लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Uttar Pradesh ›   Lucknow News ›   Mainpuri by-election: Political equation of Purvanchal may change, KC Tyagi and Dhananjay Singh will campaign

मैनपुरी उपचुनाव :  बदल सकता है पूर्वांचल का सियासी समीकरण, केसी त्यागी एवं धनंजय सिंह करेंगे डिंपल का प्रचार

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, लखनऊ Published by: पंकज श्रीवास्‍तव Updated Tue, 29 Nov 2022 07:27 PM IST
सार

जद यू के इस फैसले के बाद आगामी लोकसभा चुनाव में कई तरह के बदलाव देखने को मिल सकते हैं। खासतौर से पूर्वांचल में इसका असर दिखना तय है।

डिंपल यादव
डिंपल यादव - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन

विस्तार

मैनपुरी लोकसभा उपचुनाव के साथ पूर्वंाचल का सियासी समीकरण बदल सकता है। जनता दल यूनाइटेड के प्रमुख महासचिव केसी त्यागी और महासचिव पूर्व सांसद धनंजय सिंह मैनपुरी में डिंपल यादव का चुनाव प्रचार करेंगे। जद यू के इस फैसले के बाद आगामी लोकसभा चुनाव में कई तरह के बदलाव देखने को मिल सकते हैं। खासतौर से पूर्वांचल में इसका असर दिखना तय है।



जद यू की ओर से जारी पत्र में पहले दोनों पूर्व संासदों के मंगलवार को ही मैनपुरी जाने का कार्यक्रम था, लेकिन इसे स्थगित कर दिया गया है। अब बुधवार एवं वृहस्पतिवार को जद यू नेता मैनपुरी में रहेंगे। वे विभिन्न इलाके में जनसभा को संबोधित करेंगे। इसे भविष्य की रणनीति के तौर पर भी देखा जा रहा है। क्योंकि जनता दल यूनाइटेड ने भाजपा से नाता तोड़ने के बाद बिहार में राष्ट्रीय जनता दल के साथ मिलकर सरकार बनाई है। 


मुलायम और लालू प्रसाद परिवार के बीच रिश्तेदारी भी है। जनता दल यूनाइटेड और राष्ट्रीय जनता दल संगठनात्मक रूप से रायबरेली एवं पूर्वांचल के कई जिलों में सक्रिय भूमिका में है। ऐसे में जद यू केइस कदम को भविष्य में नए गठबंधन के तौर पर भी देखा जा रहा है। मालूम हो कि धनंजय सिंह पर लखनऊ पुलिस ने जनवरी 2021 में आजमगढ़ के ठेकेदार अजीत सिंह की हत्या की साजिश करने पर 25 हजार का ईनाम भी घोषित किया है।

बसपा से सांसद रहे हैं धनंजय सिंह
जौनपुर में मिनी मुलायम के नाम से पहचाने जाने वाले पारस नाथ यादव को हराकर 2009 में बसपा के टिकट पर धनंजय सिंह सांसद बने। यहां से 2014 में भाजपा केकृष्प प्रताप सिंह और 2019 में बसपा के श्याम सिंह यादव सांसद चुने गए।  विधानसभा चुनाव में मल्हनी से धनंजय मैदान में उतरे और सपा केलकी यादव से पराजित हुए। हालांकि यह भी कहा जाता है कि सपा केएक नेता से पूर्व सांसद के गहरे संबंध हैं। जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव में संख्याबल अधिक होने के बाद भी सपा उम्मीदवार को मात मिली और धनंजय सिंह अपनी पत्नी को जिला पंचायत अध्यक्ष बनाने में सफल रहे।

विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00