Hindi News ›   India News ›   Vice President Venkaiah Naidu visited the indigenous aircraft carrier Vikrant

कोच्चि: स्वदेशी विमान वाहक विक्रांत का उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने किया दौरा, दिया आत्मनिर्भरता पर जोर

एजेंसी, कोच्चि। Published by: Jeet Kumar Updated Mon, 03 Jan 2022 02:02 AM IST

सार

उपराष्ट्रपति अपने परिवार के साथ रविवार सुबह ही लक्षद्वीप से लौटे थे। कोच्चि और कोट्टयम में आयोजित कार्यक्रम में उपस्थित होकर 4 जनवरी को नई दिल्ली के लिए रवाना होंगे। 
venkaiah naidu
venkaiah naidu - फोटो : सोशल मीडिया
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने रविवार को कोचीन शिपयार्ड लिमिटेड (सीएसएल) द्वारा निर्मित स्वदेशी विमान वाहक (आईएसी) विक्रांत का दौरा किया। सीएसएल के चेयरमैन मधु एस नायर ने यार्ड की क्षमता और मजबूती के बारे में जानकारी दी। उपराष्ट्रपति ने जहाज के हैंगर और फ्लाइट डेक का भी दौरा किया। उन्होंने भारतीय नौसेना के गार्ड ऑफ हॉनर का भी निरीक्षण किया।



इस दौरान केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान, राज्य उद्योग मंत्री पी राजीव और दक्षिणी नौसेना कमांड के चीफ एडमिरल एंटोनी जार्ज भी मौजूद थे। उपराष्ट्रपति अपने परिवार के साथ रविवार सुबह ही लक्षद्वीप से लौटे थे। कोच्चि और कोट्टयम में आयोजित कार्यक्रम में उपस्थित होकर 4 जनवरी को नई दिल्ली के लिए रवाना होंगे। 


लक्षद्वीप में विभिन्न कार्यक्रमों में भाग लिया
31 दिसंबर को केरल पहुंचे नायडू ने उसी दिन लक्षद्वीप के लिए उड़ान भरी थी। उन्होंने पिछले दो दिनों में द्वीप क्षेत्र में विभिन्न कार्यक्रमों में भाग लिया, जिसमें कदमत और एंड्रोथ द्वीपों में कला और विज्ञान के दो कॉलेजों का उद्घाटन शामिल है।

आत्मनिर्भर भारत पर दिया जोर
उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने रविवार को जोर देकर कहा कि रणनीतिक क्षेत्रों में पूरी तरह से आत्मनिर्भर बनने के लिए, भारत को रक्षा आयात में कटौती करने और अनुसंधान एवं विकास के साथ-साथ निजी सहयोग पर अधिक जोर देने की जरूरत है।

उपराष्ट्रपति नायडू ने यहां पास में नौसेना भौतिक और समुद्र विज्ञान प्रयोगशाला (एनपीओएल) की 70वीं वर्षगांठ समारोह का उद्घाटन करते हुए कहा, आत्म-निर्भार हासिल करने के लिए, भारत को कड़े गुणवत्ता नियंत्रण के साथ, जहां भी संभव हो, निजी सहयोग की अनुमति देने की आवश्यकता है।

निजी सहयोग की अनुमति दें
उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने कहा कि रणनीतिक डोमेन सहित सभी क्षेत्रों में भारत को पूरी तरह से आत्मनिर्भर बनाने के लिए हमारा मंत्र आत्म-निर्भार होना चाहिए। उदाहरण के लिए, हमें रक्षा क्षेत्र में अपनी स्वदेशी सामग्री को बढ़ाने और आयात में कटौती करने की आवश्यकता है। इसे प्राप्त करने के लिए, हमें आवश्यकता है न केवल अनुसंधान एवं विकास गतिविधियों पर अधिक जोर देने के लिए, बल्कि कड़े गुणवत्ता नियंत्रण के साथ, जहां भी संभव हो और संभव हो, निजी सहयोग की अनुमति दें।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00