हलचल

681 Poems

                                                                           लोग मौका और दस्तूर के हिसाब से कवियों की कविताएं अपने सोशल मीडिया पर साझा करते रहते हैं। कभी वे ग़ालिब को कोट करते हैं तो कभी दिनकर को। नेता और अभिनेता सभी इस क्रम में सक्रिय रहते हैं। लेकिन ग़लती वहां होती है जब कविता का श्रेय किसी और कवि को दे दिया...और पढ़ें
                                                
18 hours ago
                                                                           महानायक अमिताभ बच्चन अक्सर अपने बाबूजी और महाकवि हरिवंशराय बच्चन की कविताएं सोशल मीडिया पर साझा करते रहते हैं। लेकिन इस बार जो कविता उन्होंने पोस्ट की वह गीतकार प्रसून जोशी की थी जिसे उन्होंने बाबूजी की समझ कर साझा कर दिया। हालांकि बाद में इसे हटाकर...और पढ़ें
                                                
1 day ago
                                                                           प्रसिद्ध हास्य कवि पद्मश्री काका हाथरसी के पुत्र डॉ लक्ष्मी नारायण गर्ग का निधन हो गया l वह कई दिन से बीमार थे l डॉ गर्ग ने संगीत साहित्य से संबंधित काफ़ी पुस्तकें लिखी और उन्हें कई सम्मान भी मिले l फिल्म जमुना किनारे के वह निर्माता-निर्देशक भी थे l...और पढ़ें
                                                
2 weeks ago
                                                                           सुप्रसिद्ध गीत-गजलकार डॉ. कुंवर बेचैन नही रहे। वे हिंदी साहित्य में सार्थक और सुंदर पद्म के लिए जाने जाते रहे। कोमल शब्दों का अदभुत चयन उनकी एक और विशेषता थी। वे अपने समय में समरस रहे। जरूरत पड़ने पर विलग होने का भाव भी दिखता था। उनकी दो पंक्तियां दे...और पढ़ें
                                                
2 weeks ago
                                                                           साहित्य का एक और सूरज कोरोना के चलते अस्त हो गया। गुरुवार को कुंवर बेचैन का निधन हो गया, वह लंबे समय से संक्रमण से लड़ रहे थे। हिंदी ग़ज़ल और गीत के महत्वपूर्ण हस्ताक्षर कुंवर बेचैन का जन्म उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद जिले के उमरी गांव में हुआ था। मुरा...और पढ़ें
                                                
2 weeks ago
                                                                           मशहूर साहित्यकार पद्मश्री से सम्मानित मंज़ूर एहतेशाम नहीं रहे। कल रात भोपाल में ली आख़िरी साँस। उनके मित्र दिनेश जुगरान ने दी जानकारी। वे 73 साल के थे। सूखा बरगद, कुछ दिन और जैसे चर्चित उपन्यास लिखे।

उनका जन्म 3 अप्रैल, 1948 को भोपाल म...और पढ़ें
3 weeks ago
                                                                           ज्ञानपीठ और पद्मभूषण सहित अन्य महत्वपूर्ण पुरस्कारों से सम्मानित मशहूर बांग्ला कवि शंख घोष का निधन हो गया। वे 89 वर्ष के थे। पिछले कुछ दिनों से कोरोना से जूझ रहे थे। 

 शंख घोष कुछ दिन पहले कोविड-19 पॉजिटिव हुए थे, डाॅ ने एकांतवास में र...और पढ़ें
3 weeks ago
                                                                           कब तक बोझ संभाला जाए,
युद्ध कहाँ तक टाला जाए, 
तू भी राणा का वंशज है,
फेंक जहां तक भाला जाए। 

उपरोक्त पंक्तियां लिखने वाले कौमी एकता के अलंबरदार मशहूर कवि वाहिद अली वाहिद का मंगलवार को निधन हो गया। वह 59 साल के थे।...और पढ़ें
3 weeks ago
                                                                           प्रख्यात साहित्यकार डॉ नरेंद्र कोहली का निधन हो गया। पिछले कुछ दिनों से वे बीमार थे।  गंभीर रूप से कोरोना से पीड़ित थे। उन्होंने आज शाम 6 बजकर 40 मिनट पर अंतिम सांस ली। कोरोना से संक्रमित होने के कारण दिल्ली के सेंट स्टीफंस अस्पताल में भर्ती कराया गया...और पढ़ें
                                                
1 month ago
                                                                           साहित्य में विकलांगता विमर्श को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से आरम्भ किए गए प्रथम 'विटामिन ज़िन्दगी पुरस्कार' के विजेताओं की घोषणा कर दी गई है। विकलांगता विषय पर सर्वश्रेष्ठ कहानी का पुरस्कार बुलन्दशहर निवासी निर्देश निधि को 'जीकाजि'...और पढ़ें
                                                
1 month ago
X