लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

विज्ञापन
Hindi News ›   India News ›   All 11 life imprisonment convicts in 2002 Bilkis Bano gang rape case walk out of Godhra sub jail

Bilkis Bano Gang Rape: आजीवन कारावास की सजा काट रहे सभी 11 दोषी रिहा, माफी नीति के तहत जेल से बाहर आए

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, अहमदाबाद Published by: अभिषेक दीक्षित Updated Wed, 17 Aug 2022 12:58 AM IST
सार

गुजरात में 2002 में हुए दंगों के बाद बिलकिस बानो पर हमला किया गया था। हमले के दौरान अहमदाबाद के रंधिकपुर में रहने वाली बिलकिस बानो के परिवार के सात लोगों की हत्या कर दी गई थी।

Godhara Sub Jail
Godhara Sub Jail - फोटो : Social Media
ख़बर सुनें

विस्तार

बिलकिस बानो सामूहिक बलात्कार मामले में आजीवन कारावास की सजा काट रहे सभी 11 दोषी गोधरा उप-जेल से रिहा किए गए। गुजरात सरकार की सजा माफी नीति के तहत उन्हें रिहा किया गया है।



इससे पहले 21 जनवरी 2008 को मुंबई की एक विशेष सीबीआई कोर्ट ने बिलकिस बानो के परिवार के सात सदस्यों के सामूहिक बलात्कार और हत्या के आरोप में 11 आरोपियों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी। बाद में बॉम्बे हाईकोर्ट ने उनकी सजा को बरकरार रखा था।


इन दोषियों ने 15 साल से अधिक जेल की सजा काट ली थी, जिसके बाद उनमें से एक ने अपनी समय से पहले रिहाई के लिए सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। शीर्ष अदालत ने गुजरात सरकार को उनकी सजा में छूट के मुद्दे पर गौर करने का निर्देश दिया था, जिसके बाद सरकार ने एक समिति का गठन किया। समिति ने मामले के सभी 11 दोषियों को रिहा करने के पक्ष में सर्वसम्मति से फैसला लिया। राज्य सरकार को सिफारिश भेजी गई थी और कल उनकी रिहाई के आदेश जारी कर दिए गए।

गुजरात में 2002 में हुए दंगों के बाद बिलकिस बानो पर हमला किया गया था। हमले के दौरान अहमदाबाद के रंधिकपुर में रहने वाली बिलकिस बानो के परिवार के सात लोगों की हत्या कर दी गई थी। बिलकिस उस समय सिर्फ 19 साल की थी और पांच माह की गर्भवती थी। उनके साथ गैंगरेप किया गया था।

बिल्किस बानो के परिवार ने कहा- फैसले से स्तब्ध
बिल्किस बानो के परिवार ने दोषियों की रिहाई पर हैरानी जताई है। बानो के पति याकूब रसूल ने कहा, मैं स्तब्ध हूं। हमें मीडिया से दोषियों के रिहा होने की खबर मिली। मैं, मेरी पत्नी और पांच बेटे जिनमें सबसे बड़ा अब 20 साल का है। हादसे के बाद बीते 20 से अधिक साल से खानाबदोश की जिंदगी बसर कर रहे हैं। उस हादसे के बाद हम एक जगह एक पते पर कभी नहीं रहे। हैरान हूं कि किस आदेश के तहत सरकार ने यह फैसला लिया। ये लोग कब कोर्ट गए, क्योंकि हमारे पास कभी कोई नोटिस नहीं आया। हमें इस सब के बारे में कुछ पता भी नहीं।

भाजपा के ‘नए भारत’ का असली चेहरा है दोषियों की रिहाई : विपक्ष
बिल्किस बानो के सभी दोषियों की रिहाई को लेकर विपक्ष ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा, यह पीएम मोदी के नए भारत का असली चेहरा है। पीएम मोदी आजादी के अमृत महोत्सव पर लाल किले से नारी शक्ति की प्रशंसा कर रहे थे। क्या यही वह सम्मान है जो भाजपा वाले महिलाओं को देने की बात करते हैं। कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने कहा, पीएम मोदी को देश को बताना चाहिए कि क्या वे खुद अपने शब्दों पर भरोसा करते हैं।

दोषी बोले, हम राजनीति का शिकार हुए
रिहाई के अगले दिन मंगलवार को 63 वर्षीय एक दोषी शैलेश भट्ट ने कहा, हम सब राजनीति का शिकार हुए। शैलेश ने कहा, हम 2004 में गिरफ्तार किए गए और 18 साल से अधिक समय जेल में काटा।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00