बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP
विज्ञापन
विज्ञापन
बुध का तुला राशि गोचर, जानें क्या होगा आपके जीवन पर प्रभाव
Myjyotish

बुध का तुला राशि गोचर, जानें क्या होगा आपके जीवन पर प्रभाव

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

Digital Edition

देवरिया में भीषण हादसा: दो किलोमीटर तक बाइक घसीटकर ले गया बस चालक, युवक की मौत

उत्तर प्रदेश के देवरिया जिले में रविवार को एक दिल दहला देने वाला हादसा हुआ। यहां देवरिया- गोरखुपर मार्ग पर गौरी बाजार थाना क्षेत्र के नौगांवा मोड़ के पास अनुबंधित बस की चपेट में आने से बाइक सवार युवक की मौत हो गई। बस में फंसी बाइक को दो किलोमीटर तक चालक घसीटते हुए लेकर गया। इसके बाद भी बाइक फंसी रही तो बस चालक सवारियों को उतार कर फरार हो गया। घटना के बाद पहुंचे परिजनों ने युवक की पहचान की।

जानकारी के अनुसार, रविवार की दोपहर में गौरी बाजार थाना क्षेत्र के नौगांवा मोड़ के पास गोरखपुर- देवरिया मार्ग पर तेज गति से आ रही अनुबंधित बस के सामने से बाइक सवार एक युवक चपेट में आ गया। युवक की बाइक बस के अगले हिस्से में फंस गई और युवक सड़क किनारे जा गिरा। करीब दो किमी तक गौरी बुजुर्ग गांव के पास बाइक को घसीटते हुए बस चालक ले गया। इस दौरान तेज आवाज होने से लोग भी आर्श्चय में पड़ गए।

बस चालक गौरी बुजुर्ग गांव के पास तक बाइक फंस जाने के वजह से रोका और वहां से फरार हो गया। डरे सहमे यात्री भी मौके से निकल गए। जबकि दूसरी तरफ गौरी बाजार से गोरखपुर की तरह जा रहे गंभीर रूप से घायल बाइक सवार युवक को पुलिस ने आसपास के लोगों के सहयोग से जिला अस्पताल पहुंचाया, जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया और बस को थाने ले आई। जिला अस्पताल पहुंचे परिजनों ने युवक की पहचान गौरी बाजार थाना क्षेत्र के पुरूषोतमपुर गांव निवासी पंकज निषाद (22) पुत्र चंद्रिका निषाद के रूप में किया है। एसओ अनिल पांडेय ने बताया कि बस को कब्जे में ले लिया गया है, चालक की तलाश की जा रही है।
... और पढ़ें
बस में फंसी बाइक। बस में फंसी बाइक।

कुशीनगर: ट्रेन की चपेट में आने से युवक की मौत, रेल लाइन पार करते समय हुआ हादसा

उत्तर प्रदेश रे कुशीनगर जिले में रविवार को पनियहवा पुल के निकट ट्रेन की चपेट में आने से एक युवक की मौत हो गई। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में ले लिया। इस दरम्यान एक पैसेंजर ट्रेन लगभग आधा घंटा तक रुकी रही।

जानकारी के अनुसार, पनियहवा रेलवे स्टेशन से बिहार जा रही देहरादून-मुजफ्फरपुर एक्सप्रेस ट्रेन के चालक ने पनियहवा पुल के पास एक शव पड़ा देख ट्रेन रोक दी और स्टेशन को सूचना दी। इसकी जानकारी होने पर खड्डा पुलिस व आरपीएफ के जवान पहुंचे। मृतक का सिर व धड़ अलग-अलग रेलवे लाइन के बीच में पड़ा था। इस दौरान घटनास्थल पर भारी भीड़ एकत्र हो गई। मृतक की पहचान हनुमानगंज थाना क्षेत्र के पनियहवा निवासी मोहन गुप्ता पुत्र मोतीलाल गुप्ता (28) के रूप में हुई।

बताया जा रहा है कि मोहन रेल लाइन पार कर रहा था, तभी बिहार जा रही पैसेंजर ट्रेन की चपेट में आकर कट गया। देहरादून से मुजफ्फरपुर जाने वाली एक्सप्रेस ट्रेन लगभग आधा घंटा तक वहां खड़ी रही। शव को हटाकर ट्रैक साफ किया गया, तब ट्रेन गंतव्य को रवाना हुई।

मोहन की पत्नी गुड्डी देवी (26), पुत्री संध्या (8), अमृता (6), पुत्र अभिषेक (5) व तीन साल की बेटी खुशी है। पूरे परिवार का रो-रोकर बुरा हाल है। खड्डा पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।
... और पढ़ें

देवरिया: मंत्री पुत्र ने भी बीडीओ और कर्मचारियों पर दर्ज कराया जानलेवा हमला का मुकदमा, जानिए क्या है पूरा मामला

देवरिया जिले के गौरी बाजार विकासखंड में शनिवार को हुई मारपीट तथा लूटपाट की घटना में राज्यमंत्री जयप्रकाश निषाद की पुत्रवधु व ब्लॉक प्रमुख अनीता निषाद पत्नी क्षेत्र पंचायत सदस्य विश्व विजय निषाद की तहरीर पर पुलिस ने खंड विकास अधिकारी एवं परियोजना निदेशक संजय कुमार पांडे सहित एक दर्जन ब्लॉक कर्मियों के विरुद्ध लूट हत्या का प्रयास अनुसूचित एवं जनजाति अधिनियम सहित अन्य गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया है।
 
जानकारी के अनुसार, शनिवार को देर रात स्थानीय थाने में दर्ज मुकदमे में ब्लॉक प्रमुख द्वारा दी गई तहरीर में कहा गया है कि वह शनिवार को दोपहर में अपने पति तथा क्षेत्र पंचायत सदस्य विश्व विजय निषाद के साथ ब्लॉक मुख्यालय पर गरीब कल्याण मेले में भाग लेने गई थीं। जहां मंच पर बैठने को लेकर बीडीओ से उनकी कहासुनी हो गई। तहरीर में कहा गया है कि बीडीओ ने ब्लॉक प्रमुख से नीचे कुर्सी पर बैठने की बात कही। इस पर विरोध करने पर अपशब्दों के साथ गाली देने लगे। इसी बीच आक्रोशित जनता सहित भाजपा कार्यकर्ता एवं राम लक्षन अनुसूचित मोर्चा के अध्यक्ष से बीडीओ की कहासुनी हो गई। बीडीओ ने अध्यक्ष को जातिसूचक शब्दों से नवाजते हुए गला दबाकर हत्या का प्रयास किया। जिससे ब्लॉक प्रमुख अनीता बेहोश हो गईं।

यह देख बीच-बचाव कर मामले को शांत कराने गए ब्लॉक प्रमुख प्रतिनिधि विश्व विजय निषाद को खंड विकास अधिकारी सहित एक दर्जन से अधिक विकासखंड के कर्मचारियों ने मारना- पीटना शुरू कर कर दिया और उनका मोबाइल लूट लिया।

तहरीर में कहा गया है कि इससे कार्यक्रम बीच में ही स्थगित हो गया। कार्यक्रम में भाग लेने आए वृद्धा विधवा विकलांग जन पेंशन तथा अन्य योजनाओं के लाभार्थी ग्राम प्रधान एवं अन्य वापस लौटने पर विवश हो गए। थाना प्रभारी अनिल कुमार पांडे ने बताया कि ब्लॉक प्रमुख की तहरीर पर खंड विकास अधिकारी संजय कुमार पांडे सहित एक दर्जन अज्ञात विकासखंड कर्मियों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच की जा रही है। जबकि सीओ अंबिका राम ने बताया कि मामले की जांच मुझे मिली है। विवेचना की जा रही है।
... और पढ़ें

Exclusive: सीएम सिटी में गोद लीजिए पीएम मोदी के गुजरात का बब्बर शेर, चुकानी होगी ये कीमत

सीएम योगी आदित्यनाथ के शहर गोरखपुर में अब वन्यजीव प्रेमी प्रतिदिन के हिसाब से पीएम मोदी के राज्य गुजरात के बब्बर शेरों को गोद ले सकेंगे। गुजरात के शकरबाग प्राणि उद्यान से चिड़ियाघर लाए गए नर बब्बर शेर पटौदी व मादा मरियम को गोद लेने के लिए अब 2333 रुपये प्रतिदिन के हिसाब से देने होंगे। अभी तक तीन महीने के लिए गोद लेने पर दो लाख दस हजार रुपये खर्च करने पड़ते थे। गोद लेकर इनके साथ आप अपने खास दिन को भी यादगार बना सकते हैं। पिछले हफ्ते ही प्राणि उद्यान ने इस एक दिन के गोद लेने वाली योजना का शुभारंभ किया है।

सोशल मीडिया पर दुबई के शेखों को आपने घर और गाड़ियों में शेरों के साथ देखा होगा। आपके मन में भी कुछ ऐसी ही इच्छा जगी होगी। प्राणि उद्यान के शेरों को आप साथ लेकर घूम तो नहीं सकते हैं, लेकिन उन्हें गोद लेकर कुछ वैसा ही महसूस कर सकते हैं।
... और पढ़ें

Exclusive: प्रधानमंत्री मोदी बनाएंगे चुनावी माहौल, हर क्षेत्र में होगी जनसभा

गोरखपुर चिड़ियाघर में बब्बर शेर पटौदी।
आगामी विधानसभा चुनाव की तिथियों के एलान से पहले ही भाजपा यूपी में माहौल बनाएगी। चुनाव से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की छह जनसभाएं होंगी। प्रधानमंत्री विकास की सौगात देंगे। साथ ही केंद्र व राज्य सरकार की उपलब्धियां गिनाकर मिशन 2022 को सफल बनाने की अपील करेंगे। अक्तूबर में ही गोरखपुर के खाद कारखाना मैदान में जनसभा प्रस्तावित है। इसमें खाद कारखाना व गोरखपुर एम्स का लोकार्पण भी होगा। इसकी तैयारियां तेजी से चल रही हैं।

आगामी विधानसभा चुनाव की तैयारियों के लिहाज से ही भाजपा ने 23-24 को लखनऊ में बैठक की थी। यूपी के चुनाव प्रभारी धर्मेंद्र प्रधान, प्रभारी राधा मोहन सिंह, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह और प्रदेश महामंत्री संगठन सुनील बंसल की अगुवाई वाली बैठक में 15 जनवरी तक के कार्यक्रमों की रूपरेखा तय कर दी गई है। इसकी जानकारी क्षेत्रीय, जिला और महानगर इकाइयों को दी जा चुकी है। संगठन व चुनाव से जुड़े कार्यक्रमों को अलग-अलग चरणों में चलाया जाना है। पहला चरण सात अक्तूबर को पूरा होगा।

प्रदेश स्तरीय संगठन से जो जानकारी दी गई है, उसके मुताबिक भाजपा संगठन के लिहाज से महत्वपूर्ण गोरखपुर, कानपुर, ब्रज, काशी, मथुरा और पश्चिम क्षेत्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की एक-एक जनसभा कराई जाएगी। प्रधानमंत्री विकास कार्यों का शिलान्यास व लोकार्पण करेंगे। साथ ही जनसभा करके मिशन 2022 को कामयाब बनाने का माहौल बनाएंगे। गोरखपुर क्षेत्र की चुनावी जनसभा अक्तूबर में तय है। गोरखपुर, आजमगढ़ व बस्ती मंडल से जुड़े इस क्षेत्र के 10 जिलों में विधानसभा की 62 सीटें हैं। इसी बीच मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ ही केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह और रक्षामंत्री राजनाथ सिंह की भी जनसभाएं होंगी। केंद्र व राज्य के बडे़ नेता, मंत्री चुनाव प्रचार में जुट जाएंगे।
... और पढ़ें

दर्दनाक: मां तीसरी मंजिल पर कर रही थी काम, नीचे खेल रहे मासूम बेटे की टैंक में गिरकर मौत

उत्तर प्रदेश के संतकबीरनगर जिले में दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। यहां कोतवाली क्षेत्र के गौसपुर में एक बालक की खेलते-खेलते पानी के टैंक में गिरकर मौत गई। सूचना पर पुलिस पहुंची और शव को कब्जे में ले लिया। बच्चे की मौत के बाद पीड़ित मां की चीत्कार सुनकर पूरे गांव का माहौल गमगीन हो गया।

कोतवाल अनिल कुमार ने बताया कि महुली क्षेत्र के महुली खास निवासी 30 वर्षीय शकुंतला पत्नी स्वर्गीय पप्पू खलीलाबाद में किराए का मकान लेकर रहती है। वह मजदूरी करके बच्चों का भरण पोषण करती है। महुली क्षेत्र के मुखलिसपुर के रहने वाले सुजीत यादव कोतवाली क्षेत्र के गौसपुर में मकान का निर्माण कार्य करवा रहे हैं। उन्हीं के मकान में शकुंतला शनिवार को मजदूरी करने गई। यहां वह अपने पांच वर्षीय बेटे शिवा को भी ले गई थी। तीसरे मंजिल पर शकुंतला काम कर रही थी और नीचे के तल पर बेटा शिवा खेल रहा था।

खेलते-खेलते बालक मकान निर्माण के लिए बनाए गए पानी के टैंक में गिर कर डूब गया। शाम चार बजे जब शकुंतला अपने बेटे को ढूंढने लगी तो वह नहीं मिला। इस पर शकुंतला ने अन्य लोगों की मदद से बेटे की तलाश शुरू की। उसी दौरान आशंका के आधार पर मकान मालिक और अन्य लोगों ने टैंक के पानी को बाहर निकलवाया तो शिवा का शव मिला। सूचना पर पुलिस भी मौके पर पहुंच गई और शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। घटना से पीड़ित मां शकुंतला का रोक- रो कर बुरा हाल था। लोग पीड़ित मजदूर महिला को ढांढस बंधाते रहे।  
... और पढ़ें

बड़ा हादसा टला: बस्ती में ओवरलोड मौरंग भरा ट्रक पलटा, एक मजदूर घायल

उत्तर प्रदेश के बस्ती जिले में रविवार को बांदा से आ रहा मौरंग लदा ट्रक रास्ते में बढ़या पुल के निकट पलट गया, जिससे एक मजदूर चोटिल हो गया। जबकि घटना में चालक और खलासी बाल- बाल बच गए। घटना के बाद जुटे स्थानीय लोगों की मदद से चोटिल मजदूर को इलाज के लिए अस्पताल पहुंचाया गया।
 
जानकारी के अनुसार, बांदा से मौरंग लादकर एक ओवरलोड ट्रक कप्तानगंज थाना क्षेत्र के लहिलवारा गांव में जा रहा था। रविवार की सुबह नौ बजे जैसे ट्रक कप्तानगंज थाना क्षेत्र के बढ़या पुल से आगे बढ़ा तभी ट्रक अनियंत्रित होकर सड़क के बगल खेत में पलट गया। ट्रक पलटने से कुछ ही देर में वहां पर आसपास के लोग जुट गए।

घटना में ट्रक पर बैठा मजदूर रक्षाराम चोटिल हो गया, जबकि ट्रक चालक ननकउ और खलासी पिंटू निवासी फैजाबाद बाल- बाल बच गए। आसपास के लोगों ने घायल मजदूर को कप्तानगंज के एक निजी अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया है। ट्रक पर 85 टन मौरंग लदा था। वह एक ट्रांसपोर्टर द्वारा लहिलवारा गांव के शिवराम शर्मा के घर मकान निर्माण के लिए जा रहा था। कप्तानगंज के प्रभारी निरीक्षक बृजेश सिंह ने बताया कि बहुत बड़ा हादसा होने से बच गया। मामले में कोई तहरीर नही मिली हैं।
... और पढ़ें

मदद की गुहार: किडनी रोगी पति के इलाज को गिड़गिड़ाई महिला, मुख्यमंत्री योगी ने कहा- 'मैं हूं ना'

गोरखपुर जिले के भरोहिया में आयोजित गरीब कल्याण मेले में भरोहिया की सुमन ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मदद की फरियाद की। उन्होंने मुख्यमंत्री को बताया कि उनके पति संदीप किडनी की बीमारी से पीड़ित हैं, उपचार कराना चाहती हैं। मगर गरीबी की वजह से संभव नहीं हो पा रहा है। इस पर मुख्यमंत्री ने उन्हें आश्वस्त किया कि वह निश्चिंत रहें, उनके पति के इलाज में कोई दिक्कत नहीं होने दी जाएगी। मुख्यमंत्री ने तत्काल अधिकारियों को निर्देशित किया कि पीड़ित का आयुष्मान गोल्डन कार्ड बनाकर इलाज कराया जाए। यदि उसमें चयनित न हों तो मुख्यमंत्री आरोग्य योजना का लाभ दिलाया जाए। अगर फिर भी कोई दिक्कत आए तो मरीज का इस्टीमेट बनवाकर मुख्यमंत्री राहत कोष भेजा जाए। उन्होंने कहा कि किडनी जैसी बीमारी में सामान्य व्यक्ति के लिए भारी आर्थिक संकट भी होता है। उन्होंने कहा कि उपचार में कोई दिक्कत नहीं आने दी जाएगी, भरपूर मदद की जाएगी। ... और पढ़ें

जरूरी खबर: ब्लड टेस्ट बताएगा, ऑक्सीजन या आईसीयू की जरूरत, इस खास जांच से स्पष्ट होगी मरीज की स्थिति

मरीज को ऑक्सीजन या आईसीयू की जरूरत है कि नहीं, अब एक ब्लड टेस्ट (खून जांच) से पता चल सकेगा। बीआरडी मेडिकल कॉलेज ने कोरोना महामारी के बीच ऐसे मरीजों की टीएलएम, सेरम फेरेटिन जैसी जांच से यह जानकारी हासिल की है। बीआरडी मेडिकल कॉलेज के मेडिसिन विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ महिम मित्तल ने बताया कि पहली और दूसरी लहर में गंभीर मरीजों की जांच कराई गई थी। उनके ब्लड सैंपल लिए गए थे। ब्लड सैंपल लेकर टीएलएम, सीरम फेरेटिन, सीरम एलडीएच, सीआरपी, फेब्रिनोजोन जैसी जांच की गई। जांच में गंभीर मरीजों में इनकी मात्रा काफी बढ़ी हुई मिली। इसके बाद स्थिति के अनुसार मरीजों को ऑक्सीजन देनी पड़ी। इसके अलावा इनके ज्यादा बढ़ने पर मरीजों को आईसीयू में भर्ती करना पड़ा।

बताया कि इन जांचों से यह पता लगाया जा सकता है कि मरीज की स्थिति कैसी है? उसे ऑक्सीजन या आईसीयू की जरूरत है भी या नहीं । इससे सही समय पर मरीज की स्थिति का पता भी चल जाएगा।  

खून के थक्के जमने से हो चुकी है पहचान
कोरोना की पहली और दूसरी लहर में करीब 70 से 80 प्रतिशत मरीजों की मौत खून के थक्के जमने से हुई थी। इसकी जानकारी विशेषज्ञों को बाद में हुई। जानकारी के बाद डॉक्टरों ने मरीजों का इलाज शुरू किया तो उन्हें खून पतला करने की दवा देने लगे। इसका असर यह हुआ कि मौत की संख्या में कमी आई। बीआरडी मेडिकल कॉलेज के ब्लड बैंक प्रभारी डॉ. राकेश कुमार ने बताया कि खून की कई जांच से मरीजों की स्थिति का सही पता लगाया जा सकता है। कोरोना महामारी के दौरान इस तरह की जांच भी की गई। इसका काफी फायदा मिला है। बताया कि पीटी आईएनएआर और फेब्रिनोजोन जांच से खून के थक्के बनने की आशंका का पता कुछ हद तक किया जा सकता है। 
... और पढ़ें
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X