स्विट्जरलैंड की प्रसिद्ध कवयित्री 'लुइजा फामोस' की विष्णु खरे द्वारा अनुवादित कविताएं

Translated poems by vishnu khare
                
                                                             
                            

लुइजा फामोस (1930-1974) स्विट्जरलैंड की प्रसिद्ध कवयित्री हैं और वह कई टी.वी. कार्यक्रमों की प्रस्तोता भी थीं। उनकी निम्न कविताओं का अनुवाद विष्णु खरे ने किया है।

अपने बारे में मैं कुछ नहीं जानती

अपने बारे में मैं कुछ नहीं जानती
सिवा उसके जो हवा मुझको फुसफुसाती है
शाम को जब सब-कुछ चुप हो जाता है

जो बादल
मुझे बतलाते हैं
जब वे आकाश से गुजरते हैं

और आज
मैं यह भी समझी
कि चिड़ियों ने
मेरे लिए क्या लिखा
जब वे अपने फेरे लगा रही थीं
मेरे दिन के नीलेपन में।

आगे पढ़ें

प्रेम रात्रि

1 year ago

कमेंट

कमेंट X

😊अति सुंदर 😎बहुत खूब 👌अति उत्तम भाव 👍बहुत बढ़िया.. 🤩लाजवाब 🤩बेहतरीन 🙌क्या खूब कहा 😔बहुत मार्मिक 😀वाह! वाह! क्या बात है! 🤗शानदार 👌गजब 🙏छा गये आप 👏तालियां ✌शाबाश 😍जबरदस्त
X