बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
TRY NOW
विज्ञापन
विज्ञापन
इन तीन राशियों के लिए निवेश का शुभ समय, भाग्यफल से जानें अन्य राशियों का हाल
Myjyotish

इन तीन राशियों के लिए निवेश का शुभ समय, भाग्यफल से जानें अन्य राशियों का हाल

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

हिमाचल में 64 कोरोना संक्रमितों की मौत, 3071 नए पॉजिटिव, जानें सक्रिय केस

हिमाचल प्रदेश में सोमवार को 64 और कोरोना पॉजिटिव मरीजों की मौत हो गई है। कांगड़ा जिले में 25, सोलन 10, शिमला सात, सिरमौर सात, मंडी पांच, ऊना चार, कुल्लू तीन, बिलासपुर दो  और किन्नौर में एक संक्रमित ने दम तोड़ा। उधर, प्रदेश में 3071 लोगों के कोरोना टेस्ट की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इनमें से कांगड़ा जिले में 1215, मंडी 429, शिमला 306, बिलासपुर 242, चंबा 200,  सिरमौर 192, ऊना 195, कुल्लू 99, सोलन 79, हमीरपुर 42, किन्नौर 48 और लाहौल-स्पीति में 24 नए मामले आए हैं। हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय की पत्नी के कोरोना टेस्ट की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है। उन्हें इलाज के लिए आईजीएमसी लाया गया है। अस्पताल प्रबंधन ने यहां 4 विभागों के डॉक्टरों की कमेटी बनाई है, जो लगातार निगरानी रखेगी। 

कहां कितने सक्रिय केस
इसके साथ ही प्रदेश में कुल कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 163786 पहुंच गया है। इनमें से अब तक 124750 संक्रमित ठीक हो चुके हैं। सक्रिय कोरोना मामले अब 36633 रह गए हैं और 2369 संक्रमितों की मौत हुई है। बिलासपुर में कोरोना के सक्रिय केसों की संख्या 2769, चंबा 2326, हमीरपुर 2746, कांगड़ा 11524, किन्नौर 391, कुल्लू 950, लाहौल-स्पीति 241, मंडी 3957, शिमला 3047, सिरमौर 2933, सोलन 3138 और ऊना जिले में 2611 पहुंच गई है। बीते 24 घंटों में 3760 संक्रमित ठीक हुए हैं। इस दौरान कोरोना की जांच के लिए 13534 लोगों के सैंपल लिए गए।

भोरंज में 13 मकान बने नए कंटेनमेंट जोन 
 कोरोना संक्रमण के मामले सामने आने के बाद भोरंज की विभिन्न ग्राम पंचायतों में कुल 13 मकानों को मिनी कंटेनमेंट जोन बनाया गया है तथा 25 मकानों से कंटेनमेंट जोन से बाहर किया गया है। एसडीएम राकेश कुमार ने इस संबंध में आदेश जारी किए हैं और ये आदेश तुरंत प्रभाव से लागू कर दिए गए हैं। मिनी कंटेनमेंट जोन घोषित किए गए मकानों में पपलाह बार्ड नंबर 4 से 1, झरलोग वार्ड नंबर 3 से 1, अमरोह वार्ड नंबर 3, 5 से 2, सधरियाण वार्ड नंबर 4 से 1, झरलोग वार्ड नंबर 4 से 1, महल वार्ड नंबर 7 से 1, भोरंज वार्ड नंबर 1, 4, 9 से 3, भुक्कड़ वार्ड नंबर 2, 5 से 2, चंबोह वार्ड नंबर 4 से 1, मकान मिनी कंटेनमेंट जोन बनाए गए हैं।

साथ ही गांव धनवान के वार्ड नंबर 4 से 2, बधानी के वार्ड 3 से 1, बलोह के वार्ड नंबर 4 से 1, बजड़ौह के वार्ड 5 से 1, झरलोग के वार्ड 6 से 4, जाहू के वार्ड 6 से 1, सधरियाण के वार्ड 1, 7 से 2, भकेड़ा के वार्ड 5 से 1, भौंखर के वार्ड 6 से 1, कराह वार्ड नंबर 2 से 1, महल वार्ड नंबर 1 से 1, खरवाड़ वार्ड नंबर 6 से 1, झरलोग वार्ड नंबर 4 से 1, रौन्ही वार्ड नंबर 4 से 1, झरलोग वार्ड नंबर 1, 4 से 2, पपलाह वार्ड नंबर 4 से 1, टिककरी मिन्हासा वार्ड नंबर 4 से 1, हनोह वार्ड नंबर 1 से 1 मकान को कंटेनमेंट जोन से बाहर कर दिया गया है।
... और पढ़ें
कोरोना की जांच के लिए सैंपल लेता स्वास्थ्य कर्मी। कोरोना की जांच के लिए सैंपल लेता स्वास्थ्य कर्मी।

हिमाचल: भारी बारिश-ओलावृष्टि और अंधड़ की चेतावनी, ऊना में 40 डिग्री पहुंचा अधिकतम तापमान

हिमाचल प्रदेश के मैदानी और मध्य पर्वतीय जिलों में मंगलवार को अंधड़ का येलो अलर्ट है। 19 और 20 मई को पूरे प्रदेश में भारी बारिश, अंधड़ और ओलावृष्टि का ऑरेंज अलर्ट जारी हुआ है। 23 मई तक पूरे प्रदेश में मौसम खराब बना रहने का पूर्वानुमान है। पश्चिमी विक्षोभ की सक्रियता से मौसम में यह बदलाव आ रहा है।सोमवार को पूरे प्रदेश में मौसम साफ रहा। ऊना में अधिकतम तापमान 40.4 डिग्री दर्ज हुआ। बिलासपुर, हमीरपुर, कांगड़ा, चंबा, नाहन और शिमला में भी सोमवार को गर्मी ने खूब पसीने छुड़ाए।

बिलासपुर में अधिकतम तापमान 39.5, हमीरपुर 38.8, कांगड़ा 35.4, नाहन 35.0, सुंदरनगर 34.4, चंबा 34.3, भुंतर 33.1, सोलन 31.6, धर्मशाला 27.4, शिमला 26.7, कल्पा 22.0, डलहौजी 21.3 और केलांग में 17.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ। मौसम विज्ञान केंद्र शिमला ने 19 से 21 मई तक मैदानी जिलों ऊना, बिलासपुर, हमीरपुर, कांगड़ा और मध्य पर्वतीय जिलों शिमला, सोलन, सिरमौर, मंडी, कुल्लू, चंबा के कई क्षेत्रों में अधिक बादल बरसने की चेतावनी जारी की है। इस दौरान उच्च पर्वतीय जिलों किन्नौर व लाहौल-स्पीति में कहीं-कहीं बर्फबारी होने की संभावना भी है।
... और पढ़ें

हिमाचल में पहले दिन युवाओं में दिखा जोश, 19810 ने लगवाई वैक्सीन

हिमाचल प्रदेश में 18 से 44 साल वालों को कोरोना वैक्सीन लगाने के पहले दिन युवाओं में खूब जोश दिखा। सोमवार को 19810 लोगों को वैक्सीन लगाई गई जबकि 21090 को टीका लगाने का लक्ष्य रखा गया था। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने राजधानी शिमला के उपनगर कसुम्पटी स्थित सरकारी स्कूल में इस अभियान का शुभारंभ किया। टीकाकरण के लिए प्रदेश में 213 केंद्र स्थापित किए गए हैं। अब तक 21,090 लोगों ने अपनी सारिणी बुक करवा दी है। इस आयु के लोगों के लिए टीकाकरण की अगली तिथि 20 मई निर्धारित की गई है। 18 मई को कोविन पोर्टल सत्र की जानकारी उपलब्ध करवाई जाएगी। टीकाकरण के अन्य सत्र 24, 27 और 31 मई को आयोजित किए जाएंगे। सीएम ने लोगों से स्वयं का पंजीकरण करवाकर अपनी अप्वांइटमेंट बुक करने का आग्रह किया है। उन्होंने लोगों से टीकाकरण केंद्रों में अनावश्यक भीड़ से बचने की अपील भी की है। 

सीएम ने पूछा - कोविड तो नहीं हुआ, महिला के न कहते ही बोले, अब होगा भी नहीं
सीएम सोमवार सुबह 10:30 बजे वैक्सीनेशन केंद्र पर पहुंचे। उन्होंने यहां रखे वैक्सीन के डिब्बे से लाल रिबन को खोला। इसके बाद कसुम्पटी की शैलेजा ठाकुर को पहला टीका लगाया गया। टीका लगते ही सभी लोगों ने तालियां बजाईं। सीएम ने इस दौरान एक महिला से मजाकिया लहजे में पूछा कि कोविड तो नहीं हुआ है। महिला ने कहा नहीं। इस पर सीएम ने कहा कि अब होगा भी नहीं। एक घंटे के भीतर इस केंद्र में 37 लोगों को वैक्सीन लगाई है। वहीं, पहला टीका लगवाने वाली शैलेजा ठाकुर ने बताया कि सभी लोगों को वैक्सीन लगवानी चाहिए। वह गुड़गांव में नौकरी करती हैं लेकिन इन दिनों वर्क फ्रॉम होम पर हैं। लिहाजा, जैसे ही वैक्सीनेशन को लेकर स्लॉट मिला तो बुक करवा कर वह टीकाकरण करवाने के लिए यहां पहुंच र्गइं। 

राज्य में 386 कोल्ड चेन प्वाइंट 
सीएम ने कहा कि हिमाचल प्रदेश 31 प्रतिशत जनसंख्या का टीकाकरण कर देश के अग्रणी राज्य के रूप में उभरा है। प्रदेश में अब तक लोगों को वैक्सीन की 21,50,353 खुराकें दी जा चुकी हैं। सीएम ने कहा कि राज्य वैक्सीन भंडार-1 और क्षेत्रीय वैक्सीन भंडार-2 सहित राज्य में 386 कोल्ड चेन प्वाइंट स्थापित किए गए हैं, जिनके माध्यम से इन टीकों का वितरण किया जा रहा है।

पीएम मोदी अधिकारियों से करेंगे बातचीत
 हिमाचल प्रदेश में कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के प्रयासों के बीच मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हिमाचल प्रदेश के राज्य व जिला के अधिकारियों से चर्चा करेंगे। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से होने वाली इस बैठक में मुख्य सचिव, स्वास्थ्य सचिव के अलावा जिलों के अधिकारी भी मौजूद रहेंगे। मुख्यमंत्री इस दौरान प्रदेश की स्थिति से प्रधानमंत्री को अवगत कराएंगे। ब्यूरो
... और पढ़ें

केंद्र ने जल जीवन मिशन में हिमाचल को मंजूर किए 1262.79 करोड़

जल शक्ति मंत्री महेंद्र सिंह ठाकुर ने सोमवार को विभाग के मुख्य अभियंताओं और अधीक्षण अभियंताओं के साथ वर्चुअल माध्यम से बैठक। इस दौरान उन्होंने मुख्यमंत्री और जल शक्ति मंत्री की घोषणाओं एवं शिलान्यासों के अतिरिक्त जल जीवन मिशन तथा नाबार्ड वित्त पोषित योजनाओं की समीक्षा की। उन्होंने अधिकारियों को जल जीवन मिशन के तहत चल रही विभिन्न परियोजनाओं सहित अन्य कार्यों को समय पर पूरा करने के निर्देश दिए।

मंत्री महेंद्र सिह ठाकुर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत का प्रदेश को जल जीवन मिशन के तहत उदार वित्तीय सहायता देने के लिए आभार जताया। यह मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के प्रयासों से संभव हो पाया है। उन्होंने कहा कि जल जीवन मिशन के तहत चल रही हर घर नल से जल योजना में प्रदेश ने गत दो साल के दौरान सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कर देश भर में प्रथम स्थान प्राप्त किया है।

जल जीवन मिशन के तहत चालू वित्त वर्ष के दौरान राज्य को केंद्र सरकार ने 1262.79 करोड़ रुपये की धनराशि मंजूर की है, जिसमें से 315.70 करोड़ की पहली किस्त मिल चुकी है। उन्होंने कहा कि जल जीवन मिशन के तहत चालू वित्त वर्ष में 880 योजनाओं को पूरा किया जाना है और 2.26 लाख घरों में नल लगाये जाने प्रस्तावित हैं। उन्होंने कहा कि चालू वित्त वर्ष के दौरान प्रदेश के लिए मंजूर 1262.79 करोड़ रुपये की वार्षिक योजना में चार गुणा वृद्धि हुई है।
... और पढ़ें

तीन मेडिकल कॉलेजों में बढ़ाई जाएगी 20-20 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की भंडारण क्षमता

जल शक्ति मंत्री महेंद्र सिंह ठाकुर
मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा है कि मेडिकल कॉलेजों में ऑक्सीजन की पर्याप्त आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए आईजीएमसी शिमला, टांडा और नेरचौक मेडिकल कॉलेज में शीघ्र ही 20-20 मीट्रिक टन क्षमता की अतिरिक्त भंडारण क्षमता सृजित की जाएगी।  

प्रदेश में कोविड-19 के कारण मृत्यु दर में वृद्धि पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि इसके लिए प्रभावी तंत्र विकसित होगा। जयराम ठाकुर सोमवार को शिमला में वीडियो कांफ्रेसिंग से तीनों मेडिकल कॉलेजों के प्रधानाचार्यों और सरकार के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक की। सीएम ने कहा कि रोगियों की निरंतर निगरानी तय करने के लिए कोविड वार्डों में बेहतर रोगी प्रबंधन तंत्र विकसित किया जाएगा। 

36 घंटों में उपलब्ध करवाई जाए जांच रिपोर्ट
सीएम जयराम ठाकुर ने स्वास्थ्य विभाग को सभी जांच की रिपोर्ट 36 घंटों के भीतर उपलब्ध करवाने के लिए कहा। उन्होंने कहा कि निजी प्रयोगशालाओं को भी कोरोना परीक्षण के लिए शामिल किया जाना चाहिए, इससे रिपोर्ट समय पर प्राप्त हो सकेगी। वार्ड सिस्टरों को कोविड रोगियों की उचित देखभाल सुनिश्चित करने के लिए निरंतर कोविड वार्डों का दौरा करना चाहिए।  
... और पढ़ें

नेरवा: दो ट्रकों में ठूंस-ठूंसकर भरे 53 में 19 गोवंश की संदिग्ध मौत

हिमाचल प्रदेश के जिला शिमला के हड़ेऊ स्थित गोसदन में चारे की कमी के चलते जंगल में छोड़ने के लिए दो ट्रकों में ठूंस ठूंस कर भरे गए 53 मवेशियों में से 19 गोवंश की संदिग्ध मौत हो गई है। प्रशासन को जब मामले की भनक लगी तो उन्होंने गोसदन का भी निरीक्षण किया। वहां भी सात मरी हुईं गायें मिली। घटना के बाद सेवादार नितिन और दो ट्रक चालकों इरफान और महबूब को गिरफ्तार कर पशु क्रूरता अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है। मृत गोवंश को स्थानीय लोगों की मदद से दफना दिया गया है। 

पुलिस के अनुसार एक ट्रक में 34 मवेशी भरे गए थे। इस ट्रक में 14 गोवंश की मौत हुई जबकि 20 को बचा लिया गया। दूसरे ट्रक में 19 मवेशी भरे गए थे, जिनमें से पांच गोवंश की मौत हो गई जबकि 14 को बचा लिया गया है। पुलिस पहले प्रथम दृष्टया मौत का कारण दम घुटना मान रही थी, लेकिन गोसदन में भी गायों की मौत के बाद जांच शुरू कर दी है। बताया जा रहा है कि नेरवा के हड़ेऊ स्थित गोसदन से दो ट्रकों में 53 मवेशियों को जंगल में छोड़ने के लिए भेजा गया था। देइया में ग्रामीणों को इसकी भनक लगी तो उन्होंने ट्रकों को रोकने की कोशिश की।

लेकिन चालक घबराकर ट्रकों को वापस नेरवा की तरफ भगा ले गए। हालांकि, बाद में इन्हें दबोच लिया गया। मृत गोवंश का पोस्टमार्टम करवाकर प्रशासन की निगरानी में एएसआई नेरवा ध्यान सिंह के नेतृत्व में पुलिस टीम ने स्थानीय लोगों के सहयोग से सुरक्षित स्थान में दफना दिया है। गो सदन के एक सेवक ने बताया कि चारे की कमी के कारण इन पशुओं को जंगलों में छोड़ने के लिए भेजा गया था। डीएसपी चौपाल राजकुमार ने बताया कि तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है। तीनों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है। पूछताछ के बाद आगामी कार्रवाई की जाएगी। 

गोसदन नहीं है पंजीकृत : उपायुक्त
 उपायुक्त आदित्य नेगी ने कहा कि इस मामले की एसडीएम से रिपोर्ट ली गई है। गोदन पंजीकृत नहीं है । कुल 26 गायों की मौत हुई हैं। 19 गायें दो गाडि़यों में ठूंस-ठूंस कर भरने से मरी हैं। गोसदन का निरीक्षण किया गया तो वहां भी 7 गाय मरी हुई मिलीं। पुलिस ने इस संदर्भ में मुकदमा दर्ज कर लिया है।
... और पढ़ें

हिमाचल: राज्यपाल की पत्नी के कोरोना टेस्ट की रिपोर्ट पॉजिटिव, कांगड़ा में 1215 नए मामले

कोरोना: रिश्तेदारों ने किया इंकार तो संस्था ने किया बुजुर्ग का अंतिम संस्कार

कोरोना महामारी के इस दौर में रिश्तेदार भी दूरी बना रहे हैं। ऐसा ही मामला हिमाचल प्रदेश के ऊना जिले के अंब के सिद्ध चलेहड़ पंचायत के सूहीं गांव में सामने आया है। गांव में 73 वर्षीय महिला की कोरोना से मौत पर अंतिम संस्कार के लिए अपने ही आगे नहीं आए। बुजुर्ग के अंतिम संस्कार के लिए स्थानीय लोगों और रिश्तेदारों ने शव को श्मशानघाट पहुंचाने से मना कर दिया है। बाद में प्रशासन की सूचना पर चिंतपूर्णी विकास समिति के सदस्यों ने सोमवार सुबह बुजुर्ग महिला की अंत्येष्टि की। महिला के पति का पहले देहांत चुका है। उनकी दो बेटियां और एक बेटा हैं। जानकारी के मुताबिक सिद्ध चलेहड़ में रविवार को कोरोना संक्रमित महिला की मौत हो गई थी।

महिला के अंतिम संस्कार के लिए पीड़ित परिवार की सहायता के लिए स्थानीय लोगों और रिश्तेदारों की तरफ से कोई मदद नहीं मिल पाई। ऐसे में समाजसेवी संस्था की मदद से अंतिम संस्कार करवाया गया। महिला का रैपिड एंटीजन टेस्ट बीते शनिवार को पॉजिटिव आया था। महिला की रविवार को उसके घर पर ही मौत हो गई। बीडीओ जोगिंद्र शर्मा ने बताया कि सूहीं गांव में कोरोना संक्रमित महिला का समाजसेवी संस्था चिंतपूर्णी विकास समिति की मदद से अंतिम संस्कार किया गया। इस दौरान समिति के संस्थापक अश्वनी धीमान, सचिव मनोज कौशिक, राकेश कुमार, कुलदीप कुमार, विशाल संदल, पंचायत प्रधान कमालदीन, सेवानिवृत्त सैनिक यशपाल, पटवारी कुसुम ठाकुर और नवदीप आदि भी मौजूद रहे। 
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन