लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Jammu and Kashmir ›   Jammu ›   Jammu : Former minister Babu Singh wanted to make Jammu and Kashmir a separate country by joining Hizbul

Jammu kashmir : हिजबुल से मिलकर जम्मू-कश्मीर को अलग मुल्क बनाना चाहता था पूर्व मंत्री बाबू सिंह, एसआईए का आरोप

अमर उजाला नेटवर्क, जम्मू Published by: दुष्यंत शर्मा Updated Sun, 25 Sep 2022 04:52 AM IST
सार

Jammu kashmir : पूर्व मंत्री बाबू सिंह हिजबुल मुजाहिदीन आतंकियों के साथ मिलकर जम्मू-कश्मीर, पीओके और बाल्टिस्तान को मिलाकर अलग मुल्क बनाना चाहता था। नेचर मैनकाइंड फ्रेंडली ग्लोबल पार्टी बनाकर बाबू सिंह इसके लिए सीमा पार से पैसा जुटा रहा था।

पूर्व मंत्री बाबू सिंह
पूर्व मंत्री बाबू सिंह - फोटो : संवाद
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

पूर्व मंत्री बाबू सिंह हिजबुल मुजाहिदीन आतंकियों के साथ मिलकर जम्मू-कश्मीर, पीओके और बाल्टिस्तान को मिलाकर अलग मुल्क बनाना चाहता था। नेचर मैनकाइंड फ्रेंडली ग्लोबल पार्टी बनाकर बाबू सिंह इसके लिए सीमा पार से पैसा जुटा रहा था। राज्य जांच एजेंसी (एसआईए) ने यह आरोप तृतीय अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश जम्मू की अदालत में पेश चार्जशीट में लगाए हैं। 



एसआईए प्रवक्ता के अनुसार दक्षिण कश्मीर के कोकरनाग निवासी मोहम्मद शरीफ शाह को जम्मू में 6.90 लाख रुपये की हवाला राशि के साथ पकड़ा गया था। इस गिरफ्तारी के बाद बाबू सिंह फरार हो गया, जिसे नौ अप्रैल को पकड़ लिया गया। शाह को बाबू सिंह ने श्रीनगर से हवाला का पैसा लाने को कहा था। इस पैसे से देश विरोधी गतिविधियां चलाई जानी थीं। बाबू सिंह भद्रवाह निवासी और पाकिस्तान से ऑपरेट कर रहे हिजबुल मुजाहिदीन आतंकी मोहम्मद हुसैन खतीब के संपर्क में था। 


बताय गया कि पैसा जुटाने के लिए बाबू सिंह ने दुबई का दौरा भी किया। हिजबुल के अलावा बाबू सिंह का नेटवर्क जम्मू-कश्मीर लिबरेशन फ्रंट से भी जुड़ा रहा। ग्लोबल पार्टी जम्मू-कश्मीर, पीओके और बाल्टिस्तान को मिलाकर आजाद मुल्क बनाना चाहती थी, जिसे पाकिस्तान से फंडिंग हो रही थी। एसआईए के अनुसार ग्लोबल पार्टी जम्मू-कश्मीर की मुद्रा, विदेश मामले और वित्त पर भारत और पाकिस्तान का संयुक्त नियंत्रण चाहती है। इस मकसद को पूरा करने के लिए शाह को पार्टी का सचिव बनाया गया और खतीब के जरिए हवाला का पैसा कश्मीर पहुंचाकर फिर बाबू सिंह तक पहुंचाने का चैनल तैयार किया गया।

मकबूल भट्ट की तुलना भगत सिंह से करता था
एसआईए के अनुसार बाबू सिंह दुश्मनों से ऑनलाइन मीटिंग और इंटरव्यू में मकबूल भट्ट की तुलना भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु से करता था। उसने मकबूल भट्ट को जम्मू-कश्मीर की आजादी का सेनानी और शहीद बताया। एक इंटरव्यू में बाबू सिंह ने भारत सरकार को अनुच्छेद 370 हटाए जाने पर जम्मू-कश्मीर को तोड़ने की चेतावनी दे दी।

हिजबुल से संबंधों के पुख्ता सुबूत
एसआईए ने चार्जशीट में कहा है कि बाबू सिंह के हिजबुल मुजाहिदीन के साथ संबंधों के पुख्ता सुबूत हैं। सिंह के मोबाइल फोन समेत अन्य इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों से स्पष्ट होता है कि उसके मंसूबे देश की एकता, अखंडता और संप्रभुता को चुनौती दे रहे थे।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00