विज्ञापन

भगवत रावत: दिखते रहने के लिए मनुष्य

भगवत रावत: दिखते रहने के लिए मनुष्य
                
                                                                                 
                            दिखते रहने के लिए मनुष्य
                                                                                                

हम काटते रहते हैं अपने नाख़ून
छँटवाकर बनाते-सँवारते रहते हैं बाल
दाढ़ी रोज न सही तो एक दिन छोड़कर
बनाते ही रहते हैं

जो रखते हैं लम्बे बाल और
बढ़ाये रहते हैं दाढ़ी वे भी उन्हें
काट-छाँटकर ऐसे रखते हैं जैसे वे
इसी तरह दिख सकते हैं सुथरे-साफ़
  आगे पढ़ें

1 month ago

कमेंट

कमेंट X

😊अति सुंदर 😎बहुत खूब 👌अति उत्तम भाव 👍बहुत बढ़िया.. 🤩लाजवाब 🤩बेहतरीन 🙌क्या खूब कहा 😔बहुत मार्मिक 😀वाह! वाह! क्या बात है! 🤗शानदार 👌गजब 🙏छा गये आप 👏तालियां ✌शाबाश 😍जबरदस्त
विज्ञापन
X