भिवानी: बच्चा रोने की आवाज...लोगों ने देखा तो कुएं में पड़ी थी तीन लाशें, मां ने उठाया खौफनाक कदम

संवाद न्यूज एजेंसी, भिवानी (हरियाणा) Published by: ajay kumar Updated Fri, 08 Oct 2021 10:57 PM IST

सार

हरियाणा के भिवानी में एक मां ने खौफनाक कदम उठा लिया। महिला ने अपने तीन बच्चों के साथ कुएं में छलांग लगा दी। बच्चे के रोने पर मामले का खुलासा हुआ। मां और दो बच्चों की मौत हो गई है। जबकि तीसरे की हालत गंभीर बनी है। 
घटनास्थल पर जुटे ग्रामीण।
घटनास्थल पर जुटे ग्रामीण। - फोटो : संवाद न्यूज एजेंसी
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

भिवानी जिले के गांव हसान में शुक्रवार को एक महिला ने अपने तीन बच्चों के साथ एक कुएं में छलांग लगा दी। इस घटना में मां और दो बच्चों की मौत हो गई, जबकि एक बच्चे को हिसार के निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उसकी हालत गंभीर बनी हुई है। 
विज्ञापन


पुलिस ने शवों को कुएं से निकलवाकर लोहारू के अस्पताल में रखवा दिया है। शनिवार को उनका पोस्टमार्टम कराया जाएगा। घटना के कारणों का पता नहीं चल पाया है। महिला के मायका पक्ष के लोगों के बयान के आधार पर पुलिस कार्रवाई करेगी। चैहड़ खुर्द निवासी कविता की शादी हसान निवासी विकास के साथ हुई थी। 


यह भी पढ़ें: पंजाब की सियासत : अगला हफ्ता बेहद अहम, नई पार्टी का एलान कर सकते हैं अमरिंदर, कांग्रेस चौकस

विकास और कविता के तीन बच्चे थे, जिनमें दो बेटे और एक बेटी थी। बताया जा रहा है कि उनके घर में किसी प्रकार के झगड़े या विवाद की कोई बात कभी सामने नहीं आई। जानकारी के अनुसार शुक्रवार को कविता का पांच वर्षीय बेटा मनीष और सात साल की बेटी खुशी स्कूल से लौटे थे। दोनों बच्चों के अलावा दो साल के बेटे अमन को लेकर कविता अपने खेत में स्थित कुएं पर गई और उसमें छलांग लगा दी। 

आसपास के लोगों को घटना के बारे में तब पता चला जब उन्हें बच्चे के रोने की आवाज कुएं से आई। लोगों ने कुएं के पास जाकर देखा तो चारों कुएं में गिरे हुए थे। ग्रामीणों ने इसके बारे में परिजनों को सूचित किया और उन्हें बाहर निकालने का प्रयास किया। इस घटना में 30 वर्षीय कविता, पांच वर्षीय मनीष और सात वर्षीय खुशी की मौत हो चुकी थी, जबकि दो वर्षीय अमन की हालत गंभीर बनी हुई थी। अमन को उपचार के लिए हिसार के निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। घटना की सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और मामले की जांच शुरू कर दी है।

यह भी पढ़ें: फगवाड़ा: मौत पर रोने वाला बेटा ही निकला पिता का 'कातिल', पुलिस को खुद दी थी हत्या की शिकायत

घटना के समय कोई नहीं था घर पर
बताया जा रहा है कि जिस समय यह घटना हुई उस समय विकास या परिवार का अन्य कोई सदस्य घर पर नहीं था। देर शाम जब वे घर पर आए तो उन्होंने कविता और बच्चों को तलाशना शुरू किया। इसी दौरान पूरे मामले के बारे में पता चला।

सूचना मिलते ही गांव में दौड़ी पुलिस
बहल थाना पुलिस को हसान में हुई इस दर्दनाक घटना के बारे में पता चला तो थाने से पुलिस की एक टीम तुरंत गांव में पहुंची और शवों को अपने कब्जे में लेकर जांच शुरू कर दी। प्राथमिक जांच के बाद शवों को लोहारू के अस्पताल में भिजवा दिया गया। मृतका के मायका पक्ष के लोगों को सूचना दी गई है। उन्हीं के बयान के आधार पर पुलिस आगामी कार्रवाई करेगी।
कविता, खुशी और मनीष के शव को लोहारू अस्पताल में भिजवा दिया गया है। शनिवार के उनका पोस्टमार्टम कराया जाएगा। महिला के मायका पक्ष के लोगों ने अभी बयान दर्ज नहीं कराए हैं। उनके बयान के आधार पर ही आगामी कार्रवाई की जाएगी। - रविंद्र कुमार, थाना प्रभारी, बहल।
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00