बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

माचिस की तीलियों से बारूद इकट्ठा कर रहे आतंकी: लखनऊ से गिरफ्तार आतंकी कुकर बम में करते इस्तेमाल, एटीएस ने कोर्ट को बताया

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, लखनऊ Published by: Vikas Kumar Updated Thu, 29 Jul 2021 12:59 PM IST

सार

अदालत को दी गई जानकारी के मुताबिक एटीएस ने मुशीरुद्यीन के घर से सात लीटर का एक कुकर बरामद किया था जिसमें हाई पावर बैटरी लगी हुई थी। इसके अलावा स्वनिर्मित डेटोनेटर भी बरामद किया गया था। मिनहाज के पास से दो कुकर बरामद हुए थे। जिसमें से एक बम के रूप में तैयार किया जा चुका था। 
विज्ञापन
लखनऊ में पकड़े गए आतंकी के घर से सबूत ले जाती एटीएस की टीम
लखनऊ में पकड़े गए आतंकी के घर से सबूत ले जाती एटीएस की टीम - फोटो : amar ujala
ख़बर सुनें

विस्तार

पिछले दिनों लखनऊ से गिरफ्तार किए गए अलकायदा के आतंकी प्रेशर कुकर बम बनाने के लिए माचिस की तीलियों से बारूद इकट्ठा कर रहे थे। मिनहाज ने एक कुकर बम तैयार भी कर लिया था। अदालत को दी गई जानकारी में एटीएस ने बताया है कि मिनहाज और मुशीरुद्यीन के पास से ढाई सौ से अधिक की संख्या में माचिस की डिब्बियां, एक बोरे में माचिस की केवल तीलियां और खाली डिब्बियां, लोहे की कीलें, छर्रे, पेचकस, शोल्डर, काला और सफेद पाउडर, डिटर्जेंट पाउडर और अन्य सामान बरामद किया गया है।
विज्ञापन


एटीएस ने अदालत को बताया है कि कार्रवाई के दौरान मिनहाज के पास से बरामद किए गए एक फोन को उसने पटक दिया था जिससे उसमें आग लग गई थी और सिम कार्ड जल गया था। मिनहाज के पास से तीन और मोबाइल बरामद किए गए हैं। अदालत को दी गई जानकारी के मुताबिक एटीएस ने मुशीरुद्यीन के घर से सात लीटर का एक कुकर बरामद किया था जिस हाई पावर बैटरी लगी हुई थी। इसके अलावा स्वनिर्मित डेटोनेटर भी बरामद किया गया था। मिनहाज के पास से दो कुकर बरामद हुए थे। जिसमें से एक बम के रूप में तैयार किया जा चुका था। एटीएस बरामद किए गए सामानों की न केवल जांच करा रही है बल्कि उक्त सामान उपलब्ध कराने वालों की भी तलाश कर रही है।


10 महीने पहले मूसा के संपर्क में आया था मिनहाज
एटीएस ने अदालत को बताया है कि इंस्टाग्राम पर 9-10 महीने पहले सेना द्वारा बच्चे को गोली मारने की तस्वीर पोस्ट की गई थी। इस पोस्ट पर तौहीद नाम के व्यक्ति ने कमेंट किया था कि इसका बदला लिया जाना चाहिए। तौहीद के इस कमेंट को मिनहाज ने लाइक किया था। मार्च महीने में तौहीद ने मिनहाज से संपर्क किया और बताया कि मेरे बड़े तुमसे बात करेंगे जो मेरे अमीर हैं। दो-तीन दिन बाद मूसा नाम की आईडी से टेलीग्राम एप पर सलाम का मैसेज आया। मिनहाज ने उसका जवाब दिया। मिनहाज से मूसा ने स्वीकारोक्ति मांगी। मिनहाज ने इसका वीडियो बनाकर मूसा को भेज दिया। फिर मूसा ने मिनहाज से माचिस के मसाले और बारूद जमा करने के लिए कहा। इस दौरान तौहीद और मूसा उसे लगातार वीडियो भेज रहे थे। मिनहाज ने इन वीडियो को मुशीरुद्यीन से भी साझा किया। मिनहाज ने बताया कि वह लखनऊ में अलकायदा का माड्यूल खड़ा करना चाहता था।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

किसके पास से क्या मिला था

विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us