Hindi News ›   Chandigarh ›   Clash in ABVP and SFS Volunteers in Punjab University

पंजाब यूनिवर्सिटी में आधी रात को आपस में भिड़े एबीवीपी-एसएफएस कार्यकर्ता, दो छात्र घायल

अमर उजाला नेटवर्क, चंडीगढ़ Published by: पंचकुला ब्‍यूरो Updated Sat, 22 Feb 2020 01:02 PM IST
एबीवीपी का विरोध प्रदर्शन
एबीवीपी का विरोध प्रदर्शन - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन
ख़बर सुनें
पंजाब यूनिवर्सिटी का हॉस्टल नंबर-3 वीरवार की रात अखाड़ा बन गया। एबीवीपी व एसएफएस के कार्यकर्ता भिड़ गए। मारपीट हुई और उसके बाद कुछ छात्र नेता हॉस्टल में डंडा लेकर जा घुसे। आरोप है कि कई घंटे उत्पात मचाया। इस घटना में दोनों पक्षों के दो विद्यार्थी घायल हैं। जानकारों का कहना है कि इस घटना से जेएनयू में हुए बवाल की याद ताजा हो गई।
विज्ञापन


वहां भी लाठी-डंडों के साथ कुछ विद्यार्थी घुसे थे। वैसा ही यहां भी दिखा है। हालांकि दोनों पक्षों के दोनों पीड़ितों के बीच शुक्रवार शाम समझौता हो गया, लेकिन एबीवीपी ने कहा है कि लाठी-डंडे हॉस्टल में लाने वाले लोगों पर कड़ी कार्रवाई हो। जानकारों का कहना है कि दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए। इस घटना का वायरल वीडियो चर्चा में है।


आरोप-प्रत्यारोप
एसएफएस : छात्र रोहित रैगिंग के खिलाफ चला रहा था, इसलिए एबीवीपी ने की पिटाई
एसएफएस का आरोप है कि कैमिकल इंजीनियरिंग का विद्यार्थी रोहित ब्वॉयज हॉस्टल नंबर तीन में रूम में था। वह अपने विभाग में कुछ दिन से रैगिंग के खिलाफ अभियान चला रहा था। आरोप है कि इसी को लेकर एबीवीपी के कार्यकर्ताओं ने उसकी पिटाई कर दी। उसके गर्दन में चोट आई है। एसएफएस की ओर से पुलिस में शिकायत की गई।

एबीवीपी : एसएफएस कार्यकर्ताओं ने सौरभ यादव और अभिषेक से की मारपीट
एबीवीपी का आरोप है कि एसएफएस कार्यकर्ताओं की ओर से कैमिकल इंजीनियरिंग के विद्यार्थी सौरभ यादव व अभिषेक के साथ मारपीट की गई। साथ ही कुछ लोग लाठी-डंडे लेकर हॉस्टल में घुसे। इससे हॉस्टल में दहशत का माहौल बनाया गया। इसके बाद एबीवीपी के कार्यकर्ताओं ने हॉस्टल के बाहर प्रदर्शन किया।

एबीवीपी ने वीसी कार्यालय के बाहर दिया धरना

दिन में घटना के कई वीडियो वायरल हो गए। इस मामले में कार्रवाई के लिए एबीवीपी के कार्यकर्ता वीसी कार्यालय के बाहर शुक्रवार को धरना देने पहुंचे। साथ ही नारेबाजी की। उनकी मांग थी कि घटना का वीडियो उन्हें हॉस्टल से दिलाया जाए और मामले में कार्रवाई हो। पीयू प्रशासन ने इसकी हामी भरी तो धरना खत्म हो गया।

उसके बाद हॉस्टल से घटना का वीडियो एबीवीपी को दिया गया, उस वीडियो में एक या दो विद्यार्थियों के हाथ में लाठी-डंडे दिख रहे हैं। शुक्रवार की शाम होते-होते दोनों पक्षों के कार्यकर्ता सौरभ यादव व रोहित में समझौता हो गया। एबीवीपी ने चेतावनी दी कि लाठी डंडे लाने वालों पर कार्रवाई नहीं होगी तो धरना प्रदर्शन फिर शुरू करेंगे। वहीं दूसरी ओर एसएफएस ने भी डीएसडब्ल्यू को ज्ञापन दिया है।

क्या कहते हैं छात्र नेता
कैमिकल इंजीनियरिंग के विद्यार्थी रोहित की पिटाई एबीवीपी के कार्यकर्ताओं ने की है जबकि उसकी कोई गलती नहीं थी। अब इस प्रकरण में समझौता हो गया है। हमने पूरा प्रकरण पुलिस व डीएसडब्ल्यू को बता दिया है। वायरल वीडियो में सच कुछ नहीं है।
- हसनप्रीत, एसएफएस कार्यकर्ता

एसएफएस पर हो कार्रवाई वरना प्रदर्शन करेेंगे
एसएफएस के कार्यकर्ता लाठी डंडों के साथ हॉस्टल नंबर तीन में घुसे हैं और एबीवीपी के कार्यकर्ताओं को मारा है। इसमें दो छात्र घायल हुए हैं, यहां हिंसा फैलाई गई है और गालीगलौज की गई है। लाठी डंडे लाने वाले व गाली देने वाले एसएफएस के कार्यकर्ताओं पर कार्रवाई होनी चाहिए अन्यथा धरना-प्रदर्शन करेंगे।
- हरीश गुर्जर, अध्यक्ष एबीवीपी

किसी को नहीं बख्शेंगे
दो छात्र संगठनों के पदाधिकारियों में आपसी विवाद हुआ है। घटना के फुटेज निकाले गए हैं। एक छात्र के हाथ में डंडा दिख रहा है। वह छात्र किस हॉस्टल का है, इस पर जांच चल रही है। साथ ही दोनों पक्षों के छात्रों में समझौता हो गया, लेकिन हम इस मामले में कार्रवाई करेंगे, किसी को भी नहीं बख्शा जाएगा।
- डॉ. संजीव गौतम, वार्डन, हॉस्टल नंबर तीन
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय Hindi News वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00