बेरहमी : भीख मांगने से किया इंकार तो बेटी को सिगरेट से दागता है बाप, किशोरी बोली- मुझे घर नहीं जाना, चाहे नरक में डाल दो

संवाद न्यूज एजेंसी, पानीपत (हरियाणा) Published by: ajay kumar Updated Wed, 31 Mar 2021 01:01 AM IST

सार

  • किशोरी 10 रुपये लेकर घर से भागी, बोली- मुझे घर नहीं जाना, चाहे नरक में डाल दो
  •  सेक्टर 12 स्थित एक मकान के आगे बैठकर रो रही थी बच्ची,  पार्षद ने दी सूचना 
पीड़ित किशोरी।
पीड़ित किशोरी। - फोटो : संवाद न्यूज एजेंसी
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

पापा भीख मंगवाते हैं, मैं मना करती हूं तो जलती हुई सिगरेट मेरे सिगरेट में दागते हैं। मैं नरक से भी बदत्तर जिंदगी जी रही हूं। मैडम मुझे घर नहीं जाना, मुझे पढ़ाई करनी है, इसलिए मैं घर छोड़कर भाग आई, मुझे जेल में डाल दो, चाहे नरक में लेकिन मुझे घर नहीं जाना। यह शब्द रोते हुए एक 14 वर्षीय किशोरी ने सीडब्ल्यूसी की चेयरपर्सन पदमा रानी को काउंसलिंग के दौरान कहे।
विज्ञापन


सीडब्ल्यूसी चेयरपर्सन पदमा रानी ने बताया कि उन्हें गत 28 मार्च होली की रात करीब आठ बजे वार्ड 10 के पार्षद रविंद्र भाटिया से सूचना मिली थी कि करीब 14 वर्षीय एक किशोरी सेक्टर- 12 में 548 के बाहर बैठी हुई रो रही है। इसी सूचना पर उन्होंने सेक्टर 11-12 चौकी पुलिस को मौके पर भेजकर किशोरी को रेस्क्यू कराया। 


बच्ची से बातचीत करने का प्रयास किया लेकिन वह डरी थी, जिस वजह से वह बोल नहीं पाई। उन्होंने किशोरी का मेडिकल कराया और उसके बाद उझा रोड स्थित सृष्टि कल्याण समिति ओपन शेल्टर होम में भिजवा दिया। वहीं मंगलवार को बच्ची की काउंसलिंग की गई। जिसमें बच्ची ने हैरान कर देने वाले खुलासे किए हैं।

पिता रेलवे स्टेशन और बस स्टैंड पर मंगवाता है भीख   

किशोरी को मंगलवार को काउसंलिग के लिए सीडब्ल्यूसी कार्यालय बुलाया गया। जहां पर किशोरी ने काउंसलिंग के दौरान बताया कि वह मूलरूप से बिहार की रहने वाली है। उसके चार भाई हैं। जिनसे भी पिता रेलवे स्टेशन और बस स्टैंड पर भीख मंगवाता है। 

10 रुपये लेकर घर से निकली, नहीं पता था कहा जाना
किशोरी ने काउंसलिंग में बताया कि वह पिता की प्रताड़ना से परेशान हो चुकी है। भीख में मिले 10 रुपये लेकर वह निकल पड़ी। उसने ऑटो लिया, 10 रुपये में ऑटो चालक उसे सेक्टर 11 के पास छोड़ दिया। उसे नहीं पता था कि वह कहां जहा रही है लेकिन एक लक्ष्य था कि घर नहीं जाना है।

किशोरी के शरीर पर मिले सिगरेट के दागे 40 से अधिक निशान
सीडब्ल्यूसी अधिकारी पदमा रानी ने कहा कि बेरहम पिता ने किशोरी के शरीर पर सिगरेट से 40 से अधिक जगह दागा है। जिस कारण किशोरी डरी हुई है। वह घर नहीं जाना चाहती, उसका कहना है कि अगर वह घर जाएगी तो पिता उसके साथ मारपीट करेगा। किशोरी ने कहा कि वह पढ़ना चाहती है और कुछ बनना चाहती। उसे फिलहाल ओपन सेल्टर होम में रखा गया है। पिता की तलाश जारी है, मिलते ही आरोपी के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई जाएगी।
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय Hindi News वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00