Hindi News ›   India News ›   Cyclone Tauktae Gujarat govt announces Rs 105 crore relief package for fishermen

चक्रवात ताउते : गुजरात में मछुआरों के लिए 105 करोड़ रुपये के राहत पैकेज की घोषणा  

एजेंसी, अहमदाबाद Published by: देव कश्यप Updated Thu, 03 Jun 2021 03:24 AM IST

सार

एक आधिकारिक विज्ञप्ति में बताया गया कि मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने एक बैठक में स्थिति की समीक्षा करने के बाद राहत पैकेज का फैसला लिया।
गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी
गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी - फोटो : ANI
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

गुजरात सरकार ने चक्रवाती तूफान ताउते से प्रभावित मछुआरों के लिए 105 करोड़ रुपये के राहत पैकेज की घोषणा की है। अधिकारियों के आंकलन में पाया गया कि पिछले महीने आए चक्रवाती ताउते तूफान से राज्य के तटीय क्षेत्र में भारी नुकसान हुआ था। सरकार द्वारा जारी एक आधिकारिक विज्ञप्ति में कहा गया कि मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने मंगलवार शाम एक बैठक के दौरान स्थिति की समीक्षा के बाद मछुआरों को राहत पैकेज देने के बारे में निर्णय लिया। चक्रवात ताउते ने 17 मई की रात को लगभग 220 किलोमीटर प्रति घंटे की तेज रफ्तार से गुजरात तट पर दस्तक दी थी।



विज्ञप्ति में कहा गया है कि इसने राज्य के जाफराबाद, राजुला, सैयद राजपारा, शियाल बेट और नवा बंदर बंदरगाहों पर लंगर वाली नावों, मछली पकड़ने के जाल, ट्रॉलर और समुद्री बुनियादी ढांचे को बड़ा नुकसान पहुंचाया। साथ ही चक्रवाती तूफान में मछुआरों के घर भी क्षतिग्रस्त हो गए। पैकेज के हिस्से के रूप में, राज्य सरकार प्रभावित मछुआरों को 1,000 से अधिक छोटे और बड़े आकार की नावों को हुए नुकसान की भरपाई के लिए 25 करोड़ रुपये की सामूहिक राशि का भुगतान करेगी।


पूरी तरह से क्षतिग्रस्त छोटे आकार की नाव के लिए सरकार नाव के मूल्य का 50 प्रतिशत या 75,000 रुपये, जो भी कम हो, का भुगतान करेगी। आंशिक रूप से क्षतिग्रस्त छोटे आकार की नाव के मामले में, मुआवजा नाव के मूल्य का 50 प्रतिशत या 35,000 रुपये, जो भी कम हो, दिया जाएगा । इसमें कहा गया है कि पूरी तरह से क्षतिग्रस्त ट्रॉलर के लिए मुआवजा 5 लाख रुपये या ट्रॉलर के मूल्य का 50 प्रतिशत होगा।

राज्य सरकार उन सभी मछुआरों को प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरण के माध्यम से 2,000 रुपये देगी, जिनकी नावें चक्रवात में पूरी तरह या आंशिक रूप से क्षतिग्रस्त हो गई थीं। पूरी तरह से क्षतिग्रस्त नाव की मरम्मत के लिए 10 लाख रुपये के ऋण पर, राज्य सरकार दो साल की अवधि के लिए ब्याज का 10 प्रतिशत वहन करेगी। पैकेज के तहत, राज्य सरकार ने चक्रवात में क्षतिग्रस्त हुए समुद्री बुनियादी ढांचे को बहाल करने की भी योजना बनाई है।

विज्ञप्ति में कहा गया है कि जाफराबाद में मौजूदा जेट्टी को 500 मीटर तक बढ़ाया जाएगा और जेट्टी पर हाई मास्ट बिजली टावरों की भी मरम्मत की जाएगी। इसी तरह की बहाली का काम नवा बंदर और सैयद राजपारा के तटीय शहरों और शियाल बेट द्वीप में किया जाएगा। राज्य सरकार समुद्री बुनियादी ढांचे को बहाल करने और मजबूत करने के लिए 80 करोड़ रुपये खर्च करेगी।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00