लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

विज्ञापन
Hindi News ›   India News ›   Road Transport Department backward in completing projects on time, 243 projects running late

Report: समय से प्रोजेक्ट पूरा कर पाने में पिछड़ा सड़क परिवहन विभाग, देरी से चल रहीं 243 परियोजनाएं

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: प्रांजुल श्रीवास्तव Updated Sun, 27 Nov 2022 12:26 PM IST
सार

मुनीराबाद-महबूबनगर रेल परियोजना सबसे ज्यादा लंबित परियोजना है। यह परियोजना तय समय से 276 महीने पीछे चल रही है। इसके अलावा उधमपुर-श्रीनगर बारामूला रेल परियोजना 247 महीने पीछे चल रही है।

सांकेतिक तस्वीर
सांकेतिक तस्वीर - फोटो : amar ujala

विस्तार

तय समय से प्रोजेक्ट पूरा कर पाने में सड़क परिवहन एवं राजमार्ग विभाग पिछड़ गया है। विभाग की 243 परियोजनाएं देरी से चल रही हैं। इसके बाद दूसरा स्थान 114 परियोजनाओं के साथ रेलवे और तीसरा नंबर 89 परियोजनाओं के साथ पेट्रोलियम क्षेत्र का स्थान है।



एक सरकारी रिपोर्ट में कहा गया है कि सड़क परिवहन एवं राजमार्ग विभाग से संबंधित 826 में से 243 परियोजनाओं की रफ्तार काफी धीमी है। वहीं, रेलवे की 173 परियोजनाओं में114 और पेट्रोलियम क्षेत्र की 142 में 89 परियोजाएं देरी से चल रही हैं। 


दरअसल, यह रिपोर्ट अवसंरचना और परियोजना निगरानी प्रभाग (आईपीएमडी) की ओर से यह रिपोर्ट जारी की गई है। यह प्रभाग केंद्र की 150 करोड़ या इससे अधिक लागत की परियोजनाओं की निगरानी करता है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि मुनीराबाद-महबूबनगर रेल परियोजना सबसे ज्यादा लंबित परियोजना है। यह परियोजना तय समय से 276 महीने पीछे चल रही है। इसके अलावा उधमपुर-श्रीनगर बारामूला रेल परियोजना 247 महीने पीछे चल रही है। रिपोर्ट के मुताबिक, कुल 642 परियोजनाएं अपनी मूल समयसीमा से पीछे हैं।

विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00