Hindi News ›   City & states ›   Shahabuddin, Jailed For Murder, Named Decision-Maker For Lalu Yadav's RJD

हत्या के आरोप में जेल में बंद शहाबुद्दीन को लालू ने बनाया आरजेडी का सलाहकार

टीम डिजिटल/ अमर उजाला, नई दिल्ली Updated Tue, 05 Apr 2016 03:03 PM IST
बिहार के बाहुबली नेता रह चुके हैं शहाबुद्दीन
बिहार के बाहुबली नेता रह चुके हैं शहाबुद्दीन - फोटो : Getty
विज्ञापन
ख़बर सुनें

राजद प्रमुख लालू यादव ने सीवान के पूर्व सांसद मोहम्मद शहाबुद्दीन को पार्टी का सलाहकार नियुक्त किया है। शहाबुद्दीन हत्या और अपहरण जैसे गंभीर अपराधिक मामलों में करीब एक दशक से जेल में बंद हैं।

विज्ञापन


लालू ने शहाबुद्दीन को न केवल राजद का प्रमुख सलाहकार बनाया है बल्कि उन्हें राष्ट्रीय कार्यकारिणी में भी जगह दी है। इस बारे में जब लालू यादव की पत्नी और बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी से पूछा गया तो उन्होंने भाजपा पर राजनीति करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा, 'भाजपा अपने गिरेबान में क्यों नहीं झाकती? वह हमसे सवाल पूछने से पहले अमित शाह को पार्टी से बाहर क्यों नहीं करती?' 


गौरतलब है कि हाल ही में बिहार सरकार में अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री अब्दुल गफूर और रघुनाथपुर से आरजेडी विधायक हरिशंकर यादव ने शहाबुद्दीन से जेल में मुलाकात की थी। सोशल मीडिया पर उनके मुलाकात की तस्वीरें सामने आने के बाद विपक्षी पार्टियों ने राजद पर अपराधियों की मदद करने के गंभीर आरोप भी लगाए थे। हालांकि, मुलाकात करने वाले मंत्री ने इसे महज एक औपचारिक मुलाकात बताया था।

शहाबुद्दीन को लेकर राबड़ी देवी ने क्या कहा सुनिए-

कौन है शहाबुद्दीन?

लालू यादव के करीबी हैं शहाबुद्दीन
लालू यादव के करीबी हैं शहाबुद्दीन - फोटो : Getty
शहाबुद्दीन बिहार के सीवान लोकसभा सीट से चार बार सांसद रह चुके हैं। उनकी गिनती बिहार के बाहुबली नेताओं में होती है जिसका कभी खुद का साम्राज्य हुआ करता था। शहाबुद्दीन लालू यादव के काफी करीब थे। लेकिन जिस दिन बिहार में लालू की सरकार गई उसी दिन से शहाबुद्दीन के भी बुरे दिन शुरू हो गए।

बिहार में 2005 में हुए विधानसभा चुनावों में नीतीश कुमार ने करीब 15 साल पुरानी लालू यादव की सरकार को पटखनी दे दी। नीतीश के मुख्यमंत्री बनते ही उन्होंने सबसे पहले अपराधियों पर नकेल कसनी शुरू कर दी। कई अपराधियों का साम्राज्य खत्म हो गया, उसमें बाहुबली नेता शहाबुद्दीन का भी नाम शामिल था।

शहाबुद्दीन को हत्या, अपहरण और अवैध वसूली के आरोपों में अदालत के सामने पेश किया गया। अपराधिक की गंभीरता को देखते हुए अदालत ने उन्हें आजीवन कारावास की सजा सुनाई जिसके बाद वह करीब एक दशक से जेल में ही बंद हैं।
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00