Hindi News ›   India News ›   Vizag Gas Leak Latest News Update in Hindi

Vizag Gas Leak: 'इस बच्ची को कोई हॉस्पिटल में छोड़ गया, माता-पिता के बारे में पता नहीं'

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: अंशुल तलमले Updated Thu, 07 May 2020 07:47 PM IST
विजाग गैस त्रासदी
विजाग गैस त्रासदी - फोटो : पीटीआई
विज्ञापन
ख़बर सुनें

जब नींद खुली तो पांच साल की उस मासूम बच्ची ने खुद को डॉक्टर्स और नर्स के बीच पाया। यह गोपालपट्टनम में 30 बिस्तरों वाला एक अस्पताल था। वह अब भी चारों ओर नजर घुमाकर इन अनजान लोगों को पहचानने की कोशिश कर रही थी। चिकित्साकर्मियों ने हालत सुधरती देख उसे बिस्तर पर बिठा दिया।

विज्ञापन

कोई उसे यहां लाया था। बिस्तर पर रखा और छोड़ दिया। हम नहीं जानते कि उसके माता-पिता कौन हैं या उसके रिश्तेदार कहां हैं। जब उसे यहां लाया गया तो उसकी हालत गंभीर थी। अब वह खतरे से बाहर है। 

एक महिला डॉक्टर अन्य मरीजों की देखभाल करते हुए बताती हैं।

दरअसल, गुरुवार सुबह आंध्र प्रदेश के विशाखापट्टनम में एलजी पॉलिमर उद्योग से रासायनिक गैस लीक हो गई। ताजा जानकारी के मुताबिक 10 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई। हजारों लोगों की स्थिति गंभीर बनी हुई है। फिलहाल गैस के रिसाव पर काबू पा लिया गया है।

स्थानीय युवा बने संकटमोचक

विजाग गैस त्रासदी
विजाग गैस त्रासदी - फोटो : पीटीआई

नागरिक धर्म निभाते लोग

विजाग गैस त्रासदी
विजाग गैस त्रासदी - फोटो : पीटीआई

लगभग हर अस्पताल परिसर में एंबुलेंस, आंध्र प्रदेश परिवहन की बस, पुलिस की गाड़ियां जमा दिखीं। लॉकडाउन के बावजूद ऑटो वाले भी बीमारों को हॉस्पिटल पहुंचाने में जुटे रहे, ताकि किसी के प्राण पखेरु इलाज के अभाव में न उड़ जाए। 

पुलिस इंस्पेक्टर रघुवीर विष्णु ने बताया कि, 'घरों और सड़कों के किनारे बेहोश पड़े लोगों को प्राथमिक उपचार दिलवाना हमारी पहली प्राथमिकता थी। बच्चे, बुढ़े अपने परिवार से अलग हो गए, बाद में उन्हें मिलाया भी जा सकता है, लेकिन जान नहीं लौटाई जा सकती।

दुर्घटना स्थल से करीब पांच किलोमीटर दूर अप्पयानगर स्थित श्री शिरडी साईं बाबा मंदिर के लाउड स्पीकर्स पर सुबह 9 बजे के करीब घोषणा की गई, जिसमें लोगों से गैस रिसाव के मद्देनजर घर के अंदर रहने के लिए कहा गया। मुख्यमंत्री जगनमोहन रेड्डी ने मृतकों के परिवार को एक-एक करोड़ की आर्थिक मदद का एलान किया है।

इस गैस प्लांट के बारे में जानें सबकुछ

एलजी की कंपनी में गैस लीक
एलजी की कंपनी में गैस लीक - फोटो : ANI
एलजी पॉलीमर प्लांट का स्वामित्व दक्षिण कोरिया की बैटरी निर्माता कंपनी एलजी केमिकल लिमिटेड के पास है जो कंपनी की वेबसाइट के अनुसार पॉलीस्टाइरीन का उत्पादन करती है। कंपनी इलेक्ट्रिक फैन ब्लेड, कप और कटलरी और मेकअप जैसे कॉस्मेटिक उत्पादों के लिए कंटेनर बनाने का काम करती है। प्लांट अपने उत्पादों को बनाने के लिए स्टाइरीन के कच्चे माल का उपयोग करता है। स्टाइरीन अत्यधिक ज्वलनशील होता है और जलने पर एक जहरीली गैस छोड़ता है। इस कंपनी की स्थापना 1961 में पॉलीस्टाइरीन और को-पॉलिमर्स का निर्माण करने के लिए हिंदुस्तान पॉलीमर्स के तौर पर हुई थी। 1978 में इसका यूबी समूह के मैक डॉवेल एंड कंपनी लिमिटेड के साथ विलय हो गया था। 1997 में कंपनी को एलजी केमिकल ने अपने कब्जे में ले लिया और इसका नाम बदलकर एलजी पॉलिमर इंडिया प्राइवेट लिमिटिड कर दिया गया। एलजी केमिकल की दक्षिण कोरिया में स्टाइरेनिक्स के कारोबार में बहुत मजबूत उपस्थिति है। कंपनी वर्तमान में भारत में पॉलीस्टाइरीन और विस्तार योग्य पॉलीस्टाइरीन के अग्रणी निर्माताओं में से एक है।
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00