कुंडली बॉर्डर हत्याकांड: हरियाणा पुलिस ने दो और निहंगों को किया गिरफ्तार, अब तक चार आरोपी हो चुके अरेस्ट

संवाद न्यूज एजेंसी, सोनीपत (हरियाणा) Published by: प्रमोद कुमार Updated Sat, 16 Oct 2021 03:36 PM IST

सार

हत्यारोपी निहंग सर्बजीत को कोर्ट में पेश करने के बाद पुलिस ले गई है। उसे सात दिन के रिमांड पर लिया गया है। कोर्ट में पेशी के बाद जब पुलिस सर्बजीत को बाहर लाई तो मीडिया कर्मियों में वहां उससे सवाल पूछते वक्त धक्का-मुक्की होने लगी। इसी दौरान किसी ने उसकी पगड़ी को हाथ मार दिया, जिससे वह भड़क उठा और गाली–गलौज करने लगा। आरोपी शुक्रवार को पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया था। आत्मसमर्पण से पहले उसने श्री गुरुग्रंथ साहिब के दर्शन किए और इसके बाद अपनी गिरफ्तारी दी। वहीं, निहंग भगवंत सिंह व गोविंद प्रीत ने कुंडली बॉर्डर पर शनिवार देर रात आत्मसमर्पण किया। 
भगवंत सिंह व गोविंद प्रीत ने किया आत्मसमर्पण
भगवंत सिंह व गोविंद प्रीत ने किया आत्मसमर्पण - फोटो : संवाद न्यूज एजेंसी
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

सिंघु बॉर्डर पर किसानों के धरना स्थल पर एक शख्स की पीट-पीटकर हत्या करने के मामले में शनिवार को पंजाब पुलिस की ओर से दूसरी गिरफ्तारी के बाद हरियाणा पुलिस ने दो और निहंगों को हिरासत में लिया है। शनिवार देर रात निहंग भगवंत सिंह व गोविंद प्रीत ने कुंडली बॉर्डर पर आत्मसमर्पण किया। पंजाब पुलिस ने आरोपी नारायण सिंह को अमृतसर जिले के जंडियाला गुरु के पास अमरकोट गांव से गिरफ्तार किया। अब तक पंजाब और हरियाणा पुलिस द्वारा चार आरोपियों को गिरफ्तार किया जा चुका है।
विज्ञापन


वहीं, आरोपी निहंग सर्बजीत सिंह ने पुलिस के सामने तीन आरोपियों के नाम बताए हैं और चार आरोपियों को चेहरे से पहचानने की बात कुबूली है। जिसके बाद पुलिस ने अन्य आरोपियों की तलाश में दबिश तेज कर दी है। हालांकि पुलिस ने अभी किसी नाम का खुलासा नहीं किया है। डीएसपी मुख्यालय वीरेंद्र सिंह के सामने मामले के आरोपी निहंग सर्बजीत सिंह ने शुक्रवार देर शाम आत्मसमर्पण कर दिया था। वह पंजाब के गुरदासपुर स्थित विठवा का रहने वाला है।


उधर, अमृतसर ग्रामीण एसएसपी राकेश कौशल ने बताया कि इस घटना में दो निहंग शामिल थे, एक को हरियाणा पुलिस ने शुक्रवार को गिरफ्तार किया था। नारायण सिंह फरार हो गया था। अधिकारियों की एक टीम बनाई गई थी और उसके घर के चारों ओर बल तैनात किया गया था। उसने आज पुलिस के सामने आत्मसमर्पण करने की घोषणा की थी लेकिन यह बहुत संवेदनशील मामला है। 

दलित संगठनों ने अनुसूचित जाति आयोग से की सख्त कार्रवाई की मांग
अखिल भारतीय खटिक समाज, अखिल भारतीय बेरवा विकास संघ, धनक कल्याण संघ समेत करीब 15 दलित संगठनों ने सिंघू बॉर्डर पर लखबीर सिंह की नृशंस हत्या के मामले में दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है। इन संगठनों ने शनिवार को राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग के अध्यक्ष विजय सांपला को एक ज्ञापन सौंपकर इस मामले की निष्पक्ष जांच कराने और दोषियों को सख्त से सख्त सजा दिलाने की मांग की। आयोग ने शुक्रवार को ही स्वत: संज्ञान लेते हुए हरियाणा के डीजीपी से इस मामले की प्रारंभिक रिपोर्ट 24 घंटे के भीतर तलब की थी।

साथियों का पता लगाने के लिए गुरदासपुर व चमकौर साहिब ले जाया जाएगा
शनिवार को सीआईए खरखौदा प्रभारी योगेंद्र सिंह की टीम ने डीएसपी वीरेंद्र सिंह के नेतृत्व में आरोपी सर्बजीत सिंह को सोनीपत कोर्ट में पेश किया गया। उसे सिविल जज (जूनियर डिविजन) किम्मी सिंगला की कोर्ट में पेश किया। जहां डीएसपी वीरेंद्र सिंह ने आरोपी को 14 दिन तक रिमांड पर देने की मांग की। कोर्ट ने आरोपी को सात दिन के पुलिस रिमांड पर दिया है। इस दौरान पुलिस ने आरोपी द्वारा अपने तीन साथियों के नाम बताने व चार की चेहरे से पहचान होने की बात कहते हुए रिमांड की मांग की थी। पुलिस ने बताया कि उसके साथियों का पता लगाने के लिए उसे गुरदासपुर व चमकौर साहिब ले जाया जाएगा। वहीं पुलिस ने बताया उससे एक तलवार बरामद हुई है। हालांकि उसका प्रयोग वारदात में नहीं हुआ है। उससे वारदात में प्रयुक्त किया हथियार बरामद किया जाएगा। अदालत ने उसका सात दिन का रिमांड ही मंजूर किया। उधर, मृतक के अनुसूचित जाति का होने के चलते मामले में एससीएसटी एक्ट भी जोड़ा गया है। 

गुस्से में आकर लखबीर का पैर काट दिया
एसएसपी के मुताबिक, नारायण सिंह को गांव के एक गुरुद्वारे के बाहर गिरफ्तार कर लिया। जब उसे लगा कि वह बच नहीं सकता, तो वह बाहर आया। हरियाणा पुलिस की जानकारी दी है। इसके बाद टीम सोनीपत से रवाना हो गई है। हम उसे कानून के अनुसार उन्हें सौंप देंगे। अगर वे नहीं आते हैं, तो हम यहां उनकी जांच करेंगे। राकेश कौशल ने बताया कि आरोपी ने लखबीर की हत्या के गुनाह को स्वीकार किया है। आरोपी को जब पता चला कि लखबीर ने गुरु ग्रंथ साहिब का अपमान किया है, तो वह क्रोधित हो गया और उसका पैर काट दिया।

सात दिन के रिमांड पर भेजा
वही, इस मामले में आरोपी निहंग सर्बजीत को पुलिस ने शनिवार दोपहर को कोर्ट में पेश कर सात दिन के रिमांड पर लिया है। पुलिस उससे हथियार बरामद करने के साथ ही अन्य आरोपियों की पहचान का प्रयास करेगी। कुंडली बॉर्डर पर आंदोलन स्थल के पास पंजाब के तरनतारन स्थित चीमा खुर्द गांव के लखबीर की शुक्रवार तड़के हत्या कर दी गई थी। हत्या का आरोप निहंगों पर लगा था। लखबीर पर धार्मिंक ग्रंथ से बेअदबी करने का आरोप लगाकर उसकी बेरहमी से हत्या की थी।

धक्कामुक्की होने पर गिर गई पगड़ी 
कोर्ट में पेशी के बाद पुलिस टीम जब हत्यारोपी निहंग सर्बजीत को रिमांड पर लेकर बाहर आई तो मीडिया कर्मियों ने उसे घेरकर हत्या के कारणों के बारे में जानने का प्रयास किया। इस दौरान धक्कामुक्की होने पर उसकी पगड़ी को किसी ने हाथ मार दिया। जिस पर उसने सिर पर बांधी अपनी पगड़ी को उतार लिया और उसके बाद वह गाली-गलौज करने लगा। जिस पर पुलिस ने मशक्कत करते हुए उसे कार में बैठाया और लेकर चली गई।

आरोपियों ने वायरल किए थे वीडियो
आरोपियों ने इसके वीडियो भी बनाकर वायरल किए थे। घटना का पता लगने पर पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों ने कुंडली में डेरा डाल लिया था। एडीजीपी संदीप खिरवार, डीसी ललित सिवाच और एसपी जशनदीप सिंह रंधावा भारी पुलिस बल के साथ कुंडली थाने में पहुंच गए थे। वह देर रात तक वहीं पर रहे। डीएसपी मुख्यालय वीरेंद्र सिंह के सामने निहंग सर्बजीत सिंह ने आत्मसर्मपण कर दिया था।

यह भी पढ़ें-प्रेम कहानी का दुखद अंत: पांच माह की गर्भवती पत्नी को गाड़ी से कुचलकर मरवा डाला, रेलवे पुलिस का एसआई गिरफ्तार

हर रोज मिल सकेगा वकील से
मामले में उसे शनिवार दोपहर को कोर्ट में पेश किया गया, जहां पर पुलिस ने बताया कि उससे हत्या में प्रयुक्त हथियारों की बरामदगी करनी है। साथ ही उसके साथियों का पता लगाना है। अदालत ने उसे सात दिन के रिमांड पर भेजा है। आरोपी की तरफ से पेश हुए अधिवक्ता मुनार्क भारद्वाज ने बताया कि अदालत ने आरोपी का प्रतिदिन मेडिकल कराने, अधिवक्ता को उससे हर रोज मिलने देने के आदेश दिए हैं।

छावनी बना कुंडली बॉर्डर
वहीं कुंडली बॉर्डर पर लखबीर सिंह की हत्या के बाद पुलिस ने क्षेत्र में सुरक्षा बढ़ा दी है। कुंडली क्षेत्र छावनी में बदल गया है। पुलिस ने जगह-जगह नाका लगाकर क्षेत्र को सील कर दिया है। वहीं निहंगों के क्षेत्र से बाहर जाने पर रोक लगाई हुई है।  
हत्या के आरोपी निहंग को कोर्ट में पेश कर सात दिन के रिमांड पर लिया गया है। उसके साथियों के बारे में पता लगाया जा रहा है। मामले में एससीएसटी एक्ट भी जोड़ा गया है। -वीरेंद्र सिंह, डीएसपी

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00