लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Uttar Pradesh ›   Gorakhpur News ›   Gorakhpur zoo wetland became new abode of migratory birds

Gorakhpur News: चिड़ियाघर का वेटलैंड बना प्रवासी पक्षियों का नया ठिकाना, दूर-दूर देखने आ रहे लोग

संवाद न्यूज एजेंसी गोरखपुर। Published by: vivek shukla Updated Thu, 08 Dec 2022 11:22 AM IST
सार

निदेशक प्राणिउद्यान डॉक्टर एक राजमोहन ने बताया कि प्रवासी पक्षियों के लिए अब चिड़ियाघर का वेटलैंड एक सुरक्षित ठिकाना बन गया है। वेटलैंड के बीचों बीच और आस पास मौसम के अनुसार वाले पेड़ों पर फल आते हैं, जिनका भोजन इन पक्षियों को यहां रहने में और सुगमता पहुंचा रहा है।

चिड़ियाघर का वेटलैंड में आए प्रवासी पक्षी।
चिड़ियाघर का वेटलैंड में आए प्रवासी पक्षी। - फोटो : अमर उजाला।
विज्ञापन

विस्तार

चिड़ियाघर के वेटलैंड में ठंड के दिनों में बड़ी संख्या में प्रवासी पक्षियों ने अपना डेरा डाल लिया है। दर्शक इनके कलरव का आनंद उठा रहे हैं। चिड़ियाघर के वेटलैंड क्षेत्र में प्रवासी परिंदों की बड़े पैमाने पर मौजूदगी दिख रही है। यहां उनके लिए पर्याप्त भोजन है। रहने की समुचित व्यवस्था है। 34 एकड़ के प्राकृतिक वेटलैंड में वह मछली व अन्य जलीय जीवों को खाते हैं तो बाहर उन्हें पेड़ों पर फल मिल रहे हैं।



चिड़ियाघर के चारों तरफ ऊंची चहारदीवारी व शांतिप्रिय वातावरण पक्षियों के वास के लिए मुफीद स्थान बना हुआ है। वेटलैंड के आसपास फैली झाड़ियों में उन्होंने अपना आशियाना बना रखा है। निदेशक प्राणिउद्यान डॉक्टर एक राजमोहन ने बताया कि प्रवासी पक्षियों के लिए अब चिड़ियाघर का वेटलैंड एक सुरक्षित ठिकाना बन गया है। वेटलैंड के बीचों बीच और आस पास मौसम के अनुसार वाले पेड़ों पर फल आते हैं, जिनका भोजन इन पक्षियों को यहां रहने में और सुगमता पहुंचा रहा है।

विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00