बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

ऐसे कैसे हारेगा कोरोना..197 दिनों में लगी साढ़े चार लाख डोज, इस गति से बढ़े तो लक्ष्य हासिल करने में 897 दिन और लगेंगे

Amar Ujala Bureau अमर उजाला ब्यूरो
Updated Sun, 01 Aug 2021 12:33 AM IST
विज्ञापन
ख़बर सुनें
हिसार। कोरोना की दूसरी लहर कमजोर पड़ने के साथ ही कोरोनारोधी वैक्सीन लगाने का काम भी बेहद धीमी रफ्तार से चलने लगा है। विशेषज्ञों की मानें तो कोरोना की तीसरी लहर आने की आशंका है। विभाग की ओर से जिले की करीब साढ़े 12 लाख की आबादी को वैक्सीन की 25 लाख डोज लगाने का लक्ष्य रखा है। अभियान शुरू हुए 197 दिन हो चुके हैं, लेकिन अभी तक सिर्फ साढ़े लाख डोज ही लग पाई हैं। इनमें से 4 लाख 10 हजार लोगों को पहली और 89169 लोगों को दोनों डोज दी गई है। अगर इस गति से टीकाकरण अभियान चला तो पूरी आबादी को दोनों डोज देने में 897 दिन और लगेंगे। फिलहाल विभाग को पर्याप्त मात्रा में वैक्सीन नहीं मिल पा रही है।
विज्ञापन

स्वास्थ्य विभाग के अनुसार अभी तक जिले को वैक्सीन की करीब 5 लाख 4 हजार डोज मिली। इसमें करीब 50 हजार डोज बेकार गई। इसका कारण यह रहा था वॉयल खुलने पर बूथ पर कम लोग आए, इस कारण डोज खराब हो गई। जून माह के मुकाबले जुलाई माह में वैक्सीन की पहली डोज कम लगी है। जुलाई में पहली की बजाय दूसरी डोज पर अधिक जोर रहा। विशेषज्ञों के मुताबिक इस जुलाई माह में 3 लाख लोगों को टीकाकरण होना था। इसके मुकाबले 84 हजार 957 पहली डोज लगी है। जून में 1 लाख 11 हजार 272 पहली डोज लगी थी। इस लिहाज से जुलाई में जून की अपेक्षा करीब 26 हजार वैक्सीन कम लगी। अगर दूसरी डोज की बात करे तो जुलाई में 40347 लोगों को दूसरी डोज मिली। जून में 17988 लोगों को दूसरी डोज मिली थी। अब विभाग की अगले दो महीने में तीन लाख लोगों को दूसरी डोज देना प्राथमिकता रहेगी।

28 से 8 तक सिमटे टीकाकरण बूथ
जुलाई माह में विभाग को बहुत कम मात्रा में वैक्सीन मिली। इसकी अपेक्षा टीका लगवाने वाले लोगों की संख्या अधिक थी। दोपहर तक ही वैक्सीन खत्म हो जाती थी। लोगों को बिना टीका लगवाए जाना पड़ता था। पहले जिले में सीएचसी-पीएचसी से लेकर जिला मुख्यालय तक 28 बूथ बनाए जाते थे। जुलाई माह में कुछ चुनिंदा दिनों में ही 8 से अधिक बूथ बने। शनिवार को जिले में केवल 3600 लोगों का टीकाकरण हो सका।
रोज 10 हजार वैक्सीन लगाने की जरूरत
इन दिनों स्वास्थ्य विभाग को वैक्सीन की औसतन 5 से 6 हजार डोज रोजाना मिल रही हैं। जिले में कम से कम 10 हजार से अधिक वैक्सीन की जरूरत है। अगर हर रोज दस हजार टीकाकरण हो तो साढ़े 12 लाख की आबादी यानी कुल 25 लाख वैक्सीन लगाने में 8 महीने का समय लगेगा। कोरोना की तीसरी लहर से पहले अधिक से अधिक लोगों को दोनों वैक्सीन देना जरूरी है।
अब तक ऐसे चला अभियान
चरण लक्ष्य (दोनों डोज) पहला टीका दूसरा टीका
प्रथम चरण के स्वास्थ्य कर्मी 15279 13579 10252
दूसरे चरण के फ्रंटलाइन वर्कर 7305 5732 3705
60 वर्ष से अधिक उम्र वाले 226980 85882 62169
45 से 60 वर्ष तक 167768 111734 36534
18 से 44 वर्ष के युवा 835981 193158 13043
इस माह में इतना ग्राफ रहा
माह पहला डोज दूसरी डोज
अप्रैल 90305 21405
मई 69025 9422
जून 111272 179888
जुलाई 84957 40347
हमारे पास जितनी वैक्सीन आ रही है, उसे हम 48 घंटे में लगाने की कोशिश कर रहे हैं। हम बार-बार अधिकारियों को वैक्सीन की मांग भेज रहे हैं। अधिकारी कोटे के अनुसार वैक्सीन उपलब्ध कराने की बात कहते हैं। वैक्सीनेशन की रफ्तार कम नहीं है। उपलब्धता थोड़ी कम है। - डॉ. जितेंद्र शर्मा, डिप्टी सीएमओ, हिसार
आज शहर में कहीं नहीं टीकाकरण
स्वास्थ्य विभाग को 2 हजार वैक्सीन मिली है। रविवार को केवल उकलाना ब्लॉक में ही टीकाकरण होगा। शहर के किसी भी बूूथ पर वैक्सीनेशन नहीं होगा।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

  • Downloads

Follow Us