लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Uttar Pradesh ›   Lucknow ›   Yogi asked the ministers of state, got the work, everyone said yes, the minister of state looked satisfied

योगी की पाठशाला: ‘किस-किस को काम नहीं मिला', सीएम ने राज्यमंत्रियों से पूछा सवाल; मिला ये जवाब

अमर उजाला ब्यूरो, लखनऊ Published by: पंकज श्रीवास्‍तव Updated Thu, 29 Sep 2022 07:58 AM IST
सार

मुख्यमंत्री योगी ने राज्यमंत्रियों से कहा कि विभागीय कामकाज को लेकर अधिकारियों पर भी नजर रखें। समय-समय पर कामकाज के लिए अधिकारियों को निर्देशित क रें। यदि फिर भी कोई अधिकारी काम न करे तो उसकी रिपोर्ट मुख्यमंत्री कार्यालय को दें।

सीएम आदित्यनाथ योगी
सीएम आदित्यनाथ योगी
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

राज्यमंत्रियों की बैठक में बुधवार को सीएम योगी ने पहला सवाल किया कि ‘किस-किस को काम नहीं मिला।’ इस पर सभी राज्यमंत्रियों ने एक स्वर में जवाब दिया कि उन्हें काम मिल गया है। करीब एक घंटे तक चली बैठक में सभी राज्यमंत्री अपने कैबिनेट मंत्री और विभागीय अफसरों से संतुष्ट नजर आए। 



दरअसल जून में जलशक्ति विभाग के राज्यमंत्री दिनेश खटीक ने विभागीय अधिकारियों से असंतोष जाहिर कर और दलित की उपेक्षा का आरोप लगाते हुए राज्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था। इसके बाद लखनऊ से लेकर दिल्ली तक हलचल मच गई थी। कुछ अन्य राज्यमंत्रियों ने भी काम आवंटित न होने की शिकायत रखी थी। तब  मुख्यमंत्री ने दखल देकर न केवल स्थिति को नियंत्रित किया बल्कि सभी कैबिनेट मंत्रियों को राज्यमंत्रियों को काम आवंटित करने के निर्देश दिए थे। मुख्यमंत्री के इस दखल का असर बुधवार की बैठक में नजर आ गया। 


जिलों में जाकर विभागीय कामकाज की समीक्षा करें राज्यमंत्री
राज्यमंत्री दिनेश खटीक प्रकरण के बाद बुधवार को पहली बार मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राज्यमंत्रियों की बैठक रखी। इसमें उन्होंने कहा कि राज्यमंत्री जिस तरह जिलों में जाकर दौरा कर रहे हैं, उसे लगातार जारी रखें। इससे जनता के बीच अच्छा संदेश जा रहा है। उन्होंने कहा कि राज्यमंत्री जिलों में विभागीय कामकाज की समीक्षा करें। साथ ही निकाय चुनाव के मद्देनजर संगठनात्मक कार्यक्रम में भी शामिल हों।

मुख्यमंत्री ने राज्यमंत्रियों को अपने निजी सहायकों और सहयोगियों पर नजर रखने के निर्देश दिए। कहा कि निजी सचिव को स्पष्ट निर्देश दें कि किसी भी व्यक्ति से मोबाइल पर बात न करें। दफ्तर में कोई अनजान व्यक्ति मोबाइल लेकर प्रवेश न करे। किसी भी दूसरे मंत्री के निजी सचिव या सहयोगी से भी किसी तरह के कामकाज की बात न करें। राज्यमंत्री सोशल मीडिया का उपयोग कर अपने कामकाज का प्रचार-प्रसार करें। 

अधिकारियों पर भी नजर रखें
मुख्यमंत्री योगी ने राज्यमंत्रियों से कहा कि विभागीय कामकाज को लेकर अधिकारियों पर भी नजर रखें। समय-समय पर कामकाज के लिए अधिकारियों को निर्देशित क रें। यदि फिर भी कोई अधिकारी काम न करे तो उसकी रिपोर्ट मुख्यमंत्री कार्यालय को दें। जिलों के दौरे की रिपोर्ट भी सरकार को प्रस्तुत करें। 

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00