लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

विज्ञापन
Hindi News ›   India News ›   Shiv Sena factions take jibes at each other in Dussehra rally teaser videos

Shiv Sena: दशहरा रैली के टीजर वीडियो में शिवसेना के दोनों गुट एक-दूसरे पर तंज कसते दिखे, महासंग्राम की तैयारी

एएनआई, मुंबई। Published by: देव कश्यप Updated Mon, 03 Oct 2022 11:53 PM IST
सार

Dussehra Rally: पांच अक्तूबर का दिन मुंबई के लिए काफी अहम होने वाला है। इस दिन राज्य के सीएम एकनाथ शिंदे और पूर्व सीएम उद्धव ठाकरे अपनी-अपनी दशहरा रैली को संबोधित करेंगे।

Uddhav Thackeray and Eknath Shinde
Uddhav Thackeray and Eknath Shinde - फोटो : ANI (फाइल फोटो)
ख़बर सुनें

विस्तार

दशहरा के त्योहार में सिर्फ दो दिन बचे हैं। वहीं दशहरा रैली को लेकर शिंदे और उद्धव गुट के बीच महासंग्राम देखने को मिल रहा है। शिवसेना के दोनों गुट पांच अक्तूबर को दशहरा रैली में अपनी-अपनी राजनीतिक ताकत दिखाने के अवसर से चूकना नहीं चाहते हैं। इसलिए दोनों पांच अक्तूबर को होने वाले इस आयोजन में ज्यादा से ज्यादा भीड़ जुटाने का इंतजाम करने में जुट हुए हैं। इसी बीच दशहरा रैली का टीजर वीडियो सामने आया है जिसमें दोनों गुट एक-दूसरे पर तंज कसते नजर आ रहे हैं। शिवसेना के दोनों गुटों ने रैली के वीडियो टीजर जारी किए हैं, जो अदालत के फैसले के अनुसार दो अलग-अलग स्थानों पर आयोजित किए जाएंगे।



उद्धव ठाकरे और मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे के नेतृत्व में शिवसेना के दो गुटों के बीच वीडियो युद्ध (Video War) तेज होने के साथ, ठाकरे के नेतृत्व वाले गुट ने सोमवार को शिंदे खेमे पर एक और वीडियो जारी किया। दशहरा रैली (Dussehra Rally) से पहले, शिवसेना के दोनों गुटों ने बाल ठाकरे की विरासत का दावा करने के लिए वीडियो वार शुरू किया है।


शिवसेना के आधिकारिक ट्विटर हैंडल द्वारा शेयर किए गए वीडियो में उद्धव ठाकरे को बड़ी सभा को संबोधित करते हुए दिखाया गया है। इससे संकेत दिया गया है कि वो एक और विशाल दशहरा रैली के लिए तैयार हैं। शिवसेना ने समर्थकों को आमंत्रित करते हुए ट्वीट के कैप्शन में लिखा, 'एक नेता, एक झंडा, एक मैदान... भक्तिपूर्ण शिवसैनिक... पारंपरिक ऐतिहासिक दशहरा सभा! स्थान:- छत्रपति शिवाजी महाराज पार्क (शिवतीर्थ), दादर पांच अक्तूबर 2022, शाम 6.30 बजे।' 
 

 

ठाकरे सेना ने जारी किया नया टीजर
उद्धव के नेतृत्व वाली सेना मेगा दशहरा रैली के लिए नए टीजर के माध्यम से कहती है, 'हम कभी किसी की पीठ में छुरा घोंपते नहीं हैं, लेकिन अगर कोई हमें पीठ में छुरा घोंपता है, तो हम उन्हें हैक कर लेते हैं।' इस आयोजन को ऐतिहासिक बताते हुए शिवसेना नेता ने जोर देकर कहा कि उनके पास अपने लिए कुछ नहीं बचा है, केवल वह शक्ति है जो लोगों ने उन्हें दी है। वह आगे सभा को अपने "ठाकरे परिवार" की एक पूर्ण-पैक घटना कहते हैं, और कहते हैं कि प्रत्येक सहभागी के दिल में बाला साहेब ठाकरे हैं और यह बंधन अटूट है। वीडियो पूर्व सीएम उद्धव ठाकरे के साक्षात्कार के अंश के साथ समाप्त होता है, जिसमें रैली के दौरान उपस्थित लोगों को जिम्मेदार और अनुशासित व्यवहार दिखाने का निर्देश दिया गया है।

ठाकरे के नेतृत्व वाली शिवसेना ऐतिहासिक शिवाजी पार्क मैदान में अपनी वार्षिक दशहरा रैली कर रही है, जो 1966 से सेना की रैली का पारंपरिक स्थल रहा है। शिंदे के नेतृत्व वाला गुट एमएमआरडीए के बांद्रा-कुर्ला कॉम्प्लेक्स (बीकेसी) में दशहरा रैली करेगा। 

विज्ञापन

शिंदे गुट ने भी जारी किया दशहरा रैली का टीजर 
शिंदे के नेतृत्व वाले गुट ने भी एक वीडियो टीजर जारी किया था जिसमें बाल ठाकरे का वीडियो दिखाया गया था। वीडियो में उन्हें यह कहते हुए सुना जा सकता है, 'हम न केवल कांग्रेस पार्टी के इस रावण को जलाएंगे, हम इसे दफना भी देंगे। शिंदे खेमा दावा कर रहा है कि वह बाल ठाकरे की हिंदुत्व विचारधारा का सच्चा अनुयायी है। शिंदे गुट ने ठाकरे खेमे पर हमला करते हुए आरोप लगाया कि उद्धव ठाकरे ने कांग्रेस और राकांपा से हाथ मिलाकर अपने ही पिता की पीठ में छुरा घोंपा, जो बाल ठाकरे के सच्चे दुश्मन थे। शिंदे द्वारा ट्वीट किए गए 20 सेकंड के वीडियो में बैकग्राउंड में दिवंगत बाल ठाकरे की आवाज है।


एकनाथ शिंदे के नेतृत्व वाले समूह ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर वीडियो जारी करते हुए बांद्रा-कुर्ला कॉम्प्लेक्स में बड़ी संख्या में लोगों की उपस्थिति का आह्वान किया।इसमें यह भी उल्लेख किया गया है कि सभा के दौरान राष्ट्रीय मुद्दों पर चर्चा की जाएगी और प्रेरणादायक भाषण दिए जाएंगे जो पूरे एक साल तक ऑक्सीजन की आपूर्ति के रूप में चलेगा। टीजर में पार्टी कार्यकर्ताओं और उनके प्रयासों की सराहना करने पर भी जोर दिया गया है।

बता दें कि बंबई हाईकोर्ट (Bombay High Court) में बृहन्मुंबई नगर निगम (BMC) द्वारा दशहरा रैली के लिए आवेदन को खारिज करने की चुनौती देने के बाद उद्धव ठाकरे गुट को पार्टी के पारंपरिक शिवाजी पार्क स्थल पर रैली के लिए अनुमति मिली है। ठाकरे के नेतृत्व वाली सेना ने 22 अगस्त को अपना आवेदन दिया था, जबकि शिंदे गुट ने 30 अगस्त को आवेदन किया था। दबाव में बृहन्मुंबई नगर निगम ने अदालत के निर्देश दिए जाने तक दोनों गुटों को अनुमति देने से इनकार कर दिया था।

23 सितंबर को बंबई हाईकोर्ट ने ठाकरे गुट को दादर मैदान में अपना कार्यक्रम आयोजित करने की अनुमति दी। वहीं, एक हफ्ते पहले मुंबई मेट्रोपॉलिटन रीजन डेवलपमेंट अथॉरिटी ने शिंदे समूह को अपने आयोजन के लिए बांद्रा-कुर्ला कॉम्प्लेक्स में एक मैदान का उपयोग करने की अनुमति दी थी।

शिवसेना के दोनों गुटों की दशहरा रैली के मद्देनजर सुरक्षा बढ़ाई गई
मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे और उद्धव ठाकरे नीत शिवसेना के दोनों गुटों द्वारा मुंबई में पांच अक्टूबर को अलग-अलग दशहरा रैली के मद्देनजर मुंबई में सुरक्षा कड़ी कर दी गई है। इस संबंध में एक अधिकारी ने कहा कि रैली में पूरे राज्य से हजारों लोगों के शामिल होने की उम्मीद है। इसलिए कानून व्यवस्था बनाए रखने और किसी अप्रिय घटना को रोकने के लिए व्यवस्था की जा रही है। स्थानीय पुलिस के अलावा अतिरिक्त जवानों की भी तैनाती की जाएगी।

मुंबई के संयुक्त पुलिस आयुक्त विश्वास नांगरे पाटिल ने कहा कि शिवाजी पार्क और बीकेसी में सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लेने के लिए पुलिस टीम ने मौके का मुआयना किया। पुलिस ने बताया कि शहर में दोनों गुटों के कार्यकर्ताओं के आमने-सामने आने और कानून व्यवस्था की स्थिति उत्पन्न होने की आशंका के मद्देनजर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गई है।

शिंदे ने कहा कि मैंने बीकेसी स्थित आयोजन स्थल का दौरा किया और वहां पूरे जोर-शोर से तैयारी चल रही है। पूरे राज्य से लाखों लोग रैली में आएंगे और सभी विभाग यह सुनिश्चित कर रहे हैं कि कोई समस्या न हो। हमारी तैयारी मंगलवार को पूरी हो जाएगी और यह रैली सफल होगी। वहीं, शिवाजी पार्क में उद्धव ठाकरे गुट भी रैली की तैयारी कर रहा है। शिवसेना अध्यक्ष ठाकरे के समर्थक मंच तैयार कर रहे हैं और बैठने की व्यवस्था कर रहे हैं। उद्धव ठाकरे के शीर्ष नेतृत्व ने रैली की चल रही तैयारियों की समीक्षा करने के लिए दादर स्थित पार्टी मुख्यालय में बैठक की।

यातायात पुलिस ने दशहरा रैली से जुड़े वाहनों के लिए पार्किंग क्षेत्र निर्धारित किए
मुंबई यातायात पुलिस ने सोमवार को कहा कि उसने शिवसेना के उद्धव ठाकरे और एकनाथ शिंदे गुटों के कार्यकर्ताओं को उनकी संबंधित दशहरा रैलियों के लिए शिवाजी पार्क और बांद्रा कुर्ला परिसर में लाने वाली कई बसों की पार्किंग के लिए आवश्यक व्यवस्था की है। एक अधिकारी के मुताबिक, पश्चिमी और उत्तरी मुंबई से कार्यकर्ताओं को ले जाने वाली बसें सेनापति बापट मार्ग और कामगार मैदान के किनारे खड़ी होंगी, जबकि नवी मुंबई और ठाणे से आने वाली बसों को फाइव गार्डन, नथालाल पारेख मार्ग, एडनवाला रोड पर खड़ा किया जाएगा।

उन्होंने कहा, 'चार पहिया वाहन, इंडिया बुल्स फाइनेंस, इंडिया बुल्स वन सेंटर और कोहिनूर स्क्वायर पर खड़े किए जाएंगे। बीकेसी रैली के लिए, बसें पारिवारिक न्यायालय के पीछे, केनरा बैंक, पंजाब नेशनल बैंक, एमएमआरडीए परिसर के पास, जियो गार्डन के पास खड़ी की जाएंगी। कारों की पार्किंग जियो गार्डन के भूतल में होगी।'

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00