बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP
विज्ञापन
विज्ञापन
22 जून को शुक्र का कर्क राशि में परिवर्तन, जानें सभी राशियों पर प्रभाव
Myjyotish

22 जून को शुक्र का कर्क राशि में परिवर्तन, जानें सभी राशियों पर प्रभाव

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

विज्ञापन
Digital Edition

गोरखपुर मौसम अपडेट: बिहार के ऊपर फिर चली चक्रवाती हवाएं, आज बारिश संभव

गोरखपुर जिले में लगातार बादल और बारिश के बाद सोमवार को थोड़ी राहत मिली। दोपहर बाद सूरज के दर्शन हुए। इस वजह से तापमान में भी थोड़ी बढ़ोतरी हो गई। हालांकि बिहार के ऊपर चक्रवाती हवाएं उठने की वजह से मंगलवार और बुधवार को फिर से बादल छाए रहने के साथ बारिश के आसार हैं।

सोमवार को दोपहर बाद हवाओं का रुख बदल का पश्चिमोत्तर हो गया। इस वजह से बादल भी गोरखपुर के ऊपर से थोड़े हल्के हो गए। इसकी वजह से दोपहर बाद आकाश भी कुछ साफ हो गया और सूरज निकल आया। इसकी वजह से तापमान भी बढ़कर 31 डिग्री से ज्यादा हो गया। लेकिन मंगलवार को फिर से बादल छाए रहने की संभावना है।

मौसम विशेषज्ञ कैलाश पांडेय ने बताया कि सोमवार को दक्षिण पश्चिम बिहार के ऊपर बना कम दबाव का क्षेत्र कमजोर पड़ गया, लेकिन उत्तर पश्चिम बिहार में 12 हजार फीट की ऊंचाई पर एक चक्रवाती हवाएं चलने लगी हैं। इसकी वजह से एक से दो दिन गोरखपुर के 50 से 60 प्रतिशत इलाकों में बारिश हो सकती है। हालांकि इस दौरान तापमान में कमी की संभावना थोड़ी कम है। ऐसे में यह भी संभव है कि दिन में कभी सूरज भी निकल आए।
... और पढ़ें
गोरखपुर में बारिश। (फाइल फोटो) गोरखपुर में बारिश। (फाइल फोटो)

गोरखपुर: छह साल की बच्ची को कमरे में बंद कर दिखाया ब्लू फिल्म, छेड़छाड़ भी किया

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले के हरपुर बुदहट इलाके के एक गांव में शनिवार शाम को एक युवक छह वर्षीय बच्ची को कमरे में बंद कर उससे छेड़छाड़ की। रविवार को पीड़ित बच्ची के पिता ने आरोपी युवक के खिलाफ थाने में तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की, लेकिन मुकदमा दर्ज नहीं हुआ। सोमवार को फिर उसने थाने पहुंचकर मुकदमा दर्ज कराने की बात कही, लेकिन पुलिस ने जांच की बात कहते हुए चलता कर दिया।

जानकारी के मुताबिक, हरपुर बुदहट थाना क्षेत्र के एक गांव की छह वर्षीय बच्ची शनिवार की शाम घर के सामने खेल रही थी। उसी दौरान पड़ोस का एक युवक बच्ची को टॉफी देने के बहाने अपने घर ले गया और कमरे में बंद कर मोबाइल पर ब्लू फिल्म दिखाते हुए छेड़छाड़ की। 

बच्ची जब युवक के चंगुल से छूट कर घर आई तो घटना की जानकारी अपनी मां को दी। पिता ने थाने पहुंचकर तहरीर दी। केस न दर्ज होने पर सोमवार को वह दोबारा थाने पहुंचा। प्रभारी निरीक्षक उदय शंकर कुशवाहा का कहना है कि मामला संज्ञान में है। जांच कर दोषी के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

राहत: भीड़ को देखकर रेलवे चलाएगा 16 स्पेशल ट्रेनें, मुंबई और गुजरात के यात्रियों को मिलेगी राहत

रेलवे प्रशासन ने ट्रेनों में बढ़ती भीड़ को देखते हुए विभिन्न तिथियों में 16 स्पेशल ट्रेनें चलाने का निर्णय लिया है। ये ट्रेनें मुंबई और गुजरात के लिए हैं। इन ट्रेनों में सभी कोच आरक्षित श्रेणी के होंगे तथा इसमें यात्रा करने वाले यात्रियों को कोविड-19 के मानकों का पालन करना होगा।

इन ट्रेनों को चलाया जाएगा...
  • 09005 बांद्रा टर्मिनस-बरौनी साप्ताहिक स्पेशल का संचलन 25 जून को एक फेरे के लिए किया जाएगा।  
  • 09006 बरौनी-बांद्रा टर्मिनस साप्ताहिक स्पेशल का संचलन 28 जून को एक फेरे के लिए किया जाएगा।
  • 09011 ऊधना-दानापुर सुपरफास्ट साप्ताहिक स्पेेशल का संचलन 28 जून को दो फेरों के लिए किया जाएगा।
  • 09012 दानापुर-ऊधना सुपरफास्ट साप्ताहिक स्पेशल का संचलन 23 एवं 30 जून को दो फेरों के लिए किया जाएगा।
  • 09049 मुंबई सेंट्रल-समस्तीपुर स्पेशल का संचलन 22, 24, 26, 28 एवं 29 जून को छह फेरों के लिए किया जाएगा।  
  • 09050 समस्तीपुर-मुंबई सेंट्रल स्पेशल का संचलन 23, 24, 26, 28, 30 जून एवं 01 जुलाई को छह फेरों के लिए किया जाएगा।  
  • 09087 ऊधना-छपरा सुपरफास्ट साप्ताहिक स्पेशल का संचलन 25 जून को एक फेरे के लिए किया जाएगा।
  • 09088 छपरा-ऊधना सुपरफास्ट साप्ताहिक स्पेशल का संचलन 27 जून को एक फेरे के लिए किया जाएगा।
  • 09099 बांद्रा टर्मिनस-मऊ सुपरफास्ट साप्ताहिक स्पेशल का संचलन 22 एवं 29 जून को दो फेरों के लिए किया जाएगा।  
  • 09100 मऊ-बांद्रा टर्मिनस साप्ताहिक स्पेशल का संचलन 24 जून एवं 01 जुलाई को दो फेरों के लिए किया जाएगा।  
  • 09117 मुंबई सेंट्रल-भागलपुर स्पेशल का संचलन 25 जून को एक फेरे के लिए किया जाएगा।  
  • 09118 भागलपुर-मुंबई सेंट्रल स्पेशल का संचलन 28 जून को एक फेरे के लिए किया जाएगा।  
  • 09177 मुंबई सेंट्रल-भागलपुर स्पेशल का संचलन 23 एवं 30 जून को दो फेरों के लिए किया जाएगा।  
  • 09178 भागलपुर-मुंबई सेंट्रल स्पेशल का संचलन 26 जून एवं 03 जुलाई को दो फेरों के लिए किया जाएगा।  
  • 09521 राजकोट-समस्तीपुर स्पेशल का संचलन 23 एवं 30 जून को दो फेरों के लिए किया जाएगा।  
  • 09522 समस्तीपुर-राजकोट स्पेशल का संचलन 26 जून एवं 03 जुलाई को दो फेरों के लिए किया जाएगा।

 
... और पढ़ें

खुशखबर: गोरखपुर शहर में बनेगा आरोग्य वन, औषधीय गुणों वाले पौधों का होगा रोपण

कोरोना से सबक लेते हुए अब वन विभाग गोरखपुर शहर के बीचों बीच आरोग्य वन बनाने जा रहा है। एक जुलाई से सात जुलाई के पौधारोपण के दौरान ही उद्घाटन कराया जाएगा। आरोग्य वन की खासियत होगी कि यहां शरीर के अंगों के हिसाब से हर्बल औषधि वाले पौधे लगाए जाएंगे। वन के अंदर इन्हें नौ वर्गों में बांटा जाएगा। विश्वविद्यालय छात्रावास के सामने बस अड्डे के पास आधे एकड़ (2800 वर्ग मीटर) के क्षेत्रफल में इसे बनाकर तैयार किया जाएगा।

डीएफओ अविनाश कुमार ने बताया कि प्रत्येक हर्बल पौधे से बड़ी-बड़ी बीमारी में लाभ मिलता है। कोरोना के बीच लगातार इनकी बढ़ती डिमांड को देखते हुए तीसरे वेव के आने से पहले ही वन विभाग ऐसे पौधों को शहर के बीचों बीच लगाने जा रहा है। इसके लिए बाकायदा 2800 वर्ग मीटर में जमीन देखकर काम शुरू कर दिया गया है। इसमें तुलसी के साथ अन्य पौधे होंगे।

दरअसल, सबसे ज्यादा लोग घरों में तुलसी का पौधा लगाते हैं। धार्मिक मान्यता के साथ लोग इसे लगाते हैं, लेकिन यह बीमारियों के इलाज में भी कारगर सिद्ध होता है। इसके सेवन से पाचन शक्ति मजबूत होती है। सर्दी, जुकाम बुखार में यह मदद करता है।

एलोवेरा पेट के लिए बहुत अच्छा माना जाता है। इसके सेवन से पेट संबंधी बीमारियां नहीं होती। जोड़ों के दर्द में भी यह असर करता है। इसके गूदे को पीसकर स्किन पर लगाने से स्किन संबंधी रोग भी दूर होते हैं। गिलोय से रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। इसकी डंडी को पानी में उबालकर काड़ा बनाकर पीने से पुराने से पुराने बुखार में राहत मिलती है और बुखार नहीं होता।

सदाबहार के फूल पत्ते से शुगर (मधुमेह) में लाभ मिलता है। इसे उबालकर भी पी सकते हैं साथ ही इसके फूल पत्तों का काड़ा बनाकर भी पिया जा सकता है। पत्थरचट्टा के पत्तों का उपयोग पथरी के इलाज के लिए किया जाता है। इसके पत्तों की चटनी बनाकर खाने से पथरी गलकर निकल जाती है।

इसके अलावा मोच आने पर पत्ते को गर्म कर मोच वाले स्थान पर लगाने से आराम मिलता है। नीम की पत्तियों से शुगर, फोड़े-फुंसी संबंधी बीमारियों को दूर किया जाता है। इसकी पत्तियों को उबालकर उबले हुए पानी से नहाने से इंफेक्शन नहीं होता। नीम का दातुन करने से दांत संबंधी बीमारियां नहीं होती।

 
... और पढ़ें

सख्ती: ब्याज के साथ लौटाना होगा कर्ज, 400 लोगों को दिया गया था स्वरोजगार ऋण

सांकेतिक तस्वीर।
गोरखपुर स्वरोजगार के नाम पर एक से दो दशक पहले हजारों रुपये कर्ज लेकर नहीं चुकाने वालों को अब यह रकम ब्याज के साथ चुकानी होगी। जिला अल्पसंख्यक कल्याण विभाग ऐसे करीब 200 डिफाल्टर लाभार्थियों से वसूली की तैयारी कर रहा है।

जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी आशुतोष पांडेय ने बताया कि अल्पसंख्यक वित्त एवं विकास निगम की ओर से अल्पसंख्यक वर्ग (मुस्लिम, सिख, ईसाई, बौद्ध और जैन) के युवाओं को स्वरोजगार के लिए कम वार्षिक ब्याज दर पर कर्ज उपलब्ध कराया जाता है। निगम की ओर वर्ष 1996 से 2006 के बीच जिले में करीब 400 अल्पसंख्यक युवक-युवतियों को 20 हजार रुपये से एक लाख रुपये तक स्वरोजगार के लिए ऋण जारी किया था।

इनमें से करीब 200 लोगों ने समय पर किस्तें चुका दी थीं। बकाया करीब 200 लोगों में से कुछ ने एक दो किस्तें ही चुकाईं बाकी ने धन नहीं लौटाया। इनमें से अधिकतर ने 20 हजार से 60 हजार रुपये कर्ज लिया था जबकि करीब दो दर्जन लोगों ने एक लाख रुपये का कर्ज लिया था। समय पर किस्तें नहीं चुकाने के कारण इन बकायेदारों पर मूलधन और ब्याज मिलाकर रकम ढाई से तीन गुना हो चुकी है।

शासन के पत्र का हवाला देते हुए बताते हैं कि भारत सरकार तथा राज्य सरकार की ओर से वितरित किए गए टर्मलोन, मार्जिन मनी, ब्याज रहित ऋण तथा शैक्षिक ऋण का मूलधन और ब्याज राशि को केंद्र और राज्य सरकार द्वारा माफी का कोई प्राविधान नहीं किया गया है। इस आधार पर वसूली का नोटिस भेजा जा रहा है।

नोटिस के बाद भी यदि लाभार्थियों ने ब्याज सहित मूलधन नहीं लौटाया तो जल्द ही अभियान चलाकर वसूली की जाएगी। जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी आशुतोष पांडेय ने सभी लाभार्थियों से अपील की है कि वह 30 जून तक अपना बकाया जमा करवा दें अन्यथा उनकी संपत्ति जब्त करने की संस्तुति की जाएगी।
... और पढ़ें

गोरखपुर: साड़ी के बहाने स्मैक बेच रहे थे तीन लोग, ऐसे हो गया भंडाफोड़

गोरखपुर में साड़ी बेचने के बहाने स्मैक का धंधा करने वाले तीन आरोपियों को कैंट पुलिस ने सोमवार को गिरफ्तार कर लिया। मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने तीनों को रेलवे स्टेशन रोड से पकड़ा है। पुलिस ने तीनों आरोपियों को कोर्ट में पेश किया जहां से जेल भेजा गया है। उनके पास से 6.80 ग्राम स्मैक बरामद किया गया है।

आरोपियों की पहचान फर्रुखाबाद के बह्मपुरी निवासी हीरा सिंह, धर्मेंद्र और लल्लन प्रसाद के रूप में हुई है। पुलिस के मुताबिक, सूचना मिली थी कि कुछ लोग फेरीवाला बनकर अपने पास साड़ियां रखते हैं और साड़ी बेचने के बहाने स्मैक का धंधा कर रहे हैं।

इस तरह की शिकायत आने के बाद पुलिस ने जांच शुरू की और ऐसे फेरी वालों की तलाश में लग गई। सोमवार को पुलिस को सफलता मिल गई और फेरी वालों की जांच की गई तो उनके पास से साड़ियों के बीच में से स्मैक मिला है।

पहले पकड़े गए बदमाशों से मिला था सुराग
कैंट पुलिस के अनुसार, इसके पहले स्मैक के साथ पकड़े गए युवकों से जब पूछताछ की गई थी तो उन्होंने इसकी पुष्टि की थी मगर यह नहीं बताया था कि यह किस इलाके में रहते हैं। उनका कहना था कि यह सभी कहां रहते हैं इस बारे में जानकारी ही नहीं है मगर स्मैक का धंधा इस तरह से हो रहा है इसकी पुष्टि होने के बाद पुलिस जांच में लगी थी जिसकी वजह से सफलता मिली है।


 
... और पढ़ें

गोरखपुर विश्वविद्यालय: स्नातक स्तर पर इसी सत्र से लागू होगा सीबीसीएस, पाठ्यक्रम बनाकर भेजेंगे विभागाध्यक्ष

दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय में इसी सत्र से सीबीसीएस (च्वाइस बेस्ड क्रेडिट सिस्टम) प्रणाली लागू की जाएगी। हालांकि अभी इसे स्नातक स्तर पर ही लागू करने की सहमति बनी है। कुलपति प्रो. राजेश सिंह ने मार्गदर्शन समिति गठित कर दी है। वहीं सभी विभागाध्यक्ष सप्ताह भर में पाठ्यक्रम तैयार करके भेजेंगे।

शैक्षणिक सत्र 2021-22 के दौरान स्नातक स्तर पर सीबीसीएस प्रणाली शुरू करने पर चर्चा के लिए सभी संकायाध्यक्षों और विभागाध्यक्षों की बैठक सोमवार को कमेटी हाल में आयोजित हुई। इस संबंध में संकायाध्यक्षों और विभागाध्यक्षों का मार्गदर्शन करने के लिए समिति बनाई गई। जिसमें अधिष्ठाता छात्र कल्याण प्रो. अजय सिंह, अधिष्ठाता विज्ञान प्रो. शांतनु रस्तोगी, प्रो. गौर हरी बेहरा, प्रो. विनय सिंह और डॉ. सचिन कुमार सिंह शामिल हैं।

अध्यक्षता करते हुए कुलपति ने कहा कि सभी विभागाध्यक्ष सीबीसीएस प्रणाली के अनुसार स्नातक के पाठ्यक्रमों को बनाएंगे और एक सप्ताह में बोर्ड ऑफ स्टडीज के माध्यम से भेजेंगे। कहा कि मुख्य विषयों के लिए सरकार द्वारा प्रस्तावित कोर्स संरचना पर भी चर्चा की जाएगी तथा उसको और समृद्ध किया जाएगा।


 
... और पढ़ें

सिद्धार्थनगर विश्वविद्यालय: सही है मंत्री के भाई का ईडब्ल्यूएस सर्टिफिकेट, प्रोफेसर पद पर नियुक्ति होते ही मचा था बवाल

बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डॉ. सतीश चंद्र द्विवेदी के भाई अरुण द्विवेदी के ईडब्ल्यूएस (सामान्य वर्ग में आर्थिक रूप से कमजोर श्रेणी) के सर्टिफिकेट को प्रशासन ने सही बताया है। वर्ष 2019 में जारी हुए इसी सर्टिफिकेट के आधार पर अरुण द्विवेदी को सिद्धार्थ विश्वविद्यालय, कपिलवस्तु में असिस्टेंट प्रोफेसर के पद पर आरक्षण कोटे से नियुक्ति दी गई थी। नियुक्ति पर सवाल उठे तो उन्होंने 26 मई को इस्तीफा दे दिया था।

इटवा के तहसीलदार अरविंद कुमार ने बताया कि सामाजिक कार्यकर्ता नूतन ठाकुर ने आईडीआरएस पोर्टल पर अरुण द्विवेदी के ईडब्ल्यूएस कोटे के सर्टिफिकेट के मामले में शिकायत की थी। उसी शिकायत के आधार पर प्रशासन ने जांच कर रिपोर्ट अपलोड की है। उन्होंने बताया कि अरुण द्विवेदी का सर्टिफिकेट एक दिन में जारी किया गया था। इसमें आवेदन और शपथ पत्र में जो दस्तावेज लगाए गए थे, उसके आधार पर सर्टिफिकेट बनाया गया है।

 
... और पढ़ें

यूपी: दरोगा की बेटी के प्यार में पागल हुआ था ये बदमाश, लोग डर से उसे बुलाते थे 'डॉक्टर'

आज हम आपको उत्तर प्रदेश के एक ऐसे खूंखार बदमाश की कहानी बताने जा रहे हैं, जिसे जानकर आप हैरान रह जाएंगे। बीते साल 10 जुलाई 2020 की सुबह उत्तर प्रदेश के बहराइच में एसटीएफ ने शातिर बदमाश पन्ना यादव को मुठभेड़ में मार गिराया था। इस बदमाश की कहानी फिल्मों जैसी है। गोरखपुर जिले के गुलरिहा इलाके के मंगलपुर गांव के बौडिहवा टोला का मूल निवासी पन्ना साल 1997-98 में एक दरोगा की जीप चलाता था। इसी दौरान उसे दरोगा की बेटी से प्यार हो गया। दरोगा की बेटी का अपहरण कर उसे प्रयागराज ले गया।

दरोगा से जुड़ा मामला होने की वजह से पुलिस ने तेजी दिखाई और बेटी को बरामद कर लिया। तब पन्ना के खिलाफ एनसीआर दर्ज की गई थी। दरोगा ने बेटी की शादी दूसरी जगह कर दी, लेकिन पन्ना ने उससे मेलजोल बनाए रखा। बाद में आग से झुलस जाने की वजह से दरोगा की बेटी की मौत हो गई थी। यहीं से पन्ना का मिजाज बदल गया और वह पूरी तरह से जरायम (क्राइम) की दुनिया में रम गया। आगे की स्लाइड्स में पढ़ें पूरी कहानी ...
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us