केजे सिंह और उनकी मां का कत्ल क्यों हुआ और किसने किया, 16 अहम बातें

ब्यूरो/अमर उजाला, मोहाली Updated Mon, 25 Sep 2017 09:04 AM IST
वरिष्ठ पत्रकार केजे सिंह और उनकी मां का कत्ल
1 of 17
विज्ञापन
घर में घुसकर वरिष्ठ पत्रकार केजे​ सिंह और उनकी मां की हत्या कर दी गई। आखिर क्यों और किसने किया, अब तक की पुलिस जांच में सामने आई 16 अहम बातें देखिए।
वरिष्ठ पत्रकार केजे सिंह और उनकी मां का कत्ल
2 of 17
पुलिस को वारदात में किसी भेदी का हाथ होने का शक
पुलिस के मुताबिक अभी तक जांच में सामने आ रहा है कि वरिष्ठ पत्रकार केजे सिंह और उनकी मां की हत्या के पीछे किसी भेदी का हाथ है। केजे सिंह का घर फेज-3बी2 की मार्केट के ठीक पीछे जैम स्कूल के पास कोने वाला था, लेकिन अनजान लोगों के लिए केजे सिंह दरवाजा नहीं खोलते थे। घर का एक पर्दा मुड़ा हुआ था तो उन्होंने पहले देखा होगा कि कौन है, फिर दरवाजा खोला। ऐसे में हत्यारा कोई जानकार ही है।
विज्ञापन
विज्ञापन
वरिष्ठ पत्रकार केजे सिंह और उनकी मां का कत्ल
3 of 17
फोर्ड आइकॉन कार और एलईडी साथ ले गए हत्यारे
पंजाब के वरिष्ठ पत्रकार केजे सिंह(69) की गला रेत कर हत्या कर दी गई। वहीं उनकी मां गुरचरण कौर (92) को गला घोंट कर मारा गया। दोनों के शव मोहाली फेज-3बी2 स्थित मकान नंबर 1796 में अलग अलग कमरों में मिले। केजे सिंह के पेट व गले पर चाकुओं से हमला किया गया। हत्यारे केजे सिंह की 20 साल पुरानी हरे रंग की फोर्ड आइकॉन कार और एलईडी भी ले गए हैं। केजे सिंह चंडीगढ़ में ‘इंडियन एक्सप्रेस’, ‘दा ट्रिब्यून’ और ‘टाइम्स ऑफ इंडिया’ में काम कर चुके थे।
वरिष्ठ पत्रकार केजे सिंह और उनकी मां का कत्ल
4 of 17
सरकार ने जांच के लिए एसआईटी गठित कर दी
उधर, पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के निर्देश पर पंजाब पुलिस ने जांच के लिए एसआईटी गठित कर दी है। एसएसपी कुलदीप सिंह चहल ने कहा कि पुलिस की टीमें लूट समेत विभिन्न एंगलों पर काम कर रही हैं। अभी किसी निष्कर्ष पर पहुंचना जल्दबाजी होगी। वैसे पुलिस को शक है कि किसी अज्ञात मकसद के लिए उनका कत्ल किया गया है।
विज्ञापन
विज्ञापन
वरिष्ठ पत्रकार केजे सिंह और उनकी मां का कत्ल
5 of 17
बहन यशपाल कौर खाना लेकर आई तो हुआ खुलासा
जानकारी के मुताबिक केजे सिंह अविवाहित थे और मां के साथ रहते थे। शहर में रहने वाले रिश्तेदार ही उन्हें दोपहर का खाना देने आते थे। शनिवार को सेक्टर-71 में रहने वाली बहन यशपाल कौर व भांजा अजय पाल खाना लेकर आए। करीब एक बजे जब वह पहुंचे तो केजे सिंह की कार वहां नहीं थी। घर का दरवाजा बाहर से बंद था। दरवाजे पर उन्हें खून दिखा तो होश उड़ गए। अंदर गए तो एक कमरे में गुरचरन कौर का शव था। जबकि अंदर वाले कमरे में केजे सिंह की खून से सनी लाश पड़ी थी।
अगली फोटो गैलरी देखें
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00