बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP
विज्ञापन
विज्ञापन
बुधवार को बन रहा है सिद्ध योग, इन 4 राशि वालों को मिलेगी बड़ी कामयाबी
Myjyotish

बुधवार को बन रहा है सिद्ध योग, इन 4 राशि वालों को मिलेगी बड़ी कामयाबी

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

जम्मू-कश्मीर: श्रीनगर में आतंकी हमला, नमाज पढ़कर घर लौट रहे पुलिस इंस्पेक्टर शहीद

जिले के बाहरी इलाके नौगाम के कनीपोरा में मंगलवार की रात आतंकी हमले में पुलिस इंस्पेक्टर परवेज अहमद डार शहीद हो गए। वह नमाज पढ़ने मस्जिद जा रहे थे। शहीद इंस्पेक्टर काउंटर इंटेलिजेंस कश्मीर में तैनात थे।

पुलिस के अनुसार हमले में दो आतंकी शामिल थे। सीसीटीवी फुटेज के आधार पर उनकी शिनाख्त कर ली गई है। दोनों पहले से घात लगाए थे। मस्जिद के पास पहुंचते ही उन्होंने पीछे से पिस्टल से गोलियां दागीं। कुछ संदिग्धों से पूछताछ भी की जा रही है। 

पुलिस ने बताया कि आतंकियों ने बागात नौगाम इलाके में इंस्पेक्टर परवेज अहमद डार पर मंगलवार की रात लगभग सवा आठ बजे हमला किया। मस्जिद में नमाज पढ़ने के लिए जाते समय आतंकियों ने उन्हें निशाना बनाकर गोलियां बरसाईं। इसमें वह गंभीर रूप से घायल होकर गिर पड़े। इसके बाद आतंकी मौके से भाग निकले। खून से लथपथ इंस्पेक्टर को तत्काल अस्पताल ले जाया गया, जहां डाक्टरों ने उन्हें मृत लाया घोषित कर दिया।


घटना के तत्काल बाद सुरक्षा बलों के आला अधिकारियों ने मौके पर पहुंचकर घटना की जानकारी हासिल की। आसपास के इलाकों को घेरकर तलाशी अभियान शुरू किया गया। परवेज 2000 बैच के पुलिस अफसर थे। परिवार में पत्नी, 13 साल की पुत्री व दस साल का बेटा रह गया है। 

आतंकी संगठन टीआरएफ  ने ली जिम्मेदारी
हमले की जिम्मेदारी द रेजिस्टेंस फ्रं ट (टीआरएफ ) ने ली है। सोशल मीडिया पर कहा कि यह टारगेट किलिंग थी। उन पुलिसकर्मियों को चेतावनी भी है जो युवाओं को प्रताड़ित करते हैं।   

पिछले सप्ताह जवान हुआ था शहीद
पिछले सप्ताह 17 जून को श्रीनगर के पुराने शहर के ईदगाह इलाके में आतंकियों ने घर लौट रहे जम्मू-कश्मीर पुलिस के एक जवान जावेद अहमद की गोली मारकर हत्या कर दी थी। जवान जज के पीएसओ के तौर पर नियुक्त था। इस घटना की जिम्मेदारी भी टीआरएफ ने ली थी।
 

... और पढ़ें
शहीद इंस्पेक्टर परवेज... शहीद इंस्पेक्टर परवेज...

श्री अमरनाथ यात्रा: बाबा बर्फानी की पवित्र गुफा पर 24 जून को होगी प्रथम पूजा, होगा लाइव प्रसारण

श्री अमरनाथ यात्रा के लिए 24 जून को ज्येष्ठ पूर्णिमा पर पवित्र गुफा में भवन पर वैदिक मंत्रोच्चारण के साथ प्रथम पूजा की जाएगी। इसमें जम्मू से भी कई सेवक कश्मीर के लिए मंगलवार को रवाना हुए। प्रथम पूजा में श्री अमरनाथ श्राइन बोर्ड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) नितीश्वर कुमार सहित बोर्ड के अन्य अधिकारी व सदस्य मौजूद रहेंगे। इस बार कोविड महामारी के कारण अमरनाथ यात्रा को रद्द किया गया है, जिससे यात्रा की पारंपरिक पूजा अर्चना व अन्य अध्यात्मिक गतिविधियां सांकेतिक तौर पर की जाएंगी। श्री अमरनाथ बूढ़ा अमरनाथ यात्रा न्याय के पवन कोहली ने बताया कि प्रथम पूजा के लिए न्यास से महासचिव सुदर्शन खजूरिया, वरिष्ठ उपप्रधान कर्ण सिंह और उपप्रधान शक्ति शर्मा मंगलवार को श्रीनगर के लिए रवाना हुए, जो बुधवार को बालटाल के लिए रवाना होंगे, यहां से वीरवार को सुबह 10.30 बजे पवित्र भवन में प्रथन पूजन का कार्यक्रम प्रस्तावित है।

... और पढ़ें

कोविड की तीसरी लहर: जम्मू संभाग में सीरो सर्वे की दरकार, अहम है संक्रमित आबादी की एंटीबॉडी की जांच

कोविड की तीसरी लहर की आशंका के बीच जम्मू संभाग के दस जिलों में सीरो सर्वे की दरकार है। कश्मीर के कई जिलों में सीरो सर्वे से आबादी में वायरस से लड़ने वाली एंटीबॉडी की क्षमता का आकलन किया जा रहा है, लेकिन जम्मू संभाग में दूसरी लहर के बाद अभी इसकी पहल नहीं की गई है। कोविड विशेषज्ञों के अनुसार सीरो सर्वे तीसरी लहर की क्षमता के लिए अहम माना जा रहा है। इसमें देखा जाता है कि आबादी में वायरस से लड़ने के लिए कितनी एंटीबॉडी विकसित हुई हैं और वे भविष्य के लिए कितने तैयार हैं। जम्मू संभाग के कई जिलों में कुल संक्रमित मामलों पर 90 से ऊपर रिकवरी दर का दावा किया जा रहा है। राजधानी जिला जम्मू की बात करें तो यहां अब तक 17 लाख से अधिक कोविड सैंपल किए जा चुके हैं, जो जिले की आबादी से अधिक हैं। इसमें रैपिड 14 लाख और आरटीपीसीआर दो लाख से अधिक सैंपल हुए हैं। लेकिन संभाग के किसी भी जिले में सीरो सर्वे की पहल नहीं की गई है। केंद्र सरकार की ओर से केंद्र शासित प्रदेशों और राज्यों को सीरो सर्वे के लिए दिशा निर्देश जारी किए गए हैं।

... और पढ़ें

जम्मू-कश्मीर: पीएए की अंतिम चयन सूची हफ्ते में हो सकती है जारी, 1889 पदों के लिए हुई थी लिखित परीक्षा

जम्मू-कश्मीर के जिला जम्मू कैडर आवंटन होने के एक महीने से अधिक समय बाद भी पंचायत अकाउंट असिस्टेंट (पीएए) के सफल उम्मीदवारों की अंतिम चयन सूची जारी नहीं हो पाई है। अंतिम चयन सूची में आरक्षण से संबंधित मामला फंसा है, जो फिल्हाल कानून विभाग के अधीन है। जम्मू-कश्मीर सेवा चयन बोर्ड (जेकेएसएसबी) और कानून विभाग के सचिव के बीच बैठकों का सिलसिला जारी है। सब कुछ ठीक रहा तो एक सप्ताह में ही अंतिम चयन सूची जारी हो सकती है।

जेकेएसएसबी ने नवंबर 2020 में पीएए के 1889 पदों के लिए लिखित परीक्षा ली थी। इसका परिणाम नवंबर में जारी हुआ था। इसके बाद दस्तावेजों की जांच और जिला कैडर का आवंटन किया गया था। बोर्ड से जुड़े सूत्रों ने कहा कि आरक्षण से संबंधित मामला वर्तमान में कानून विभाग के अधीन है और बोर्ड लगातार इसे देख रहा है। पिछले कुछ दिनों से मामले पर गंभीरता से काम हुआ है, हमें उम्मीद है जल्द इसको पूरा किया जाएगा।

यह भी पढ़ें-
कोविड की तीसरी लहर: जम्मू संभाग में सीरो सर्वे की दरकार, अहम है संक्रमित आबादी की एंटीबॉडी की जांच

बता दें, सरकार ने पीएए की भर्ती प्रक्रिया को फास्ट ट्रैक पर आयोजित करने का फैसला लिया था। हालांकि लिखित परीक्षा हुए नौ महीने से अधिक समय हो गया है और अभी तक सफल उम्मीदवारों की नियुक्ति नहीं हो पाई है। बोर्ड से जुड़े सूत्रों ने कहा कि डीडीसी चुनाव के बीच भर्ती का आयोजन किया था, जबकि सरकार का उस समय परीक्षा कराने का मन नहीं था। पीएए के साथ-साथ चतुर्थ श्रेणी की अंतिम सूची भी जल्द जारी हो जाएगी। हालांकि हमने कानून विभाग के सचिव से इस संबंध में बात करने की कोशिश की, लेकिन उन्होंने उत्तर नहीं दिया।

... और पढ़ें

जम्मू-कश्मीर: भ्रष्टाचार के मामले में आवास विकास के तीन अफसर निलंबित

Jkssb

आवास विकास विभाग के तीन अफसरों में भ्रष्टाचार के आरोप में निलंबित कर दिया गया है। इनके खिलाफ वर्ष 2015 में एंटी करप्शन ब्यूरो ने मामला दर्ज किया था। इनमें प्रभारी नगर योजनाकार एचयूडीडी हामिद अहमद वानी, श्रीनगर विकास प्राधिकरण के अधिकारी फरजाना नकाशबंदी और कार्यकारी अभियंता जम्मू-कश्मीर झील जलमार्ग विकास प्राधिकरण फिरोजी अहमद मीर शामिल हैं।

आवास-विकास विभाग (एचयूडीडी) के प्रमुख सचिव धीरज गुप्ता द्वारा जारी आदेश के अनुसार, कश्मीर एसीबी ने इन तीनों के खिलाफ वर्ष 2015 में मामला दर्ज कर जांच शुरू की थी। वानी उस समय श्रीनगर नगर निगम के संयुक्त आयुक्त (योजना), नकाशबंदी उस समय संभागीय नगर नियोजक और मीर सहायक कार्यकारी के रूप में तैनात थे।

यह भी पढ़ें-
जम्मू-कश्मीर: पीएए की अंतिम चयन सूची हफ्ते में हो सकती है जारी, 1889 पदों के लिए हुई थी लिखित परीक्षा

आदेश के अनुसार, निलंबन के दौरान वानी प्रशासनिक विभाग के साथ, नकाशबंदी उपाध्यक्ष कार्यालय और मीर उपाध्यक्ष एलएडब्ल्यूडी, श्रीनगर के कार्यालय के साथ अटैच रहेंगे।

... और पढ़ें

जम्मू-कश्मीर में कोरोना: अब सामान्य टीकाकरण के साथ होगा कोविड टीकाकरण भी

जम्मू-कश्मीर में 18 से 44 आयु वर्ग लोगों के लिए कोविड टीकाकरण अभियान में तेजी के लिए बुधवार को चिकित्सा केंद्रों पर सामान्य टीकाकरण के साथ कोविड टीकाकरण के भी निर्देश दिए हैं। इससे पहले बुधवार को सामान्य टीकाकरण नवजात (बच्चों और गर्भवती महिलाओं को लगने वाले टीके) के साथ कोविड टीकाकरण नहीं किया जा रहा था। अब कोविड टीकाकरण केंद्रों पर 50 फीसदी ऑनलाइन पंजीकृत और 50 फीसदी आन स्पॉट आने वाले लोगों को वैक्सीन देने का प्रावधान रखा गया है।

टीकाकरण महाअभियान में मंगलवार को दूसरे दिन जम्मू-कश्मीर में 37767 लोगों को टीकाकरण किया गया। मंगलवार को केंद्र से प्रदेश के लिए 78000 कोविड वैक्सीन डोज की पहुंच गई, इसमें 39000 जम्मू संभाग और बाकी कश्मीर के लिए भेजी जाएगी। अब तक जम्मू-कश्मीर में 18 से अधिक आयु वर्ग में करीब 40 लाख लोगों को टीकाकरण हो चुका है, जिसमें 34 लाख पहली डोज और छह लाख दूसरी डोज लेने वाले शामिल हैं। इसके लिए 36919 वैक्सीन का प्रदेश के बीस जिलों में इस्तेमाल किया जा चुका है।  

यह भी पढ़ें-
जम्मू-कश्मीर: पीएए की अंतिम चयन सूची हफ्ते में हो सकती है जारी, 1889 पदों के लिए हुई थी लिखित परीक्षा

राज्य टीकाकरण अधिकारी डा. शाहिद हुसैन के अनुसार टीकाकरण अभियान को गति देने के लिए सभी उचित उपाय किए जा रहे हैं। जून के आगामी दिनों में केंद्र से लाखों डोज की खेप पहुंच रही है। टीकाकरण के लिए प्रदेश में प्रतिदिन 12000 तक केंद्र स्थापित किए जा रहे हैं, जिसमें वैक्सीन की डोज बढ़ने के साथ इसका विस्तार कियाजाएगा। आनलाइन स्लॉट पर पंजीकरण का शेड्यूल व्यस्त रहने के कारण अब वैक्सीन केंद्रों पर प्रतिदिन 50 फीसदी आनस्पाट आने वाले लोगों को वैक्सीन देने का कोटा रखा गया है।

प्रदेश में 45 से ऊपर आयु वालों का 80 फीसदी टीकाकरण किया
जम्मू-कश्मीर में अब तक 45 से अधिक आयु वर्ग में 3376196 लोगों के साथ 79.71 फीसदी टीकाकरण हो चुका है। इसमें जिला सांबा, जम्मू, गांदरबल और शोपियां में 100 फीसदी टीकाकरण के लक्ष्य को पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। बांदीपोरा में भी 90 फीसदी से ऊपर टीकाकरण हो चुका है। कुपवाड़ा और श्रीनगर 55-55 फीसदी टीकाकरण के साथ सबसे पीछे चल रहे हैं। जम्मू संभाग में सबसे कम रियासी में 69.54 फीसदी लोगों का टीकाकरण हुआ है। अब तक हेल्थ केयर वर्कर, फ्रंट लाइन वर्कर और सीनियर सिटीजन वर्ग में 4036919 लोगों को वैक्सीन दी जा चुकी है।

... और पढ़ें

जम्मू-कश्मीर: श्रीनगर में आतंकी हमला, गोलीबारी में इंस्पेक्टर शहीद

जम्मू-कश्मीर: प्रदेश में मिले 428 नए कोरोना संक्रमित, 7 की मौत

जम्मू-कश्मीर में कोविड की दूसरी लहर की रफ्तार धीमी हुई है। प्रदेश में मंगलवार को दस जिलों में प्रत्येक में संक्रमण के 20 से कम नए मामले आए, इनमें छह जिले तो ऐसे हैं, जिनमें प्रत्येक में 10 से कम संक्रमित मिले हैं। प्रदेश में 24 घंटे में 428 नए संक्रमित सामने आए हैं, जबकि पिछले चौबीस घंटे में 7 लोगों की कोविड संक्रमण से मौत हो गई।

प्रदेश में वर्तमान में सक्रिय मामले 7181 हैं, जबकि रिकवरी दर 95 फीसदी से ऊपर है। जीएमसी जम्मू में 1, जीएमसी राजोरी में 1, घर पर 1, एसएमएचएस में 2, डीएच कुलगाम में 1 और स्किम्स सोरा में एक कोविड मरीज की मौत हुई है। प्रदेश के रामबन, किश्तवाड़, सांबा, कठुआ, उधमपुर और शोपिया में प्रत्येक में 10 से कम नए संक्रमित मामले मिले हैं, जबकि रियासी, गांदरबल, बांदीपोरा और अनंतनाग में प्रत्येक में 20 से कम नए मामले मिले हैं।

यह भी पढ़ें-
जम्मू-कश्मीर: गुपकार गठबंधन की बैठक, महबूबा ने कहा पाकिस्तान से हो बात समेत प्रदेश की पांच बड़ी खबरें

999 संक्रमित मरीज ठीक हुए
जम्मू। जम्मू-कश्मीर के विभिन्न अस्पतालों में संक्रमित मरीजों के ठीक होने का सिलसिला जारी है। मंगलवार को 999 संक्रमित मरीज ठीक हुए हैं, जिसमें जम्मू संभाग से 102 मरीज हैं। अब तक प्रदेश में कुल 312584 संक्रमित मामलों पर 301134 मरीज ठीक हो चुके हैं। ... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन