आज का शब्द: जलधि और जयशंकर प्रसाद की कविता... हे सागर संगम अरुण नील!

आज का शब्द- जलधि और जयशंकर प्रसाद की कविता: हे सागर संगम अरुण नील !
                
                                                             
                            'जलधि' का अर्थ होता है- समुद्र। अमर उजाला 'हिंदी हैं हम' शब्द श्रृंखला में आज का शब्द है- जलधि। प्रस्तुत है जयशंकर प्रसाद की कविता: हे सागर संगम अरुण नील !
                                                                     
                            

हे सागर संगम अरुण नील !
          अतलांत महा गम्भीर जलधि –
          तज कर अपनी यह नियत अवधि,
लहरों के भीषण हासों में ,
आकर खारे उच्छवासों में
          युग-युग की मधुर कामना के –
          बंधन को देता जहाँ ढील 
          हे सागर संगम अरुण नील ! आगे पढ़ें

4 weeks ago
Comments
X