विज्ञापन

ऑस्कर वाइल्ड - 'अन्ततः आदमी उसे मार ही डालता है जिसे वह प्यार करता है...'

Oscar Wilde poetry in hindi
                
                                                                                 
                            
अन्ततः आदमी उसे मार ही डालता है जिसे वह प्यार करता है

कुछ तीख़ी निगाह से मार देते हैं
कुछ चापलूसी के शब्दों से
कायर इस काम को चुम्बन लेकर करते हैं
और बहादुर आदमी तलवार से

कुछ अपनी जवानी में ही अपने प्यार की हत्या कर देते हैं
और कुछ लोग अपने बुढ़ापे तक आते-आते
कुछ अपनी हवस के हाथों गला घोंट देते हैं
कुछ अपनी सम्पन्नता के हाथों से
सबसे दयालु लोग चाकू का इस्तेमाल करते हैं
क्योंकि इससे आदमी जल्दी ही मर जाता है

कुछ लोग थोड़ी देर तक प्यार करते हैं, कुछ ज़्यादा अर्से तक
कुछ बेच देते हैं, और दूसरे ख़रीद लेते हैं
कुछ लोग आँसू बहाकर यह काम करते हैं
और कुछ बिना एक भी आह भरे
आख़िर हर आदमी उसे मार देता है जिसे प्यार करता है
हालॉंकि हर आदमी इससे मर नहीं जाता है।



मूल अँग्रेज़ी से अनुवाद — कुमार अम्बुज
साभार- कविताकोश
3 years ago

कमेंट

कमेंट X

😊अति सुंदर 😎बहुत खूब 👌अति उत्तम भाव 👍बहुत बढ़िया.. 🤩लाजवाब 🤩बेहतरीन 🙌क्या खूब कहा 😔बहुत मार्मिक 😀वाह! वाह! क्या बात है! 🤗शानदार 👌गजब 🙏छा गये आप 👏तालियां ✌शाबाश 😍जबरदस्त
विज्ञापन
X