लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   News Archives ›   India News Archives ›   mala sinha boycotts dadasaheb phalke academy award

माला सिन्हा ने दादासाहेब फाल्के अवॉर्ड ठुकराया

मुंबई/एजेंसी Updated Wed, 01 May 2013 08:41 PM IST
mala sinha boycotts dadasaheb phalke academy award
विज्ञापन
ख़बर सुनें

बीते जमाने की अभिनेत्री माला सिन्हा ने दादासाहेब फाल्के अकेडमी अवॉर्ड लेने से इंकार कर दिया है।



अवार्ड कमेटी द्वारा उनका उचित ढंग से सम्मान नहीं किए जाने के चलते उन्होंने ऐसा किया।

उन्हें मंगलवार को अवॉर्ड दिया जाना था, लेकिन उन्हें इस बारे में कोई जानकारी नहीं दी गई और न ही निमंत्रण पत्र पर इसकी जानकारी दी गई।

माला सिन्हा ने कहा, ‘मुझे बताया गया कि मुझे फाल्के अकेडमी अवॉर्ड मिलना है, लेकिन हैरानी की बात यह है कि मेरा नाम वहां पर नहीं था। मुझे कौन सा अवॉर्ड मिलना है, इसकी भी कोई जानकारी नहीं है।

मैंने किसी अवॉर्ड की मांग नहीं की थी, उन्होंने ही इसके लिए मुझे चुना था। मुझे यही नहीं पता कि मुझे कौन सा अवॉर्ड मिलना है, यह तो बेहद अपमानजनक है। मुझे बहुत बुरा लगा है।’


बॉलीवुड की इस अभिनेत्री ने 50 और 60 के दशक में बहुत सी हिट फिल्मों में काम किया था।

उनके द्वारा की गई 100 से ज्यादा फिल्मों में प्यासा (1957), धूल का फूल (1959), दिल तेरा दीवाना (1962), गुमराह (1963) और हिमालय की गोद में(1965) काफी पसंद की गई थीं।

खास बात यह है कि माला सिन्हा 25 अप्रैल को पुरस्कारों की घोषणा के वक्त की गई प्रेस कांफ्रेंस भी मौजूद थीं।

खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00