लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

विज्ञापन
Hindi News ›   India News ›   Various healthcare initiatives by Modi govt brought down MMR Union Minister Mandaviya

MMR: मंडाविया बोले- मोदी सरकार की स्वास्थ्य योजनाओं के मिल रहे परिणाम, मातृ मृत्यु अनुपात में भारी गिरावट

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: निर्मल कांत Updated Wed, 30 Nov 2022 04:21 PM IST
सार

गृहमंत्रालय के तहत रजिस्ट्रार जनरल कार्यालय ने मंगलवार को आंकड़े जारी किए हैं। इन आंकड़ों के मुताबिक, एमएमआर में लगातार गिरावट देखने को मिली है। वर्ष 2018-20 के लिए भारत की एमएमआर 97 था। जबकि 2014-16 में एमएमआर 130 था।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया - फोटो : पीटीआई (फाइल)

विस्तार

गुणवत्तापूर्ण मातृ और प्रजनन देखभाल सुनिश्चित करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार द्वारा शुरू की गई विभिन्न योजनाओं के परिणाम मिले हैं। मातृ मृत्यु अनुपात (एमएमआर) को कम करने में मदद मिली है। यह बातें केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने यह बातें कहीं है। 



दरअसल, गृहमंत्रालय के तहत रजिस्ट्रार जनरल कार्यालय ने मंगलवार को आंकड़े जारी किए हैं। इन आंकड़ों के मुताबिक, एमएमआर में लगातार गिरावट देखने को मिली है। वर्ष 2018-20 के लिए भारत की एमएमआर 97 था। जबकि 2014-16 में एमएमआर 130 था।


मातृ मृत्यु अनुपात (एमएमआर) महिलाओं के प्रजनन स्वास्थ्य का पैमाना है। प्रजनन आयु-अवधि में कई महिलाएं गर्भावस्था और प्रसव या गर्भपात की परेशानियों के कारण मर जाती हैं।  

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के मुताबिक, मातृ मृत्यु एक महिला की गर्भावस्था के दौरान या गर्भावस्था की समाप्ति के 42 दिनों के भीतर की मृत्यु है। संगठन के मुताबिक, मातृ मृत्यु अनुपात में गर्भावस्था के प्रबंधन से संबंधित किसी भी कारण को शामिल नहीं किया जाता है।

भारत में एमएमआर 2014-16 में 130, 2017-19 में 103 थी, जो 2018-20 में घटकर 97 हो गया है। 

विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00