विज्ञापन

Adab Shayari: इश्क़ अदब है तो अपने आप आए

उर्दू अदब
                
                                                                                 
                            अदब लाख था फिर भी उन की तरफ़
                                                                                                

नज़र मेरी अक्सर रही देखती
- अज्ञात

अब इस से पहले कि रुस्वाई अपने घर आती
तुम्हारे शहर से हम बा-अदब निकल आए
- मुईद रशीदी

  आगे पढ़ें

2 months ago

कमेंट

कमेंट X

😊अति सुंदर 😎बहुत खूब 👌अति उत्तम भाव 👍बहुत बढ़िया.. 🤩लाजवाब 🤩बेहतरीन 🙌क्या खूब कहा 😔बहुत मार्मिक 😀वाह! वाह! क्या बात है! 🤗शानदार 👌गजब 🙏छा गये आप 👏तालियां ✌शाबाश 😍जबरदस्त
विज्ञापन
X