लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

विज्ञापन
Hindi News ›   India News ›   MoS IT Chandrasekhar says Ransomware attack on AIIMS planned

Cyber Attack: साजिश के तहत हुआ एम्स पर साइबर हमला, राज्य आईटी मंत्री बोले- हमें चौकस रहना होगा

पीटीआई, नई दिल्ली Published by: Jeet Kumar Updated Fri, 02 Dec 2022 08:57 PM IST
सार

राजीव चंद्रशेखर ने कहा कि दिल्ली एम्स के सर्वर पर साइबर हमला एक साजिश है और कुछ ताकतों ने इसकी योजना थी। रैंसमवेयर हमला काफी योजनाबद्ध तरीके से किया गया।

इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी राज्य मंत्री राजीव चंद्रशेखर
इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी राज्य मंत्री राजीव चंद्रशेखर - फोटो : सोशल मीडिया

विस्तार

दिल्ली एम्स के सर्वर पर हुए साइबर हमले ने देश की सुरक्षा एजेंसियों को हिला कर रख दिया। ऐसा पहली बार था जब रैंसमवेयर के हमले के कारण अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) दिल्ली जैसे बड़े संस्थान के सर्वर लगातार 10वें दिन भी ठप रहे। वहीं इस पर अब  इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी राज्य मंत्री राजीव चंद्रशेखर का बयान आया है।



उन्होंने कहा कि दिल्ली एम्स के सर्वर पर साइबर हमला एक साजिश है और कुछ ताकतों ने इसकी योजना थी। रैंसमवेयर हमला काफी योजनाबद्ध तरीके से किया गया। रैंसमवेयर हमले के पीछे कौन है, इस निष्कर्ष पर पहुंचने से पहले हम सीईआरटीन और एनआईए (राष्ट्रीय जांच एजेंसी) के परिणाम का इंतजार करेंगे। रैंसमवेयर हमले में, साइबर अपराधी डेटा या डिवाइस तक पहुंच को लॉक कर देते हैं और वांछित फिरौती का भुगतान करने के बाद इसे अनलॉक करते हैं।


ये एजेंसियां कर रही मामले की जांच
इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय, दिल्ली साइबर क्राइम स्पेशल सेल, इंडियन साइबर क्राइम कोऑर्डिनेशन सेंटर, इंटेलिजेंस ब्यूरो, सेंट्रल ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन, नेशनल फॉरेंसिक साइंसेज यूनिवर्सिटी, नेशनल क्रिटिकल इंफॉर्मेशन इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोटेक्शन सेंटर और नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी के भीतर इंडियन कंप्यूटर इमरजेंसी रिस्पांस टीम आदि साइबर हमले की जांच कर रहे हैं।

हर समय चौकस रहना होगा
चंद्रशेखर ने कहा कि यह रैंसमवेयर हमला पहला नहीं है और यह आखिरी नहीं होगा। यह एक आतंकवाद तरह है। आपको हर समय चौकस रहना होगा और वे केवल एक बार सफल हो सकते हैं, इसलिए हमें सावधान रहना होगा। हमें यह सुनिश्चित करना होगा कि हमारे सिस्टम और प्रक्रियाएं सुरक्षित हैं कि नहीं। 

मंगलवार को एम्स के अधिकारियों ने बताया कि सर्वर पर ई-हॉस्पिटल डेटा बहाल कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि सेवाओं को बहाल करने से पहले नेटवर्क को दुरुस्त किया जा रहा है। प्रयोगशाला और आपातकालीन आदि जैसी रोगी देखभाल सेवाएं मैनुअल मोड में काम कर रही हैं। 

विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00