Hindi News ›   India News ›   Address to nation of Prime Minister Narendra Modi

अनुच्छेद 370: पीएम मोदी का संबोधन, जम्मू कश्मीर और लद्दाख में हुई नए युग की शुरुआत

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: Gaurav Pandey Updated Fri, 09 Aug 2019 12:11 AM IST

सार

  • अनुच्छेद-370 का इस्तेमाल पाकिस्तान हथियार के रूप में करता था। 
  • हालात सुधरते की जम्मू-कश्मीर को पूर्ण राज्य बनाया जाएगा।  
  • दशकों के परिवारवाद ने जम्मू-कश्मीर के युवाओं को नेतृत्व का मौका ही नहीं दिया।
  • लद्दाख के नौजवानों को अच्छे शिक्षा संस्थान मिलेंगे, जनता को अच्छे अस्पताल मिलेंगे
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का राष्ट्र के नाम संदेश
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का राष्ट्र के नाम संदेश - फोटो : ANI
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

जम्मू-कश्मीर पर चल रही चर्चा के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को देश को संबोधित किया। प्रधानमंत्री मोदी का देश के नाम यह संबोधन ऐसे समय पर हुआ, जब स्वतंत्रता दिवस पर लाल किले से राष्ट्र के नाम उनके औपचारिक संबोधन में कुछ ही दिन बाकी हैं।

विज्ञापन




पीएम मोदी का संबोधन

  • अनुच्छेद 370 पर एक देश-एक परिवार के तौर पर हमने ऐतिहासिक फैसला लिया है। 
  • मैं जम्मू-कश्मीर, लद्दाख और पूरे देश की जनता को बधाई देना चाहता हूं। यहां एक नए युग की शुरुआत हुई है। 
  • जम्मू-कश्मीर के लोग अबतक कई अधिकारों से वंचित थे।
  • अनुच्छेद 370 का इस्तेमाल पाकिस्तान हथियार के रूप में करता था

 

  • देश ने लिया ऐतिहासिक फैसला, लोगों के हक और दायित्व अब पूरे देश में समान।
  • 370 और 35ए ने जम्मू-कश्मीर लोगों को भावनाएं भड़काने के अलावा कुछ नहीं दिया।
  • जम्मू-कश्मीर और लद्दाख का विकास उस गति से नहीं हो पाया था जो जरूरी थी।
  • इस फैसले से जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के लोगों को वर्तमान सुधरेगा ही, भविष्य भी सुरक्षित होगा।
  • अनुच्छेद 370 और 35ए ने अलगाववाद और भ्रष्टाचार के अलावा कुछ नहीं दिया।
  • कोई कल्पना नहीं कर सकता कि संसद इतनी बड़ी संख्या में कानून बनाए और देश के एक हिस्से में वे कानून लागू ही नहीं हो। 
  • जम्मू-कश्मीर के बच्चे अब तक शिक्षा के अधिकार से वंचित थे, अब ऐसा नहीं होगा
  • जम्मू-कश्मीर के सफाई कर्मचारियों को वो अधिकार नहीं मिल रहे थे जो बाकी देश के सफाई कर्मियों को मिल रहे थे। 
  • जम्मू-कश्मीर की बेटियों को भी अब वही अधिकार मिल सकेंगे जो पूरे देश की बेटियों को मिलते हैं। 
  • तीन दशक में 42 हजार निर्दोष लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी। 

  • अल्पसंख्यकों के लिए बना कानून जम्मू-कश्मीर में प्रभावी नहीं था, अब ऐसा नहीं होगा। 
  • इन दोनों अनुच्छेदों का नकारात्मक प्रभाव झेल रहा जम्मू-कश्मीर जल्द इससे बाहर निकलेगा। 
  • अब जम्मू-कश्मीर और लद्दाख की जनता को भी एससी-एसटी आरक्षण का लाभ भी मिल सकेगा। 
  • सेना और अर्धसैनिक बलों द्वारा स्थानीय युवाओं की भर्ती के लिए रैलियों का आयोजन किया जाएगा। 
  • छात्र-छात्राओं के लिए प्रधानमंत्री शिक्षा योजना का विस्तार किया जाएगा। 
  • जम्मू-कश्मीर में राजस्व घाटा बहुत ज्यादा, केंद्र इसे कम करने का प्रयास करेगी।
  • जम्मू-कश्मीर के छात्र-छात्राओं के लिए प्रधानमंत्री छात्रवृत्ति योजना का विस्तार किया जाएगा। 
  • जो योजनाएं पहले सिर्फ कागज में थीं उन्हें अब जमीन पर उतारा जा रहा है। 
  • जम्मू-कश्मीर को केंद्रशासित राज्य बनाने का फैसला बहुत सोच-समझ कर लिया गया है।
  • हमने जम्मू-कश्मीर प्रशासन में एक नई कार्य संस्कृति लाने, पारदर्शिता लाने का प्रयास किया है। इसी का नतीजा है कि आईआईटी हों, आईआईएम हों, एम्स, हों, तमाम इरिगेशन प्रोजेक्ट्स हों, पावर प्रोजेक्ट्स हों, या फिर एंटी करप्शन ब्यूरो, इन सबके काम में तेजी आई है। 
  • जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में केंद्रीय और राज्य के रिक्त पदों को भरने की प्रक्रिया शुरू की जाएगी। इससे स्थानीय नौजवानों को रोजगार के अवसर उपलब्ध होंगे।
  • केंद्र की पब्लिक सेक्टर यूनिट्स और प्राइवेट सेक्टर की कंपनियों को भी रोजगार उपलब्ध कराने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा। 
  • धरती का स्वर्ग जम्मू-कश्मीर एक बार फिर विकास की नई ऊचाइयों को पार करते पूरे विश्व को आकर्षित करेगा। वहां के नागरिकों को उनके हक के लिए बेरोकटोक मिलने लगेगा। 
  • जम्मू-कश्मीर अस्थाई केंद्रशासित प्रदेश, लद्दाख बना रहेगा। 
  • जम्मू-कश्मीर को लोगों को भरोसा देता हूं कि उन्हें पूरे पारदर्शी वातावरण में पूरी ईमानदारी से अपना प्रतिनिधि चुनने का अवसर मिलेगा।
  • जम्मू-कश्मीर हमारे देश का मुकुट है, इसकी रक्षा के लिए राज्य के कितने ही बेटे-बेटियों ने बलिदान किया है। पुंछ जिले के मौलवी गुलामदीन ने साल 1965 की लड़ाई में पाक घुसपैठियों के बारे में भारतीय सेना को बताया था। 
  • अनुच्छेद 370 से मुक्ति एक सच्चाई है, लेकिन सच्चाई ये भी है कि इस समय ऐहतियात के तौर पर उठाए गए कदमों की वजह से जो परेशानी हो रही है, उसका मुकाबला भी वही लोग कर रहे हैं। कुछ मुट्ठी भर लोग जो वहां हालात बिगाड़ना चाहते हैं, उन्हें जवाब भी वहां के स्थानीय लोग दे रहे हैं

  • हालात सुधरते की जम्मू-कश्मीर को पूर्ण राज्य बनाया जाएगा।  
  • पूरा विश्वास है कि अनुच्छेद 370 हटने के बाद पंचायत सदस्य नई व्यवस्था में कमाल का काम करेंगे।
  • जम्मू-कश्मीर की जनता अलगाववाद को हराकर नई ऊर्जा और नए सपनों के साथ आगे बढ़ेगी।
  • दशकों के परिवारवाद ने जम्मू-कश्मीर के युवाओं को नेतृत्व का मौका ही नहीं दिया।
  • अब जम्मू के युवा नेतृत्व में भागीदार बनेंगे और राज्य को नई ऊचाइयों पर ले जाएंगे।
  • जम्मू-कश्मीर और लद्दाख दुनिया का सबसे बड़ा पर्यटन केंद्र बन सकता है, लेकिन इसके लिए हर देशवासी के साथ की जरूरत। 
  • जम्मू-कश्मीर में महिला पंचों ने कमाल का काम किया। 
  • जम्मू-कश्मीर के बारे में फिल्म उद्योग जरूर सोचें।  
  • मैं राज्य के गवर्नर से ये भी आग्रह करूंगा कि ब्लॉक डेवलपमेंट काउंसिल का गठन, जो पिछले दो-तीन दशकों से लंबित है, उसे पूरा करने का काम भी जल्द से जल्द किया जाए। 
  • जम्मू-कश्मीर के केसर का रंग हो या कहवा का स्वाद, कश्मीरी शॉल हो या कलाकृति, ऑर्गेनिक प्रोडक्ट हो या दवाएं, इन सबका प्रसार दुनिया भर में करने की जरूरत है। 
  • केंद्रशासित राज्य बनने के बाद लद्दाख का विकास भारत सरकार की स्वाभाविक जिम्मेदारी। 
  • अब लद्दाख के नौजवानों को अच्छी शिक्षा के लिए बेहतर संस्थान मिलेंगे, जनता को अच्छे अस्पताल मिलेंगे, बेहतर आधुनिकीकरण होगा। 
  • जिन्हें इस फैसले पर मतभेद, मैं उनके मतभेदों का सम्मान करता हूं लेकिन देशहित को सर्वोपरि रखते हुए बात करें। 
  • जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के लोगों की चिंता इस देश के 130 करोड़ लोगों की भी चिंता है।
  • लद्दाख में स्पिरिचुअल टूरिज्म, एडवेंचर टूरिज्म और इको टूरिज्म का सबसे बड़ा केंद्र बनने की क्षमता है। लद्दाख सोलर पावर जेनरेशन का भी बड़ा केंद्र बन सकता है। 
  • भारतीय संविधान में विश्वास करने वाले सभी लोग बेहतर जीवन जीने के अधिकारी हैं। उन्हें उनके सपने पूरे करने का मौका मिले, यह उनका हक है।
  • मैं जम्मू-कश्मीर के लोगों को भरोसा दिलाता हूं कि धीरे-धीरे समस्याएं कम हो जाएंगी। 
  • ईद आने वाली है। ईद मनाने में जम्मू-कश्मीर के लोगों को कोई समस्या न हो, इसका केंद्र सरकार पूरा ध्यान रख रही है। जो लोग बाहर रहते हैं और ईद मनाना घर जाना चाहते हैं सरकार उनकी पूरी मदद कर रही है। 
  • जम्मू-कश्मीर हमारे देश का मुकुट है, इसकी रक्षा के लिए राज्य के कितने ही बेटे-बेटियों ने बलिदान किया है। पुंछ जिले के मौलवी गुलामदीन ने साल 1965 की लड़ाई में पाक घुसपैठियों के बारे में भारतीय सेना को बताया था। 
  • अनुच्छेद 370 से मुक्ति एक सच्चाई है, लेकिन सच्चाई ये भी है कि इस समय ऐहतियात के तौर पर उठाए गए कदमों की वजह से जो परेशानी हो रही है, उसका मुकाबला भी वही लोग कर रहे हैं।
  • कुछ मुट्ठी भर लोग जो वहां हालात बिगाड़ना चाहते हैं, उन्हें जवाब भी वहां के स्थानीय लोग दे रहे हैं। 
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00