लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Jammu and Kashmir ›   Jammu ›   Mehbooba Mufti, PDP on civilian movement restricted on Jammu-Srinagar National Highway 2 days a week

सेना के मूवमेंट के चलते श्रीनगर हाईवे बंद होने पर बोलीं महबूबा, इस फैसले के खिलाफ जाएंगे कोर्ट

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, जम्मू Published by: sapna singla Updated Sun, 07 Apr 2019 04:08 PM IST
महबूबा मुफ्ती
महबूबा मुफ्ती - फोटो : फाइल, अमर उजाला
विज्ञापन
ख़बर सुनें
जम्मू-कश्मीर में पुलवामा के बाद बनिहाल में सुरक्षाबलों के काफिले को निशाना बनाने की कोशिश पर केंद्र सरकार ने अहम निर्णय लिया है। इसके तहत जम्मू-श्रीनगर हाईवे पर सप्ताह में दो दिन सुरक्षाबलों का काफिला गुजरने के वक्त आम वाहनों की आवाजाही बंद रहेगी। यह आदेश रविवार से उधमपुर जिले में भी लागू हो गया है। काफिला गुजरने के समय हाईवे पर धारा 144 रहेगी।

 

इसको लेकर कई राजनीतिक पार्टियां विरोध पर उतर आई हैं। रविवार को हाईवे बंद होने पर महबूबा मुफ्ती ने कहा कि "यह गलत है। हम सरकार को बताना चाहेंगे कि आप इस तरह से कश्मीरियों का दमन नहीं कर सकते। यह हमारा राज्य है, ये हमारी सड़कें हैं, जब भी हम चाहें, हमें उनका उपयोग करने का अधिकार है। आपने देखा कि छात्रों को इसके कारण बहुत समस्या का सामना करना पड़ रहा है। मैं लोगों से प्रतिबंध को स्वीकार नहीं करने की आग्रह करती हूं। इसकी अवहेलना करें, जहां चाहें जाएं। हम इस प्रतिबंध के खिलाफ अदालत का दरवाजा खटखटाएंगे।" 
  
जिला विकास आयुक्त उधमपुर पीयुष सिंगला व एएसपी राजीव पांडे ने संयुक्त प्रेस वार्ता में कहा कि प्रतिबंध सप्ताह में केवल दो दिन रविवार और बुधवार को रहेगा। इन दो दिनों के दौरान नेशनल हाईवे पर आम वाहनों को सुबह चार बजे से शाम पांच बजे तक पूरी तरह से बंद कर रखा जाएगा। अभी इस फैसले को अस्थायी तौर पर दो महीनों के लिए लागू किया गया है। 



उन्होंने कहा कि इस दौरान लोगों को असुविधा हो सकती है। लेकिन सुरक्षा के मद्देनजर इस फैसले को सख्ती से लागू करने के लिए जिला प्रशासन पूरी तरह से वचनबद्ध है। उन्होंने कहा कि इस दौरान अगर किसी नागरिक को इमरजेंसी में आवाजाही की जरूरत पड़ती है, तो ऐसे आपातकालीन केसों के निपटारे के लिए जिला विकास उपायुक्त व एसडीएम चिनैनी को नियुक्त किया गया है, जो पुलिस प्रशासन के सहयोग से आपातकालीन स्थितियों को देखते हुए इस पर अंतरिम फैसला लेकर इजाजत दे सकते हैं। फैसले को लागू करने में जनता से सहयोग देने की अपील करते हुए कहा कि किसी भी शिकायत के लिए पीसीआर नंबर पर संपर्क कर सकते हैं।  

 

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00