमानुसार 72 घंटे तक शिनाख्त का प्रयास व परिजनों का इंतजार होगा। इसके बाद ही शव का पोस्टमार्टम कराया जाएगा।
... और पढ़ें

गोरखपुर: बोरे में लिपटा मिला नवजात बच्ची का शव, जांच में जुटी पुलिस

गोरखपुर जिले के गुलरिहा थाना क्षेत्र में शनिवार की सुबह एक नवजात बच्ची का शव ग्रामीणों ने देखा तो पुलिस को सूचित किया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्मार्टम के लिए भेज दिया। मामले की छानबीन हो रही है।

गुलरिहा थाना क्षेत्र के रामपुर गोपालपुर अजायबटोला के पश्चिम खेत में शनिवार सुबह एक नवजात बच्ची का शव ग्रामीणों ने देखा। इसकी सूचना गांव के सामाजिक कार्यकर्ता रामकृपाल सिंह ने पुलिस को दी। सरहरी चौकी से एसआई सरोज प्रसाद, कांस्टेबल चंदन चौरसिया, दुर्विजय यादव मौके पर पहुंचकर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

ग्रामीणों के अनुसार, शव एक दिन पुराना लग रहा है। शव प्लास्टिक के बोरे में लिपटा हुआ था। गांव में नवजात बच्ची का शव मिलने से ग्रामीणों में तरह-तरह की चर्चाएं हो रही हैं।

 
... और पढ़ें

गोरखपुर: सामूहिक कुकर्म के चार आरोपी गिरफ्तार, पांचवां हुआ फरार

गोरखपुर जिले में शराब पिलाकर दोस्त के साथ ही सामूहिक कुकर्म करने वाले चार आरोपियों को पुलिस ने शनिवार की सुबह गिरफ्तार कर लिया है। पांचवें को गिरफ्तार करने के लिए दबिश दी जा रही है। चौरीचौरा थाना क्षेत्र के एक गांव में पांच युवकों ने अपने ही दोस्त को शराब के नशे में धुत करके उसके साथ सामूहिक कुकर्म किया और उसका वीडियो बनाकर वायरल कर दिया।

शुक्रवार को वीडियो के वायरल होने पर पीड़ित ने तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की। चौरीचौरा पुलिस ने तहरीर के आधार पर पांच आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उनकी तलाश शुरू कर दी थी। शनिवार की सुबह 10 बजे के करीब पुलिस ने चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

पांचवें आरोपी को गिरफ्तार करने के लिए पुलिस टीम लगी है। घटना बीते छह जुलाई की है। थाना प्रभारी दिलीप कुमार शुक्ला ने बताया कि सभी गिरफ्तार अभियुक्त चौरीचौरा थाना क्षेत्र के ही निवासी है। फरार अभियुक्त को भी जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

 
... और पढ़ें

कुशीनगर: ग्राम प्रधान की हत्या के लिए आया शूटर मुठभेड़ में गिरफ्तार, सिपाही और बदमाश को लगी गोली

सांकेतिक तस्वीर।
उत्तर प्रदेश के कुशीनगर जिले के खैरटवा के ग्राम प्रधान की हत्या करने आए एक शॉर्प शूटर को रामकोला थाने की पुलिस ने शुक्रवार की देर रात मुठभेड़ में गिरफ्तार कर लिया। मुठभेड़ के दौरान उसके पैर में गोली लगी है। पुलिस के मुताबिक बस्ती जिले का यह अपराधी खुद को शहाबुद्दीन का शॉर्प शूटर बता रहा है।

बताया जा रहा है कि खैरटवा के ग्राम प्रधान से पंचायत चुनाव में हारे एक प्रत्याशी ने उनकी हत्या की सुपारी इस अपराधी को दी थी। शुक्रवार की देर रात यह अपराधी बाइक से ग्राम प्रधान की हत्या करने आया था। इसकी भनक स्वॉट टीम और रामकोला थाने के एसओ को लग गई। रात में घेराबंदी कर उसे रोकने का प्रयास किया तो उसने पुलिस टीम पर फायरिंग कर दी। इस दौरान स्वॉट टीम का रणजीत नाम का एक सिपाही घायल हो गया।

इसके बाद जवाबी फायरिंग में शूटर के पैर में गोली लगी। पुलिस को उसके पास से एक-एक पिस्टल और कट्टा बरामद हुआ है। पुलिस उसे लेकर थाने चली गई। इस मुठभेड़ की सूचना पर एसपी सचिंद्र पटेल ने घटनास्थल और थाने में पहुंचकर जानकारी ली।

शूटर का इलाज गोरखपुर के एक अस्पताल में चल रहा है। इस मामले में शूटर और सुपारी देने वाले व्यक्ति के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। शूटर का नाम विकास सिंह है, जो बस्ती जिले के लालगंज थाना क्षेत्र के पिपरपाती गांव का निवासी है। 
... और पढ़ें

गोरखपुर: कमिश्नरी में केरोसिन तेल गिराकर आत्मदाह करने जा रही थी महिला, कुशीनगर के डीएम बोले- नाजायज है मांग

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां जमीन संबंधी मामले की सुनवाई न होने का आरोप लगाते हुए शुक्रवार को कमिश्नर कार्यालय पर आत्मदाह का प्रयास करती कुशीनगर पटहेरवा की एक महिला को पुलिस ने पकड़ा है। देर शाम तक कुशीनगर पुलिस भी गोरखपुर आ गई है। महिला पुलिस उसे लेकर कैंट थाने गई है।

इंस्पेक्टर कैंट ने बताया कि जांच के दौरान महिला के पास कुछ भी नहीं मिला। कुशीनगर पुलिस की सूचना पर हमारी महिला सिपाही कमिश्नर कार्यालय पर पहले से मौजूद थीं, जिसने महिला के आते ही उसे हिरासत में ले लिया। उधर कुशीनगर डीएम एस राजलिंगम ने बताया कि महिला की मांग नाजायज है। कानून के हद में रहते हुए प्रशासन पहले ही उसकी मदद कर चुका है।

प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक महिला शुक्रवार की सुबह 11.15 बजे विकास भवन द्वार से कमिश्नरी कार्यालय की तरफ बढ़ी। पहले से बड़ी संख्या में पुलिस बल देखकर उसने गेट के अंदर प्रवेश करते ही कनस्तर से अपने ऊपर केरोसिन तेल उड़ेलना शुरू कर दिया। पहले से सतर्क महिला पुलिस ने दौड़कर उसे पकड़ लिया और उसके हाथ से कनस्तर दूर फेंक दिया। तलाशी लेने पर उसके पास से और कुछ नहीं मिला। महिला पुलिस उसे पकड़कर कैंट थाने ले गई। बता दें कि कुशीनगर के पटहेरवा की रहने वाली फातिमा खातून ने पूर्व में ही शुक्रवार के दिन कमिश्नरी में आत्मदाह करने की धमकी दी थी।
 
... और पढ़ें

एक्सक्लूसिव: पुलिस की 'साझेदारी' में सराफ अजय की मौत के राज पर पर्देदारी, एसएसपी से थाना इंचार्ज ने बोला झूठ

गोरखपुर शहर के बड़े सराफा कारोबारी अजय वर्मा की मौत के मामले में कुछ तो ऐसा है ही जिस पर पर्देदारी हो रही है। मौत छत से गिरने से हुई, यह साफ हो चुका है, मगर गिरे कैसे, यही लाख टके का सवाल है। इस सवाल का जवाब परिजनों ने नहीं दिया। जिस कानूनी प्रक्रिया से इस सवाल का जवाब मिल सकता था, उसे होने नहीं दिया। पुलिस ने 'जो हुक्म मेरे आका' के तर्ज पर वही किया, जो परिजन चाहते थे। कानूनी प्रक्रिया की पूरी तरह से अनदेखी कर दी, यानी, परिजनों की पर्देदारी में पुलिस की 'साझेदारी' हो गई। इस साझेदारी में पुलिस ने संदिग्ध हालात में मौत के मामले में जरूरी कानूनी प्रक्रिया की न केवल अनदेखी की, बल्कि अपने वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक तक से झूठ बोल दिया। डॉ. विपिन ताडा, एसएसपी गोरखपुर से इस संबंध में सवाल करने पर वे कहते हैं कि मुझे भी थाने की पुलिस ने यही बताया था कि मंगलवार रात छत से गिरकर मौत हो गई थी, बुधवार सुबह जानकारी मिलने पर पहुंचे तो घरवाले अंत्येष्टि कर चुके थे। सफेद झूठ। गोरखनाथ पुलिस ने अपने ही आला अफसर से आखिर यह झूठ क्यों बोला ? परिजनों के इशारे पर क्यों पोस्टमार्टम की प्रक्रिया नजरंदाज की ? संदिग्ध मौत के मामले में सीआरपीसी की धारा 174 के तहत कानूनी प्रक्रिया को क्यों अंजाम नहीं दिया ? यही वे सवाल हैं, जो साफ इशारा करते हैं कि दाल में कुछ तो काला है। ... और पढ़ें

ऑपरेशन हंट: गोरखपुर पुलिस ने 10 थानों के 33 बदमाशों पर 25- 25 हजार रुपये का इनाम किया घोषित, अब चलेगा खास अभियान

गोरखपुर पुलिस की ओर से लगातार ऑपरेशन हंट चलाकर अपराधियों पर नकेल कसी जा रही है। ऐसे में पुलिस अब बड़ी कार्रवाई की तैयारी शुरू कर दी है। गोरखपुर एसएसपी डॉ. विपिन ताडा ने एक साथ जिले के 33 बदमाशों पर 25 हजार रुपये का इनाम घोषित किया है। इसके साथ ही सभी थानेदारों को अभियान चलाकर इन बदमाशों की तत्काल गिरफ्तारी के निर्देश दिए गए हैं।

एसएसपी डॉ. विपिन ताडा ने बताया कि विभिन्न संगीन अपराधों में वांछित चल रहे फरार आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए ऑपरेशन हंट अभियान शुरू किया गया है। इसके तहत गैंगस्टर और अन्य संगीन अपराधों के 33 बदमाशों पर इनाम घोषित कर इनकी गिरफ्तारी के आदेश दिए गए हैं। ऐसे ही अन्य थानों के वांछित बदमाशों को चिन्हित कर उनकी सूची भी तैयार की जा रही है। जल्द ही अन्य बदमाशों पर भी इनाम घोषित किया जाएगा।
 
... और पढ़ें

संतकबीरनगर: महिला से सोने की चेन और अंगूठी लेकर जालसाज चंपत, पुलिस खंगाल रही सीसीटीवी

गोरखपुर की रहने वाली महिला से जालसाज युवकों ने 50 हजार कीमत की सोने की चेन और अंगूठी लेकर चंपत हो गए। पीड़ित महिला की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंच गई। पुलिस आस-पास लगे सीसीटीवी कैमरे को खंगाला। पीड़िता ने पुलिस से कार्रवाई की मांग की।

जनपद गोरखपुर की रहने वाली माला श्रीवास्तव पत्नी बजरंग सहाय ने बताया कि वह भेली मंडी बरदहिया बाजार से ई -रिक्शा से मेंहदावल बाईपस जा रही थी। मेंहदावल चौराहा निकट समय माता मंदिर के पास एक युवक ई-रिक्शा में बैठा। युवक अच्छे से चाची कह कर बातचीत करने लगा।

युवक ने पूछा कहां जा रही है तो वह गोरखपुर जरूरी काम से जाने की बात बताई। जैसे ही वह मेंहदावल बाईपास पहुंची वैसे ही एक और युवक आ गया। दोनों युवक बातें करने लगे। दोनों युवकों ने छिनैती की बात करते हुए मन में भय व्याप्त कर दिया। दोनों भी गोरखपुर जाने की बात बताएं। दोनों फ्री में गोरखपुर ले जाकर गंतव्य तक छोड़ने की बात बताए।

दूसरे युवक ने कहा कि उसके पास दस हजार रूपये है, जिसे कपड़े में बांध कर रखा है। इसे आप ले लीजिए और अपना सोने की चेन और अंगूठी रूमाल में बांध कर रख लीजिए। इसके बाद जालसाज महिला से सोने की चेन और अंगूठी ले लिया। दोनों युवक बारी-बारी से अभी आने की बात कह कर भाग गए। काफी देर बाद जब दोनों जालसाज युवक नही आए तो महिला ने मेंहदावल बाईपास पर मौजूद पुलिस कर्मियों को घटना की सूचना दिया।

महिला ने बताया कि सोने की चेन और अंगूठी की कीमत करीब 50 हजार रूपये थी। घटना की सूचना पर कोतवाल मौके पर पहुंच गए और आस-पास प्रतिष्ठानों पर लगे सीसीटीवी कैमरे को खंगाला। जिससे जालसाजों की पहचान हो सकें। कोतवाल अनिल कुमार ने बताया कि प्रकरण की जांच की जा रही है। तहरीर मिलने पर केस दर्ज कर आगे की कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

दुकानदार हत्याकांड का खुलासा: 'चोर-चोर कहते, मां पर टिप्पणी करते थे जगदीश चौधरी, हत्या न करता तो क्या करता'

संतकबीरनगर जिले के कोतवाली क्षेत्र के छांछापार निवासी हार्डवेयर दुकानदार की हत्या के नामजद आरोपी को पुलिस ने बुधवार को बघौली तिराहे के पास से गिरफ्तार किया। उसकी निशानदेही पर पुलिस ने हत्या प्रयुक्त रॉड बरामद कर ली। पूछताछ में आरोपी ने बताया कि दुकानदार जगदीश चौधरी ने पहले उसे चोरी के झूठे आरोप में पहले नौकरी से निकाल दिया था। अब उसे चोर-चोर कह कर चिढ़ाते थे। उसके दोस्तों के सामने उसकी मां पर भी अभद्र टिप्पणी करते थे, ऐसे में वह उन्हें मारता नहीं तो क्या करता।

एसपी डॉक्टर कौस्तुभ ने बताया कि छांछापार गांव निवासी जगदीश चौधरी (65) बनकटिया- पचपोखरी मार्ग पर हार्डवेयर की दुकान चलाते थे। रविवार रात सोते दौरान जगदीश चौधरी की हत्या कर दी गई थी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में सिर में गंभीर चोट पहुंचा कर हत्या की बात सामने आई थी। दुकानदार के बेटे विजय कुमार चौधरी ने चोरी की मंशा से गांव के गोलू कन्नौजिया पर सहयोगियों के साथ मिलकर हत्या किए जाने का आरोप लगाया था।

पुलिस गोलू कन्नौजिया और कुछ अज्ञात पर हत्या का केस दर्ज कर मामले की जांच कर रही थी। हत्या के पर्दाफाश के लिए कोतवाली पुलिस के साथ स्वॉट व सर्विलांस की टीम को लगाई गई थी। बुधवार को कोतवाली पुलिस की टीम ने हत्या के नामजद आरोपी पंकज उर्फ गोलू कन्नौजिया निवासी छांछापार को बघौली तिराहे के पास से गिरफ्तार कर लिया।

पूछताछ में आरोपी गोलू कन्नौजिया ने बताया कि वह पहले जगदीश चौधरी की दुकान पर मालवाहक गाड़ी का ड्राइवर था। जगदीश चौधरी ने उसके ऊपर कई बार चोरी का इल्जाम लगाकर बदनाम किया। चोरी के झूठे आरोप में शंका के आधार पर उसे नौकरी से निकाल दिया। इसके बाद वह माहनपार में शराब भठ्ठी के पास गुमटी में अंडा बेचने का काम करने लगा। उसकी मां पास के एक प्राइवेट अस्पताल में सफाई का काम करती है।
 
... और पढ़ें
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X