लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

विज्ञापन
Hindi News ›   India News ›   Kiren Rijiju lays stress on reducing pendency of cases in lower judiciary, Constitution Day

Kiren Rijiju: किरेन रिजिजू ने लंबित मामलों पर जताई चिंता, बोले- निचली अदालतों में कदम उठाने की जरूरत

पीटीआई, नई दिल्ली Published by: Jeet Kumar Updated Sun, 27 Nov 2022 12:43 AM IST
सार

कानून मंत्री रिजिजू ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट में 70,000 मामले लंबित हैं, उच्च न्यायालयों में लगभग 70 लाख और बाकी निचली न्यायपालिका में हैं। निचली न्यायपालिका में लंबित मामले हमारे ध्यान का केंद्र होना चाहिए।

कानून मंत्री किरेन रिजिजू
कानून मंत्री किरेन रिजिजू - फोटो : Twitter

विस्तार

कानून मंत्री किरेन रिजिजू ने शनिवार को भारत की विभिन्न अदालतों में लंबित पड़े पांच करोड़ मामलों को लेकर चिंता जताई। उन्होंने कहा कि इसे कम करने के लिए विशेष रूप से निचली अदालतों में कदम उठाने की जरूरत है। सुप्रीम कोर्ट में संविधान दिवस समारोह को संबोधित करते हुए कानून मंत्री किरण रिजिजू ने कई मुद्दों पर अपनी बात रखी।



न्यायपालिका में लंबित मामलों पर ध्यान देना चाहिए
उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट में 70,000 मामले लंबित हैं, उच्च न्यायालयों में लगभग 70 लाख और बाकी निचली न्यायपालिका में हैं। निचली न्यायपालिका में लंबित मामले हमारे ध्यान का केंद्र होना चाहिए। साथ ही उन्होंने कहा कि महिलाओं और बच्चों से जुड़े मामलों को प्रभावी ढंग से निपटाने की जरूरत है।


न्यायपालिका में महिलाओं का प्रतिनिधित्व बढ़ा
उन्होंने न्यायपालिका में महिलाओं मौजूदगी पर जोर देते हुए कहा कि पिछले 70 वर्षों में काफी बदलाव आए हैं। महिलाओं का न्यायपालिका में प्रतिनिधित्व बढ़ा है। जबकि उच्च अदालतों में अभी इस दिशा में आगे बढ़ने की जरूरत है। 

कार्यक्रम में राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू रहीं मौजूद
न्यायाधीशों की नियुक्ति के मामले पर बोलते हुए कानून मंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार सामाजिक विविधता के लिए प्रतिबद्ध है और उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीशों से अनुरोध करती रही है कि न्यायाधीशों की नियुक्ति के लिए सिफारिशें भेजते समय कुछ चीजों को ध्यान में रखा जाए। उन्होंने यह भी बताया कि न्यायपालिका और कार्यपालिका के समन्वय से अच्छी सफलता मिली है। संविधान दिवस समारोह के दौरान राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू और भारत के मुख्य न्यायाधीश डी वाई चंद्रचूड़ भी उपस्थित रहे।

विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00