लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

विज्ञापन
Hindi News ›   India News ›   Several PFI members travelled to ISIS strongholds to join jihad Officials

PFI: अधिकारियों ने कहा- जिहाद में शामिल होने के लिए आईएसआईएस के गढ़ों में गए पीएफआई के सदस्य

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: निर्मल कांत Updated Fri, 30 Sep 2022 07:29 PM IST
सार

अधिकारियों ने कहा कि खाड़ी से लौटा हमजा केरल के युवकों को आईएसआईएस में भर्ती करने का मास्टरमाइंड था। हमजा ने अपनी योजनाओं को अंजाम देने के लिए पीएफआई के उन समर्थकों से दोस्ती की जो पहले से ही राष्ट्र विरोधी या सत्ता विरोधी भावनाओं को पैदा कर रहे थे। 

pfi
pfi - फोटो : Social Media
ख़बर सुनें

विस्तार

पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) के सदस्यों ने जिहाद में शामिल होने से पहले सुरक्षा जाल से बचने के लिए एक लंबा घुमावदार रास्ता अपनाया था। अधिकारियों के मुताबिक, उन्होंने पहले सऊदी अरब, तुर्की जैसे देशों में शरण ली और फिर सीरिया में प्रवेश किया।



सरकार ने मंगलवार पीएफआई पर पांच साल के लिए प्रतिबंध लगाया है। उस पर कथित रूप से आईएसआईएस जैसे वैश्विक आतंकी संगठनों के साथ संपर्क रखने और देश में सांप्रदायिक नफरत फैलाने की कोशिश का आरोप है। 


राष्ट्रीय जांच एजेंसी द्वारा तैयार किए गए दस्तावेजों के मुताबिक, कुछ ऐसे मामले थे जिनमें विदेशी धरती पर युवकों को मारा गया या गिरफ्तार किया गया। बाद में उन्हें भारत डिपोर्ट किया गया था।  

केरल पुलिस को 2017 में सूचना मिली थी कि कुछ मुस्लिम युवक सीरिया चले गए हैं और कुछ आईएसआईएस से हाथ मिलाने की योजना बना रहे हैं। मामले के अधिकांश आरोपी पीएफआई के सदस्य थे। 
 
अधिकारियों ने कहा कि खाड़ी से लौटा हमजा केरल के युवकों को आईएसआईएस में भर्ती करने का मास्टरमाइंड था। हमजा ने अपनी योजनाओं को अंजाम देने के लिए पीएफआई के उन समर्थकों से दोस्ती की जो पहले से ही राष्ट्र विरोधी या सत्ता विरोधी भावनाओं को पैदा कर रहे थे। 

पीएफआई के संभागीय अध्यक्ष मोहम्मद समीर उर्फ अबू सफवान ने कथित तौर पर भारत से निकलने की योजना बनाई और आईएसआईएस में शामिल होने के लिए कई देशों में शरण लेने के बाद सीरिया में प्रवेश किया। अधिकारियों ने कहा कि इस प्रक्रिया में आरोपी सऊदी अरब, मलेशिया और तुर्की गया और उसने सीरिया में जिहाद में शामिल होने के लिए आखिर तक इंतजार किया। 
विज्ञापन

बाद में जिहाद में भाग लेने के दौरान दोनों पीएफआई नेता अब्दुल मनाफ उर्फ अबू फातिमांद, मोहम्मद समीर उर्फ सफवान सीरिया में मारे गए। जांच आगे बढ़ने पर मास्टरमाइंड समेत पांच लोगों को केरल की पुलिस ने आईएसआईएस में शामिल होने से पहले ही गिरफ्तार किया। 

केरल पुलिस ने आईएसआईएस का समर्थन करने वाले 17 आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की थी। इस मामले में कथित मास्टरमाइंड हमजा एक कट्टर सलाफी समर्थक था जो आईएसआईएस और तालिबान के समर्थन में प्रचार करता था। 

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00