विज्ञापन
विज्ञापन
लाभ पंचमी - सौभाग्य वर्धन का दिन,घर बैठे कराएं लक्ष्मी गणेश पूजन एवं लक्ष्मी सहस्रनाम पाठ,मात्र 101/- में,अभी बुक करें
Myjyotish

लाभ पंचमी - सौभाग्य वर्धन का दिन,घर बैठे कराएं लक्ष्मी गणेश पूजन एवं लक्ष्मी सहस्रनाम पाठ,मात्र 101/- में,अभी बुक करें

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

कैथल: दुष्कर्म का केस दर्ज होने के ढाई घंटे बाद नाबालिग की मौत, परिजनों ने किशोरी पक्ष के तीन लोगों पर लगाया हत्या का आरोप

दुष्कर्म का केस दर्ज होने के ढाई घंटे बाद किशोर (17) की मौत हो गई। मृतक के परिजनों ने किशोरी पक्ष पर हत्या का आरोप लगाया है। केस दर्ज कर पुलिस मामले की जांच पड़ताल कर रही है। सोमवार को एक महिला ने थाना में शिकायत दी थी। जिसमें उसने बताया था कि वह किसी काम से स्कूल में गई हुई थी। जब वापस आई तो उसकी नाबालिग बेटी ने बताया कि पड़ोस में ही रहने वाले लड़के ने उसके साथ कमरा बंद कर दुष्कर्म किया। 

पुलिस ने आरोपी किशोर के खिलाफ दुष्कर्म सहित पोक्सो एक्ट में केस दर्ज कर लिया। पुलिस के अनुसार केस दर्ज होने के ढाई घंटे बाद किशोर की मौत हो गई। इस संबंध में पुलिस को दी गई शिकायत में बताया गया कि सोमवार की शाम महिला और उसके दो बेटों से मोबाइल को लेकर विवाद हो गया था, जिसके बाद आरोपियों ने किशोर के गले में चुन्नी डालकर गला घोंट दिया। बेहोशी की हालत में लोगों ने किशोर को अस्पताल पहुंचाया, जहां चिकित्सक ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने इस मामले में तीनों आरोपियों के खिलाफ हत्या के आरोप में केस दर्ज कर लिया है।

खाद की फैक्टरी में काम करता था किशोर 
मृतक के चाचा ने बताया कि उसका भतीजा एक खाद फैक्टरी में काम करता था। कई साल पहले उसके मां-बाप की मृत्यु हो चुकी थी। वह अपने दादा-दादी व मौसी के पास रहता था। 

यह भी पढ़ें: 
नारनौल: बिमला मर्डर केस में गैंगस्टर पपला गुर्जर को उम्रकैद, छह साल बाद मिला परिवार को इंसाफ

दो अलग-अलग केस दर्ज कर की जा रही जांच: पुलिस
डीएसपी किशोरी लाल ने बताया कि थाना सीवन में पहले लड़की के साथ दुष्कर्म के मामले में शिकायत आई थी। इसमें आरोपी के खिलाफ केस दर्ज किया गया। उसके करीब ढाई घंटे के बाद किशोर की हत्या की बात सामने आई। पुलिस ने इस मामले में दुष्कर्म सहित हत्या के दो अलग-अलग केस दर्ज किए हैं।
... और पढ़ें
प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर

टीकरी बॉर्डर पर बंगाल की युवती से दुष्कर्म का मामला: आरोपी की अग्रिम जमानत याचिका पर पंजाब हरियाणा हाईकोर्ट ने रखा फैसला सुरक्षित

टीकरी बॉर्डर पर कोरोना से जान गंवाने वाली बंगाली युवती से दुष्कर्म के आरोपी जगदीश सिंह बराड़ की अग्रिम जमानत याचिका पर मंगलवार को पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट ने सभी पक्षों की दलीलों को सुनने के बाद फैसला सुरक्षित रख लिया।

मंगलवार को जैसे ही जगदीश की याचिका पर सुनवाई आरंभ हुई तो हरियाणा सरकार ने जमानत का विरोध किया। राज्य सरकार के वकील ने कहा कि याची पर गंभीर आरोप हैं और मामले की जांच जारी है। यदि याची को जमानत का लाभ दिया गया तो वह जांच को प्रभावित कर सकता है।

वहीं, याची पक्ष की ओर से कहा गया कि इस मामले में उसकी कोई भूमिका नहीं है और उसे फंसाया जा रहा है। याची पक्ष ने कहा कि वह जांच में सहयोग करने को पूरी तरह से तैयार है, लेकिन उसे हिरासत में न रखा जाए। दोनों पक्षों को सुनने के बाद हाईकोर्ट ने याचिका पर अपना फैसला सुरक्षित रख लिया। इससे पहले हाईकोर्ट इस मामले में अन्य दो आरोपियों की जमानत याचिका को खारिज कर चुका है।

यह भी पढ़ें: 
नारनौल: बिमला मर्डर केस में गैंगस्टर पपला गुर्जर को उम्रकैद, छह साल बाद मिला परिवार को इंसाफ

यह है मामला
बातचीत की रिकार्डिंग पुलिस को देते हुए पिता ने बताया था कि जब उसकी बेटी ट्रेन से टीकरी बॉर्डर की ओर जा रही थी तो आरोपियों ने उससे छेड़छाड़ की थी। इसके बाद टीकरी बॉर्डर पहुंचने पर उसे अंकुर, अनूप व अन्य के साथ टेंट साझा करना पड़ा था। वे इस दौरान लगातार दबाव बनाते हुए उसे ब्लैकमेल कर रहे थे। पिता ने बताया था कि इस बारे में उसने अपनी साथियों से भी बात की थी। इसके बाद पीड़िता कोरोना से संक्रमित हो गई और जिसके चलते उसकी मौत हो गई थी। पीड़िता के पिता की शिकायत पर बहादुरगढ़ पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज किया था।
... और पढ़ें

बड़ी खबर: अब रोहतक में बनेंगे सेना के लिए बुलेट प्रूफ जैकेट, हेलीकॉप्टर और बख्तरबंद वाहन, आईएमटी में लगेगा देश का पहला प्लांट

भारतीय सेना और दूसरे सशस्त्र बलों के लिए रोहतक में बुलेट प्रूफ जैकेट, बुलेट प्रूफ हेलीकॉप्टर, बख्तरबंद और माइन प्रूफ गाड़ियां बनेंगी। यह देश का पहला संयंत्र होगा, जहां हर तरह का सुरक्षा कवच बनेगा। भाभा परमाणु अनुसंधान केंद्र की टेक्नोलॉजी पर सर्वाधिक सुरक्षित भाभा कवच (बुलेट प्रूफ जैकेट) बनेगा। मिश्र धातु निगम के इस संयंत्र का उद्घाटन आजादी का अमृत महोत्सव के तहत केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह दिसंबर में करेंगे। ये बातें मंगलवार को निगम के चेयरमैन डॉ. संजय कुमार झा ने बताई।

ये भी पढ़ें-
हिसार: दोपहर को मुख्यमंत्री मनोहर लाल पहुंचे एयरपोर्ट, विकास कार्यों का किया निरीक्षण

डॉ. संजय ने बताया कि 2017 में मिश्र धातु निगम ने आईएमटी में 10 एकड़ जमीन पर यह संयंत्र स्थापित किया, जिसका 80 फीसदी से ज्यादा काम हो चुका है। अभी तक सुरक्षा कवच विदेशी तकनीक पर आधारित हैं, मगर अब स्वदेशी व सर्वाधिक सुरक्षित कवच भाभा परमाणु अनुसंधान केंद्र की तकनीक पर बनेगा। नई तकनीक के सुरक्षा कवच का नाम भाभा कवच रखा है, जो 20 से 30 फीसदी हल्का है। इसके अलावा रोहतक में मूविंग व्हीकल (बख्तरबंद गाड़ियां) बनेंगी।

नक्सल प्रभावित एरिया में बारूदी सुरंग बिछाकर होने वाले विस्फोट से बचाव को लेकर माइन प्रूफ गाड़ियां भी रोहतक में बनेंगी। बुलेट प्रूफ हेलीकॉप्टर भी बनेंगे। इस संयंत्र का शुभारंभ रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से दिसंबर में कराया जाएगा। इस दौरान मुख्यमंत्री मनोहर लाल के अलावा सैन्य व अर्द्धसैनिक बलों के अधिकारी भी मौजूद रहेंगे।

ये भी पढ़ें-जगी आस: 11 महीने से बंद टीकरी बॉर्डर खुलवाने के लिए हरियाणा सरकार और किसानों के बीच बातचीत शुरू

एक साल में इतने बन सकेंगे सुरक्षा कवच
डॉ. संजय ने बताया कि फिलहाल संयंत्र में एक साल के अंदर 15 हजार भाभा जैकेट, 25 हेलीकॉप्टर, 100 बख्तरबंद गाड़ियां और हजारों की संख्या में वेस्ट पुलिस जैकेट, एनएसडी जैकेट, बीपी हेलमेट व पटके बनाए जा सकेंगे।

बॉर्डर नजदीक होने की वजह से चुना रोहतक
डॉ. संजय ने बताया कि रोहतक से न सिर्फ देश की राजधानी नजदीक है, बल्कि पाकिस्तान का बॉर्डर भी ज्यादा दूर नहीं है। जरूरत पर सैन्य बलों को तुरंत आपूर्ति की जा सके, इसलिए रोहतक को संयंत्र लगाने के लिए चुना गया है।

ये भी पढ़ें-फतेहाबाद: भूना के ठेकेदार पंकज खुराना हत्याकांड में आरोपी सुखा बुवान और प्रवीण पिन्नी गिरफ्तार

विशेष कपड़ा व कार्बन नैनो ट्यूब से बना है भाभा कवच
डॉ. संजय ने बताया कि भाभा कवच पूर्णरूप से सुरक्षित है, जिस पर एके-47 के कई हमले भी बेअसर होते हैं। इसमें विशेष किस्म का कपड़ा (अल्ट्रा हाई मॉलीक्यूल वेट पॉलीथिलीन और कार्बन नैनो ट्यूब आदि इस्तेमाल होता है।

नियमानुसार 75 फीसदी कर्मी होंगे हरियाणा के
चेयरमैन ने बताया कि संयंत्र में हरियाणा राज्य सरकार के नियमानुसार 70-75 फीसदी कर्मी हरियाणा के होंगे। इसके अलावा अन्य लोगों को भी अस्थायी रोजगार मिलेगा। उन्होंने बताया कि जिन लोगों का चयन किया जाएगा, उनको इंजीनियर ट्रेनिंग देंगे।

ये भी पढ़ें-नारनौल: बिमला मर्डर केस में गैंगस्टर पपला गुर्जर को उम्रकैद, छह साल बाद मिला परिवार को इंसाफ

सर्विलांस सिस्टम और सुरक्षा पहरा होगा सख्त
चेयरमैन ने बताया कि संयंत्र की सुरक्षा हर पहलू से होगी। न सिर्फ अपना सर्विलांस सिस्टम काम करेगा, बल्कि सुरक्षा पहरा भी कड़ा होगा। इसके अलावा वॉच टावर भी लगाए जाएंगे। 
... और पढ़ें

हरियाणा: मृत्यु प्रमाण पत्र में देरी पर रोहतक पीजीआई के पूर्व निदेशक से जवाब तलब, पांच डॉक्टरों को नोटिस

हरियाणा सेवा का अधिकार आयोग ने निर्धारित समय में मृत्यु प्रमाण पत्र जारी न करने से जुड़े मामले में गलतबयानी पर पीजीआई रोहतक के पूर्व निदेशक डॉ. रोहतास यादव से जवाब मांगा है। साथ में पांच डॉक्टरों को स्वत: संज्ञान नोटिस भेजा है। आयोग की सचिव मीनाक्षी राज ने कहा कि केस में जिन-जिन अधिकारियों व कर्मचारियों की लापरवाही पाई जाएगी, उन्हें नोटिस देंगे। 

यह जीवित व्यक्तियों की मानवीय संवेदनाओं के मृत होने का जीवंत उदाहरण है। फाइलों को लंबित रखने के लिए मुख्य तौर पर जिम्मेदार डॉक्टर अजय, अंजलि, पेमा, साक्षी और अमरनाथ को अभी नोटिस भेजे हैं। इनकी मेल आईडी और मोबाइल नंबर मांगे हैं, उन्हें व्यक्तिगत रूप से भी नोटिस जारी किए जाएंगे।

आयोग ने पूछा है, क्यों न उन पर सेवा का अधिकार अधिनियम, 2014 के अनुसार समय पर सेवा न देने के लिए उन पर 20-20 हजार रुपये तक का जुर्माना लगाया जाए। इसके अलावा मृत्यु प्रमाण पत्र के 125 लंबित मामलों के बारे में जानकारी मांगी है कि वे डीसी या सिविल सर्जन कार्यालय को किस तारीख को भेजे थे। डीसी और सिविल सर्जन को इसकी पुष्टि करने के लिए कहा गया है कि क्या ये मामले उनके कार्यालयों में प्राप्त हुए और उन पर क्या कार्रवाई की गई।

86 मामलों में अभी प्रमाण पत्र जारी नहीं
मीनाक्षी राज ने बताया कि गत 24 अक्तूबर को संस्थान के निदेशक ने स्वीकार किया है कि 125 मामलों में से 86 मामलों में अभी तक मृत्यु प्रमाण पत्र जारी नहीं किए गए हैं। यह पीजीआई के पूर्व निदेशक डॉ. रोहतास यादव के 11 अक्तूबर को आयोग के समक्ष दिए बयान के एकदम विपरीत है। उन्होंने कहा था कि संस्थान में प्रमाण पत्रों का कोई मामला लंबित नहीं है। तथ्यों को सत्यापित करने के लिए, पीजीआई की वर्तमान निदेशक डॉ. गीता के साथ टेलीफोन पर बात की गई। उन्होंने 24 अक्तूबर को भेजी रिपोर्ट में उल्लेख किया कि मृत्यु से संबंधित जिन 125 फाइलों के पंजीकरण में देरी हुई, उनमें से 107 फाइलें कोविड-19 अवधि की हैं। गैर-कोविड अवधि के 18 मामलों में से ज्यादातर 2019 के हैं, जिनमें देरी हर स्तर पर व्यवस्थित जांच की विफलता के कारण हुई।

पांच डॉक्टरों की जांच रिपोर्ट धोखा देने वाली 
मीनाक्षी राज ने बताया कि 24 अक्तूबर के पत्र के साथ संलग्न पांच डॉक्टरों की हस्ताक्षरित जांच रिपोर्ट धोखा देने के अलावा और कुछ नहीं है। यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि 2019 में हुई मृत्यु के मामलों में दो साल के बाद भी प्रमाण पत्र जारी नहीं किए। इन 17 मामलों में से 6 में आयोग के हस्तक्षेप के बाद बीते 10 सितंबर को दो साल से भी अधिक समय के बाद मृत्यु प्रमाण पत्र जारी किए गए। 11 मामलों में मृत्यु प्रमाण पत्र आज भी लंबित हैं। 
... और पढ़ें

बदमाशों के हौसले बुलंद: व्यापारी पर पिस्तौल तानकर बोले- 25 लाख रुपये दे नहीं तो जीने नहीं देंगे, भाई 10 लाख लेकर आया तो छोड़ा

पीजीआई रोहतक (फाइल फोटो)
हरियाणा के जींद शहर की अनाजमंडी में दो व्यापारी भाइयों से पिस्तौल के बल पर दस लाख रुपये की रंगदारी लेकर बदमाश फरार हो गए। मोबाइल फोन व्यापारी नीतिन गोयल के पास पिछले दो दिन से फोन कर 25 लाख रुपये की बदमाश रंगदारी मांग रहे थे, लेकिन मंगलवार को बदमाशों ने व्यापारी को किसी काम के बहाने से शहर की पुरानी अनाजमंडी में एक दुकान पर बुलाया और उस पर पांच छह बदमाशों ने पिस्तौल तानकर 25 लाख रुपये की मांग की।

जब उसने इस बारे में उसके भाई को सूचना दी तो वह घर से 10 लाख रुपये लेकर आया और बदमाशों को दे दिए। इसके बाद व्यापारी को बदमाश छोड़कर फरार हो गए। नितिन गोयल ने बताया कि वह मोबाइल फोन की दुकान चलाता है, जबकि उसके भाई विपुल की स्टील ग्रिल के सामान की दुकान है। इंदिरा बाजार में भी उनकी करियाणा की दुकान है।

पुलिस को दिए बयान मेें रामराय गेट निवासी नितिन गोयल ने बताया कि उसके पास पिछले दो दिन से फोन आ रहे थे। फोन करने वाला अपने आप को वजीर पोंकरी खेड़ी बता रहा था। इसी सिलसिले के चलते मंगलवार दोपहर लगभग दो बजे उसके पास एक फोन कॉल आई और उसको शहर की पुरानी अनाजमंडी में बुलाया।

यह भी पढ़ें: 
नारनौल: बिमला मर्डर केस में गैंगस्टर पपला गुर्जर को उम्रकैद, छह साल बाद मिला परिवार को इंसाफ

जब वह बताई गई दुकान दुकान पर पहुंचा तो वहां पर बदमाशों ने कहा कि आपने बहुत ज्यादा पैसे कमा रखे हैं। उनमें से 25 लाख रुपये दो अन्यथा यहां से जाने नहीं दूंगा। इसी दौरान पांच छह लोगों ने उस पर पिस्तौल तान ली। जिसके चलते वह डर गया और उसने इस बारे में उसने अपने भाई विपिन को फोन पर जानकारी देकर 10 लाख रुपये मंगवाकर बदमाशों को दे दिए।

जिसके बाद बदमाश कार में सवार होकर वहां से चले गए। घटना की सूचना मिलते ही एएसपी नीतिश अग्रवाल व शहर थाना प्रभारी पुलिस बल के साथ पहुंचे। पुलिस ने नितिन के बयान दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।
... और पढ़ें

जगी आस: 11 महीने से बंद टीकरी बॉर्डर खुलवाने के लिए हरियाणा सरकार और किसानों के बीच बातचीत शुरू

किसान आंदोलन के कारण 11 महीने से बंद टीकरी बॉर्डर को खुलवाने के लिए राज्य सरकार की हाई पावर कमेटी और संयुक्त किसाम मोर्चा के प्रतिनिधियों के बीच मंगलवार को बहादुरगढ़ में बातचीत शुरू हुई। सरकार की कमेटी, एसकेएम के प्रतिनिधि और उद्यमियों के प्रतिनिधि बैठक में शामिल हैं। पहले दौर की बातचीत खत्म हो गई है। अब दोनों पक्षों ने रास्ता खोलने की संभावनाएं देखने के लिए टीकरी बॉर्डर का दौरा किया। इसके बाद कुछ ही देर में बातचीत का दूसरा दौर शुरू होगा। 

यह भी पढ़ें - 
कैप्टन की प्रेस कांफ्रेंस कल: बड़ा सियासी धमाका कर सकते हैं अमरिंदर, पंजाब से दिल्ली तक कांग्रेस में हलचल 

बैठक शुरू होने से पहले पत्रकारों से बातचीत में किसान नेता अमरीक सिंह ने कहा कि हम दिल्ली जा रहे थे। जंतर मंतर पर धरना देना चाहते थे। लेकिन सरकार ने रास्ते रोक दिए। अब भी सरकार ने रास्ते बंद कर रखे हैं। खोलना तो सरकार का ही काम है। राज्य सरकार की ओर से अतिरिक्त मुख्य सचिव राजीव अरोड़ा, डीजीपी अग्रवाल, रोहतक रेंज के आईजी पुलिस संदीप खिरवार, और झज्जर व सोनीपत जिला प्रशासन के अधिकारी बैठक में मौजूद हैं।

एसकेएम की टीकरी बॉर्डर कमेटी की तरफ से अमरीक सिंह व कुलवंत सिंह मौलवीवाला सहित छह किसान नेता आंदोलनकारियों का पक्ष रख रहे हैं। टीकरी बॉर्डर बंद होने से बहादुरगढ़ के उद्योगों को हर रोज करोड़ों का नुकसान हो रहा है। इसलिए उद्यमी भी मीटिंग में अपनी समस्याएं रखेंगे। वे किसान नेताओं के समक्ष अपना दुखड़ा रोएंगे। उद्यमियों के प्रतिनिधियों के रूप में बहादुरगढ़ चैंबर आफ कामर्स एंड इंडस्ट्रीज (बीसीसीआई) के महासचिव सुभाष जग्गा और नरिन्दर छिकारा समेत कई उद्यमी बैठक में भाग ले रहे हैं।
... और पढ़ें

रोहतक में बनेंगे सेना के लिए बुलेट प्रूफ जैकेट, हेलीकॉप्टर समेत हरियाणा की बड़ी खबरें

हरियाणा की बड़ी खबरें: नारनौल में गैंगस्टर पपला गुर्जर को उम्रकैद, हिसार में सीएम मनोहर लाल ने लिया एयरपोर्ट का जायजा

हरियाणा में इस बार अक्तूबर माह में हुई सामान्य से अधिक बारिश की वजह से बासमती चावल की चमक फीकी पड़ सकती है, जिससे निर्यात प्रभावित होगा। तेज हवा और बारिश से फसल खेतों में गिर गई है। दाना काला पड़ने की आशंका है। किसानों और निर्यातकों को चिंता सताने लगी है कि चावल की चमक कम हुई तो पूरे बाजार पर असर पड़ेगा। क्योंकि विदेशी लोग बासमती चावल की चमक और खुशबू के दीवाने हैं। हर साल भारत करीब 46 लाख मीट्रिक टन बासमती चावल का निर्यात करता है। इसमें से करीब 20 लाख एमटी चावल हरियाणा से निर्यात होता है। इससे व्यापारियों को विदेशों से करोड़ों रुपये का राजस्व मिलता है। इस बार प्रदेश में 6 लाख हेक्टेयर में बासमती धान लगाया गया है। अक्तूबर में बासमती चावल की फैसल के पकने का समय होता है, लेकिन इसी माह अब तक 10 साल में सबसे अधिक रिकॉर्ड 21.3 एमएम बारिश हो चुकी है। इतनी बारिश बासमती के लिए खतरा है। विदेशों में बासमती की मांग के आधार पर ही हरियाणा की मंडियों में इसके रेट तय होते हैं। पिछली बार मार्केट में बासमती 4500 से 5000 रुपये प्रति क्विंटल रेट था। इस बार फसल के आने के बाद ही रेट आएंगे। पढ़ें अन्य खबरें...

नारनौल: बिमला मर्डर केस में गैंगस्टर पपला गुर्जर को उम्रकैद, छह साल बाद मिला परिवार को इंसाफ

नारनौल के गांव खैरोली निवासी बिमला हत्याकांड में कोर्ट ने मंगलवार को राजस्थान एवं हरियाणा के वांछित गैंगस्टर विक्रम उर्फ पपला गुर्जर को उम्रकैद की सजा सुनाई है। उसे सोमवार को दोषी करार दिया गया था। मामले की सुनवाई सोमवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से हुई थी। इस मामले में सुनवाई के दौरान 19 लोगों की गवाही हुई। कोर्ट ने पपला को दोषी मानते हुए उम्रकैद की सजा सुनाई है। मालूम हो कि विक्रम उर्फ पपला पर बिमला के भाई महेश एवं उसके बेटे संदीप की हत्या का आरोप था। पपला उक्त मामले में राजीनामा करना चाहता था।
...पढ़ें विस्तृत खबर

हिसार: दोपहर को मुख्यमंत्री मनोहर लाल पहुंचे एयरपोर्ट, विकास कार्यों का किया निरीक्षण
हिसार में हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल मंगलवार दोपहर करीब 1 बजे एयरपोर्ट पर पहुंचे। यहां उन्होंने भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ मीटिंग की और उनका हालचाल पूछा। भाजपा के पूर्व महामंत्री सुजीत कुमार ने छठ पूजा के लिए सीएम से समय मांगा। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने एसआर रनवे का निरीक्षण किया। इस दौरान सीएम ने बरवाला तथा धांसू रोड को बंद किए जाने की कार्रवाई के बारे में भी जानकारी ली, जिस पर डीसी प्रियंका सोनी ने बताया कि वैकल्पिक रोड की मांग ग्रामीणों की ओर से की गई है। ...पढ़ें विस्तृत खबर

फतेहाबाद: भूना के ठेकेदार पंकज खुराना हत्याकांड में आरोपी सुखा बुवान और प्रवीण पिन्नी गिरफ्तार

फतेहाबाद जिले के गांव खासा पठान की निवर्तमान सरपंच के देवर और शराब ठेकेदार पंकज खुराना हत्याकांड मामले में पुलिस ने सोमवार को वारदात में शामिल दो और आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। इनमें आरोपी सुखा निवासी बुवान व प्रवीण उर्फ पिन्नी भूना को सब इंस्पेक्टर दिलबाग सिंह ढुल की टीम ने गिरफ्तार किया है। पुलिस दोनों ही आरोपियों से पूछताछ कर रही है। वारदात में शामिल आठ बदमाशों में से अब तक चार को पुलिस गिरफ्तार कर चुकी है। मगर हत्याकांड का मास्टरमाइंड जगजीत उर्फ जज भूना, विक्रम नैन बैजलपुर, अमन मलिक शामलों कलां, जींद व दीपक उर्फ बिल्ला भूना अभी भी पुलिस की पकड़ से बाहर हैं। ...पढ़ें विस्तृत खबर

जींद: नरवाना के शास्त्री नगर में बिजली चोरी पकड़ने गई टीम पर हमला, कई लोगों पर केस दर्ज

जींद जिले के नरवाना में बिजली चोरी पकड़ने गई टीम पर लोगों ने हमला कर दिया। पुलिस ने बिजली निगम के एसडीओ की शिकायत पर मामला दर्ज कर जांच शुरू की है। पुलिस को दी शिकायत में एसडीओ भजन सिंह ने कहा कि मंगलवार सुबह लगभग पांच बजे बिजली निगम की टीम शास्त्री नगर में बिजली चोरी करने वाले लोगों को पकड़ने गई थी। टीम में निगम के कर्मचारी जयपाल, अंग्रेज फोरमैन, संदीप व पुलिसकर्मी जगदीश, अनिल कांस्टेबल भी शामिल थे। ...पढ़ें विस्तृत खबर

रोहतक में वारदात: पिस्टल के बल पर कटवाड़ा गांव के शराब के ठेके पर लूट, दो बदमाश कैश और शराब भी ले गए
रोहतक जिले में लूटपाट व झपटमारी की वारदात रुकने का नाम नहीं ले रही हैं। 3 दिन में 7 वारदात हो चुकी हैं। सोमवार की रात जिले के गांव कटवाड़ा में दो बाइक सवार युवक पिस्तौल तानकर साढ़े 12 हजार की नकदी व शराब की पेटी लूट कर ले गए। इस संबंध में सदर थाने में मामला दर्ज किया गया है। वारदात गांव के ठेके पर हुई। पुलिस के मुताबिक कटवाड़ा गांव निवासी वेदपाल ने दी शिकायत में बताया कि वह दो माह से गांव के बाहर स्थित शराब ठेके पर सेल्समैन के तौर पर काम कर रहा है। ...पढ़ें विस्तृत खबर
... और पढ़ें
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00