लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

विज्ञापन
Hindi News ›   India News ›   Xi Jinping appears in public first time after returning from SCO summit; Visits party exhibition

Xi Jinping Appears: जिनपिंग ने लगाया तमाम अफवाहों पर विराम, एससीओ सम्मेलन से लौटने के 10 दिन बाद आए नजर

वर्ल्ड डेस्क, अमर उजाला, बीजिंग Published by: Amit Mandal Updated Tue, 27 Sep 2022 09:59 PM IST
सार

दूसरे नंबर के नेता और प्रीमियर ली केकियांग और सीपीसी के अन्य शीर्ष अधिकारियों के साथ जिनपिंग ने प्रदर्शनी का दौरा किया। अपने भाषण में जिनपिंग ने पिछले 10 वर्षों के दौरान सीपीसी और उनके नेतृत्व में चीन की उपलब्धियों पर प्रकाश डाला।

चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग।
चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग। - फोटो : सोशल मीडिया
ख़बर सुनें

विस्तार

चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग से जुड़ी तमाम अफवाहों पर मंगलवार को विराम लग गया जब वे कम्युनिस्ट पार्टी की एक प्रदर्शनी का दौरा करते नजर आए। 16 सितंबर को एससीओ शिखर सम्मेलन से लौटने के बाद पहली बार जिनपिंग सार्वजनिक रूप से दिखाई दिए। करीब 10 दिन तक नजर नहीं आने के बाद उन्हें लेकर तमाम अफवाहें तैरनी लगी थीं। अगले महीने होने वाली सीपीसी की अहम बैठक से पहले उनकी गैर-मौजूदगी ने खूब सुर्खियां बटोरीं और इसे लेकर अफवाहों का दौर चलता रहा। सरकारी समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, शी जिनिपंग ने मंगलवार को पिछले एक दशक में चीन की कम्युनिस्ट पार्टी और देश की महान उपलब्धियों पर एक प्रदर्शनी का दौरा किया। रिपोर्ट में कहा गया है कि प्रदर्शनी में  उन्होंने चीनी विशेषताओं के साथ समाजवाद की एक नई जीत की दिशा में दृढ़ संकल्प के साथ आगे बढ़ने के लिए ठोस प्रयास करने का आह्वान किया।



शीर्ष अधिकारियों के साथ जिनपिंग ने प्रदर्शनी का दौरा किया
दूसरे नंबर के नेता और प्रीमियर ली केकियांग और सीपीसी के अन्य शीर्ष अधिकारियों के साथ जिनपिंग ने प्रदर्शनी का दौरा किया। अपने भाषण में जिनपिंग ने पिछले 10 वर्षों के दौरान सीपीसी और उनके नेतृत्व में चीन की उपलब्धियों पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि पार्टी और राज्य ने ऐतिहासिक उपलब्धियां हासिल की हैं और ऐतिहासिक बदलाव किए हैं। चीनी राष्ट्र के महान कायाकल्प को हासिल करने के लिए एक अधिक परिपूर्ण प्रणाली, एक अधिक ठोस भौतिक नींव और अधिक सक्रिय आध्यात्मिक शक्ति प्रदान की है। हमें पिछले 10 वर्षों में रणनीतिक पहल, परिवर्तनकारी प्रथाओं, सफलताओं और ऐतिहासिक उपलब्धियों को व्यापक रूप से प्रचारित करना चाहिए और पार्टी के इतिहास में पिछले दशक में नए चीन के इतिहास में महान परिवर्तनों के महत्व को प्रचारित करना चाहिए।  


एससीओ सम्मेलन से लौटने के बाद 10 दिन तक नहीं आए थे नजर 
16 सितंबर को उज्बेकिस्तान के समरकंद में शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) शिखर सम्मेलन से स्वदेश लौटने के बाद यह पहली बार आधिकारिक मीडिया ने उनकी सार्वजनिक मौजूदगी की सूचना दी। पर्यवेक्षकों का कहना है कि जिनपिंग को सार्वजनिक रूप से नहीं देखा जाना सात दिनों के अनिवार्य क्वारंटीन होने के कारण हो सकता है। जीरो कोविड नीति के तहत विदेश से लौटने वालों के लिए आधिकारिक दिशानिर्देशों के अनुसार क्वारंटीन होना जरूरी होता है और खुद जिनपिंग ने दृढ़ता से इसकी वकालत की थी। उनकी अनुपस्थिति ने सीपीसी के भीतर तनाव की अफवाहें फैला दीं, जिसकी 16 अक्टूबर को पांच साल में एक बार होने वाली बैठक होनी है। इसमें 69 वर्षीय शी को व्यापक रूप से रिकॉर्ड तीसरे कार्यकाल के लिए समर्थन मिलना तय माना जा रहा है।  

सीपीसी के भीतर तनाव की अफवाहों और अटकलों को खारिज किया 
जिनपिंग के पद पर बने रहने को लेकर सीपीसी के भीतर तनाव की अफवाहों और अटकलों को खारिज करते हुए पार्टी ने रविवार को घोषणा की कि शी द्वारा निर्धारित दिशानिर्देशों के तहत कांग्रेस के लिए लगभग 2,300 प्रतिनिधियों को निर्वाचित किया गया था। पार्टी ने एक बयान में कहा कि 16 अक्टूबर को होने वाली सीपीसी की आगामी 20वीं राष्ट्रीय कांग्रेस में भाग लेने के लिए कुल 2,296 प्रतिनिधियों को चुना गया। प्रतिनिधियों को एक नए युग के लिए चीनी विशेषताओं के साथ समाजवाद पर शी जिनपिंग के विचार के मार्गदर्शन में और पार्टी के संविधान के अनुसार सीपीसी केंद्रीय समिति द्वारा आवश्यक तरीकों को अपनाने के लिए चुना गया था।  

जिनपिंग को तीसरे कार्यकाल के लिए समर्थन मिलने की उम्मीद
कांग्रेस में जिनपिंग को एक अभूतपूर्व तीसरे कार्यकाल के लिए समर्थन मिलने की उम्मीद है। कांग्रेस शीर्ष सुरक्षा अधिकारियों के एक बड़े शुद्धिकरण के बीच आयोजित किया जा रहा है, जिसे चीनी राष्ट्रपति के विरोध वाले एक राजनीतिक गुट का हिस्सा कहा जाता है। भ्रष्टाचार के लिए इस सप्ताह तीन सुरक्षा अधिकारियों को मौत की सजा सुनाई गई थी, जो कांग्रेस शुरू होने से पहले सजा में अचानक बढ़ोतरी को लेकर सवाल उठा रहे थे। सार्वजनिक सुरक्षा के पूर्व उप मंत्री, जिन पर शी के विरोध में एक राजनीतिक गुट का नेतृत्व करने का आरोप लगाया गया था, उन्हें शुक्रवार को इंटरमीडिएट पीपुल्स कोर्ट द्वारा रिश्वत लेने, शेयर बाजार में हेरफेर करने और अवैध रूप से आग्नेयास्त्र रखने के लिए दो साल की सजा के साथ मौत की सजा सुनाई गई थी।  
 

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00