सहवाग बोले- धोनी के महान बनने के पीछे फैब फोर के एक खिलाड़ी का त्याग 

amarujala.com- Presented by: नवीन चौहान Updated Sun, 08 Oct 2017 04:21 PM IST
सचिन तेंदुलकर और सौरव गांगुली
1 of 5
विज्ञापन
महेंद्र सिंह धोनी की गिनती आज दुनिया के सबसे महान कप्तान और विकेटकीपर बल्लेबाज के रूप में होती है। 13 साल लंबे क्रिकेटिंग करियर में धोनी ने बतौर खिलाड़ी और कप्तान कई नए कीर्तिमान खड़े किए हैं। ऐसे में धोनी के महान खिलाड़ी बनने के पीछे की एक कहानी नजफगढ़ के नवाब वीरेंद्र सहवाग ने साझा की है। 

सहवाग बोले- धोनी के महान बनने के पीछे फैब फोर के एक खिलाड़ी का त्याग 

एमएस धोनी
2 of 5
सहवाग ने बताया कि साल 2004 में धोनी ने सौरव गांगुली की कप्तानी में डेब्यू किया था। तब धोनी निचले क्रम पर बल्लेबाजी करते थे लेकिन सौरव ने अपने बल्लेबाजी क्रम को छोड़कर धोनी को तीन नंबर पर बल्लेबाजी करने का मौका दिया जहां धोनी ने जयपुर में श्रीलंका के खिलाफ 183 और विशाखापट्टनम में पाकिस्तान के खिलाफ 148 रन की पारी खेली थी। इस क्रम पर बल्लेबाजी करते हुए धोनी ने दुनियाभर में नाम कमाया। सहवाह ने इस बात का खुलासा क्रिकेट की बात कार्यक्रम में किया। सहवाग ने कहा यदि सौरव ये त्याग नहीं करते तो धोनी महान क्रिकेटर नहीं बन पाते। इसके बाद सहवाग ने कहा धोनी एक फिनिशर के रूप में द्रविड़ की कप्तानी के दौरान उभरे। 
 
विज्ञापन

सहवाग बोले- धोनी के महान बनने के पीछे फैब फोर के एक खिलाड़ी का त्याग 

महेंद्र सिंह धोनी
3 of 5
सहवाग ने बताया, उस वक्त हम बल्लेबाजी क्रम में बहुत से प्रयोग कर रहे थे। हमने निर्णय़ लिया था कि यदि हमें अच्छी ओपनिंग पार्टनरशिप मिलेगी तो सौरव नंबर तीन पर बल्लेबाजी करेंगे। लेकिन हमें अच्छी शुरुआत नहीं मिली तो हमने इरफान पठान और एमएस धोनी जैसे पिंच हिटर्स को ऊपर भेजने का निर्णय लिया जिससे की रन गति में तेजी लाई जा सके।

सहवाग बोले- धोनी के महान बनने के पीछे फैब फोर के एक खिलाड़ी का त्याग 

ms dhoni
4 of 5
ऐसे में गांगुली ने धोनी को तीन-चार मैचों में नंबर तीन पर बल्लेबाजी करने का मौका दिया। सहवाग ने कहा दुनिया में बहुत कम ऐसे कप्तान होते हैं जो अपना बल्लेबाजी होते हैं अपना बैटिंग ऑर्डर दूसरे के लिए छोड़ दें। सहवाग ने कहा, सौरव ने पहले मेरे लिए ओपनिंग छोड़ी इसके बाद नंबर तीन की जगह भी उन्होंने धोनी के लिए छोड़ दी। अगर दादा ऐसा नहीं करते तो धोनी महान खिलाड़ी नहीं बन पाते। गांगुली हमेशा नए खिलाड़ियों को मौका देने की बात कहते थे। 
विज्ञापन
विज्ञापन

सहवाग बोले- धोनी के महान बनने के पीछे फैब फोर के एक खिलाड़ी का त्याग 

महेंद्र सिंह धोनी
5 of 5
सहवाग ने आगे कहा, राहुल द्रवि़ड़ की कप्तानी में धोनी को फिनिशर की भूमिका मिली। उस दौरान धोनी कई बार खराब शॉट खेलकर पवेलियन लौटे थे। ऐसे में एक बार राहुल ने इस बारे में धोनी से बातचीत की। इस घटना के बाद धोनी ने अपने खेल का तरीका ही पूरी तरह बदल लिया और एक बेहतरीन फिनिशर बनकर उभरे। धोनी और युवराज के बीच जो साझेदारियां हुईं वो बेहद यादगार हैं
अगली फोटो गैलरी देखें
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
सबसे विश्वसनीय Hindi News वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें क्रिकेट समाचार से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। क्रिकेट जगत की अन्य खबरें जैसे क्रिकेट मैच लाइव स्कोरकार्ड, टीम और प्लेयर्स की आईसीसी रैंकिंग आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00